इस तरह पकडा गैंगरेप पीडिता ने आरोपी को

(सोनल सूर्यवंशी)

भोपाल (साई)। आदतन अपराधी गोलू उर्फ बिहारी रात में जघन्य अपराध करने के बाद भी सामान्य था। बुधवार सुबह करीब 11 बजे वह नहाकर घर के पास आठ लोगों के साथ बैठकर आराम से ताश-पत्ते खेल रहा था। इस दौरान अचानक वहां ऑटो रिक्शा से एक पुरुष और दो महिलाएं उतरीं।

महिलाओं ने चेहरे पर स्कार्फ बांध रखा था। फड़ में जमे लोग कुछ समझ पाते, तभी दोनों महिलाएं सीधे गोलू के करीब पहुंची,उनमें से युवती ने कहा क्यों रे गोलू… पहचाना कहते हुए चेहरे से स्कार्फ हटा दिया। वह कुछ समझ पाता तब तक उसे गिरेबान पक ड़कर घसीटा और पिटाई करते हुए साथ ले गईं।

मानसरोवर कॉम्पलेक्स के पास स्थित झुग्गी बस्ती शांति नगर फेस-2 में हुई इस घटना से हड़कंप मच गया। कुछ देर बाद पुलिस ने इसी बस्ती में रहने वाले गोलू उर्फ बिहारी चढ़ार के साथी अमर उर्फ छोटू को भी छात्रा के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म के मामले में उठा लिया। दोनों की निशानदेही पर तीसरे आरोपी रमेश को भी गिरफ्तार कर लिया। मामले के प्रत्यक्षदर्शी रमेश कुमार ने बताया कि गोलू आदतन अपराधी होने के साथ ही गांजे के नशे का आदी है।

छह माह पहले ही जेल से छूटे हैं दोनों आरोपी  : गोलू का बचपन रेलवे स्टेशन के आसपास फुटपाथ पर गुजरा है। नाबालिग अवस्था में उसने एक पुलिसकर्मी के बेटे की हत्या कर दी थी। साथ 2014 में में वह एक महिला के वहीं लिव इन में रहने लगा था,लेकिन वह महिला के दुधमुंहे बच्चे को अपनाना नहीं चाहता था। उन दोनों ने बच्चे को पटरी पर फेंक दिया था। सूचना मिलने पर रेलवे पुलिस ने गोलू और उसकी प्रेमिका के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया था।

यह मामला विचाराधीन है। बाद में महिला को छोड़कर वह शांति नगर में आकर रहने लगा। यहां उसने एक युवती से शादी कर ली। युवती की बहन ने गोलू के दोस्त अमर के साथ शादी कर ली। अमर और गोलू दोनों पन्नाी बीनने का काम करते हैं। इसकी आड़ में वे चोरी की वारदात को भी अंजाम देते हैं।

चोरी का माल बस्ती में ही एक कबाड़ी को बेच देते हैं। अमर को हबीबगंज पुलिस ने एक रिटायर्ड आईजी के यहां चोरी करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। सूत्र बताते है कि चोरी का माल खरीदने के आरोप में पुलिस ने यहां के कबाड़ी के भाई को भी गिरफ्तार किया था। अमर छह माह पहले ही जेल से छूटा है। तीसरा आरोपी रमेश स्टेशन के पूर्वी क्षेत्र में झाड़ियों के बीच झोपड़ी बनाकर रहता था। वह भी पन्नाी बीनने की आड़ में चोरी करता रहा है।

इसी बस्ती में 14 साल की बच्ची की रेप बाद कर दी गई थी हत्या  : इसी शांति नगर में वर्ष 2011 में पुलिस कॉलोनी रहने वाली 14 वर्षीय लड़की की रेप के बाद हत्या कर दी गई थी। उसका शव पुलिस ने बुदनी के जंगल से बरामद किया था। इस मामले में लोगों ने आरोपी की दुकान में आग लगा दी थी। बाद में प्रशासन ने यहां से सभी गुमठियां हटवा दी थी। लेकिन धीरे-धीरे फिर से यहां कबाड़े की दुकानें लग गई हैं।



1 Views

Related News

  (शरद खरे) सिवनी जिले में अब तक बेलगाम अफसरशाही, बाबुओं की लालफीताशाही और चुने हुए प्रतिनिधियों की अनदेखी किस.
  मानक आधार पर नहीं बने शहर के गति अवरोधक (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय सहित जिले भर में.
  धड़ल्ले से धूम्रपान, तीन सालों में एक भी कार्यवाही नहीं (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। रूपहले पर्दे के मशहूर अदाकार.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सर्दी का मौसम आरंभ होते ही हृदय और लकवा के मरीजों की दिक्कतें बढ़ने लगती.
  दिल्ली के पहलवान कुलदीप ने जीता खिताब (फैयाज खान) छपारा (साई)। बैनगंगा के तट पर बसे छपारा नगर में.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिर पर टोपी, गले में लाल गमछा, साईकिल पर पर्यावरण के संदेश की तख्ती और.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *