अब स्कूल बसों पर होगी धारा 144 की कार्यवाही!

(सोनल सूर्यवंशी)

भोपाल (साई)। स्कूल बसों में बच्चे असुरक्षित हैं, सेफ्टी का पालन नहीं हो रहा। पैरेंट्स स्कूल में फीस जमा कर देते हैं, लेकिन सुरक्षा को लेकर सजग नहीं हैं। सोमवार से स्कूल बसों पर धारा-144 के तहत कार्यवाही करें, नियमों का पालन न करने वाले स्कूल को जिला शिक्षा अधिकारी नोटिस जारी करें, बच्चों की सुरक्षा सबसे पहले है। उक्त बातें राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के सदस्य प्रियंक कानूनगो ने भोपाल में कहीं।

तो सीबीएसई भी नहीं बचा पायेगा : प्रियंका कानूनगो ने स्कूल संचालकों से कड़े लहजे में साफ कहा कि जागरुक भोपाल पोर्टल पर जानकारी अपडेट नहीं करायी, तो मान्यता खतरे में पड़ जायेगी। एक बार जिला प्रशासन ने मान्यता रद्द कर दी तो सीबीएसई भी नहीं बचा सकेगा।

इंदौर बस हादसे के बाद भोपाल में बच्चों की सुरक्षा को लेकर एक दिवसीय राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग की समीक्षा बैठक का आयोजन जिला पंचायत कार्यालय में किया गया। बैठक में ट्रैफिक पुलिस, शिक्षा विभाग, जिला प्रशासन के अधिकारी व आयोग के सदस्य भी उपस्थित थे।

दौड़ रहीं 20 साल से पुरानी बसें : बैठक में मौजूद पालक संघ के प्रमोद पंड्या, कमल विश्वकर्मा ने कानूनगो के सामने कहा कि हम लोग 15 साल पुरानी खटारा बसों की शिकायत करते हैं, कई बसें तो 20 साल पुरानी सड़कों पर दौड़ रही हैं। आरटीओ और पुलिस को शिकायत करो तो कहीं सुनवायी नहीं होती। ज्यादा बोलो तो हमें बैठकों में बुलाना बंद कर देते हैं। इस पर आयोग के सदस्य ने कहा कि हम बच्चों की सुरक्षा को लेकर ही यहाँ बैठे हैं। अगर समस्या की सुनवायी न हो तो हमें बतायें।

गुड टच बैड टच से भी सावधान रहें : आयोग सदस्य ने कहा स्कूल फंक्शन में नेताओं को बुलाने पर खर्चा करते हैं, कटौती कर ट्रेनिंग पर करें खर्च। स्कूल बस और वैन में बच्चों की सुरक्षा के साथ ही साथ गुड टच और बैड टच का मामला भी बैठक में उठा। इस पर कुछ स्कूल संचालकों ने कहा कि इसकी ट्रेनिंग के लिये फंड की व्यवस्था कहाँ से करें। आयोग के अन्य सदस्य ब्रजेश चौहान बोले कि स्कूल फंक्शन में नेताओं को बुलाने में रूपये तो खर्च करते हो न, उसमें कटौती कर बच्चों को गुड टच और बैड टच की जानकारी दी जाये।



1 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *