आरएसी टिकिट है तो मत लीजिये टेंशन

आपके आराम के लिये रेलवे करने जा रही है बड़ा बदलाव

(सोनल सूर्यवंशी)

भोपाल (साई)। ट्रेन के एसी कोच में यात्रा कर रहे हैं और टिकिट आरएसी है, तो घबराने की जरूरत नहीं है। आपको ट्रेन में ठण्ड से नहीं सिकुड़ना पड़ेगा। रेलवे ने आरएसी टिकिट के साथ एक ही सीट पर यात्रा करने वाले दोनों यात्रियों को अलग – अलग बेडरोल देने का निर्णय लिया है। इसके लिये रेलवे बोर्ड ने पश्चिम मध्य रेलवे सहित सभी जोन मुख्यालयों को आदेश जारी कर नयी व्यवस्था तत्काल प्रभाव से लागू करने को कहा है।

अभी तक की व्यवस्था के हिसाब से एसी कोच के यात्री के बर्थ पर पहुँचते ही ट्रेन में अटेंडर बेडरोल उपलब्ध कराता है, लेकिन अभी यह सुविधा केवल उन्हीं यात्रियों को मिलती है, जिनकी बर्थ कंफर्म होती है। आरएसी टिकिट वाले यात्रियों को बेडरोल नहीं दिया जाता था, जिसकी वजह से ठण्ड में सफर के दौरान ऐसे यात्रियों को समस्याओं से दो-चार होना पड़ता है।

आरएसी के यात्रियों को सुविधा नहीं मिलती थी जबकि, आरएसी में एक सीट पर दो यात्रियों को सफर करना पड़ता है। जानकारों के अनुसार इस संबंध में ट्विटर और अन्य माध्यमों से यात्रियों ने रेलवे को काफी शिकायतें की हैं। एसी कोच में बेडरोल नहीं होने पर यात्री ठण्ड से परेशान होते थे। रेलवे बोर्ड ने इस असुविधा को गंभीरता से लेते हुए यह व्यवस्था की है।

मिलेगी एक बेडशीट और कंबल : हालांकि, आरएसी टिकिट पर यात्रा करने वाले यात्रियों को बेडरोल में एक-एक बेडशीट, पिलो व कंबल मिलेगा, जबकि कंफर्म टिकिट वाले यात्रियों के बेडरोल में दो बेडशीट, एक ब्लैंकेट, एक पिलो और एक तौलिया रहता है। प्रथम श्रेणी और एसी चेयरकार में यह सुविधा उपलब्ध नहीं रहेगी, क्योंकि दोनों में आरएसी टिकिट का प्रावधान नहीं है।

इस बारे में पश्चिम मध्य रेल के सीपीआरओ गुंजन गुप्ता का कहना है कि एसी कोच में कंफर्म टिकिट के यात्रियों की तरह ही आरएसी टिकिट पर यात्रा करने वाले यात्रियों को भी बेडरोल उपलब्ध कराये जायेंगे। रेलवे ने इस संबंध में आदेश जारी किये हैं। इस व्यवस्था को तत्काल लागू कर दिया गया है।



1 Views.

Related News

(शरद खरे) शायद ही कोई ऐसा दिन होता हो जब सिवनी में सड़क दुर्घटना में घायल या मरने वालों की.
स्वास्थ्य विभाग के रंगारंग बसंत पंचमी कार्यक्रम में टूटीं सारी मर्यादाएं! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। जिला चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। यूरोप के आधा दर्जन से ज्यादा देशों में पढ़ी जाने वाली स्ट्रेस टू हेप्पीनेस नामक किताब.
मामला मोहगाँव खवासा सड़क निर्माण का, शायद ही कुछ आऊट सोर्स करे दिलीप बिल्डकॉन (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मौसम में लगातार परिवर्तन जारी हैं। बुधवार से शहर में सर्दी का सितम तेज हो सकता.
40 एकड़ में बनेगा क्रिकेट का विशाल स्टेडियम बींझावाड़ा में (प्रदीप खुट्टू श्रीवास) सिवनी (साई)। सिवनी में वर्षों से क्रिकेट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *