कैटेलोनिया की आजादी

क्षेत्रीय संसद द्वारा अपनी आजादी पर मुहर लगाने के साथ ही कैटेलोनिया जश्न में डूबा ही था कि स्पेन की राष्ट्रीय संसद ने वहां की संसद भंग करके जश्न पर विराम लगा दिया। स्पेन की सरकार ने कैटेलोनिया के राष्ट्रपति को बर्खास्त कर नियंत्रण अपने हाथों में ले लिया और दिसंबर में वहां चुनाव कराने की घोषणा भी कर दी।

प्रधानमंत्री मैरियन राजॉय ने शांति अपील के साथ वैधानिक स्थिति जल्द बहाल करने का आश्वासन दिया है, लेकिन समझा जा सकता है कि संकट का समाधान इतना भी आसान नहीं। स्पेन में 2015 के चुनाव में कैटेलोनिया अलगाववादियों को जीत मिलने के बाद से ही शुरू हुई आजादी की यह जद्दोजहद अब उभरकर सामने आ गई है। 1975 में फ्रांको की मृत्य के बाद मिली तानाशाही से मुक्ति के बाद से यह स्पेन में सबसे बड़ा राजनीतिक संकट माना जा रहा था, जो अब बदतर हो चला है। हाल के दिनों में दोनों पक्षों की लापरवाही ने इसमें इजाफा किया, जो अब परस्पर पीछे हटने की चुनौती-चेतावनी के रूप में सामने हैं।

कैटेलोनिया के अंदर भी, राष्ट्रपति की ताजा पहल की आहट मिलते ही सहयोगियों में ही मतभेद सामने आए थे। अब चीजें जिस तरफ जा रही हैं, वह पूरे मामले को और उलझाने वाला है। कैटेलान राष्ट्रवादी आजादी को अहं का मद्दा बना चुके हैं, लेकिन मैड्रिड के लिए ऐसा होने देना आसान नहीं होगा।

ऐसे में, सवाल है कि अगर कैटेलोनिया में नए माहौल में विद्रोह जैसी स्थिति आई, तो चीजें क्या मोड़ लेंगी? कैटेलोनिया के राष्ट्रपति ने यूरोपीय जनमत से सार्वभौमिकता के सिद्धांत की रक्षा करते हुए आत्मनिर्णय का अधिकार बहाल करने की गुहार लगाई है। इससे वैधानिक रूप से उन्हें कुछ हासिल हो न हो, अपनी जनता के बीच लोकप्रियता तो वह बढ़ा ही ले जाएंगे। यूरोपीय यूनियन के अध्यक्ष जीन क्लॉड ने यह कहकर कि संघ अब और विभाजन स्वीकार करने की स्थिति में नहीं है, अपने रुख का संकेत दे दिया है। यूरोपियन कौंसिल के अध्यक्ष डोनाल्ड टस्क ने भी अपने ट्वीट से स्पेन को ही मजबूती दी है, लेकिन इस उम्मीद के साथ कि वे तर्क की शक्ति का सहारा लेंगे, न कि बल के तर्क का। (द गार्जियन, लंदन से साभार)

(साई फीचर्स)



0 Views

Related News

  (शरद खरे) सिवनी जिले में अब तक बेलगाम अफसरशाही, बाबुओं की लालफीताशाही और चुने हुए प्रतिनिधियों की अनदेखी किस.
  मानक आधार पर नहीं बने शहर के गति अवरोधक (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय सहित जिले भर में.
  धड़ल्ले से धूम्रपान, तीन सालों में एक भी कार्यवाही नहीं (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। रूपहले पर्दे के मशहूर अदाकार.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सर्दी का मौसम आरंभ होते ही हृदय और लकवा के मरीजों की दिक्कतें बढ़ने लगती.
  दिल्ली के पहलवान कुलदीप ने जीता खिताब (फैयाज खान) छपारा (साई)। बैनगंगा के तट पर बसे छपारा नगर में.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिर पर टोपी, गले में लाल गमछा, साईकिल पर पर्यावरण के संदेश की तख्ती और.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *