क्रांति एकता परिषद ने सौंपा भाजपा जिला अध्यक्ष के नाम ज्ञापन

(ब्यूरो कार्यालय)
घंसौर (साई)। आम जनता समस्याओं से परेशान है तो किसान हताश है। अपना दुःख दर्द किसे बयां करें। चुनावों में तो संगठन बड़े-बड़े वायदे कर अपने प्रत्याशी को चुनाव जिता ले जाते हैं लेकिन इसके बाद आमजनों और किसानों पर क्या बीत रही है, संगठन इस मामले से कोई सरोकार नहीं रखना चाहते हैं। चुने हुए प्रत्याशियों के साथ ही साथ संगठन की जवाबदेही भी जनता के प्रति तय होना चाहिये।
उक्ताशय की बात गत दिवस क्रांति एकता परिषद द्वारा आयोजित जन जागरूकता कार्यक्रम में परिषद प्रमुख शक्ति सिंह ने कहते हुए भाजपा जिला अध्यक्ष के नाम मीडिया के माध्यम से ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उन्होंने कहा है कि भाजपा के स्थानीय सांसद फग्गन सिंह और स्थानीय संगठन द्वारा आम जनता और किसानों की समस्याओं को लेकर की जा रही अनदेखी पर भाजपा के जिलाध्यक्ष को ध्यान देना चाहिये।
ज्ञापन में शासकीय कार्यालय और अन्य मामले में भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी का आरोप लगाया गया है। भाजपा जिलाध्यक्ष के नाम सौंपे गये ज्ञापन में बताया गया है कि अल्प वर्षा से तहसील घंसौर क्षेत्र के हजारों किसान की फसल खरीफ फसल नष्ट हो चुकी है। रवि फसलों की बोनी नहीं होने के कारण किसानों के लिये रोजी रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है।
सौंपे गये ज्ञापन में कहा गया है कि क्षतिग्रस्त फसलों का सर्वे कराते हुए शीघ्र उन्हें राहत दी जाये। स्वास्थ्य शिक्षा सहित अन्य मामलों के लिये महत्वपूर्ण घंसौर कल कलकुही मार्ग जो संभागीय मुख्यालय को जोड़ता है.. अत्यंत जर्जर है। गंभीर अवस्था में मरीजों को जबलपुर रेफर किया जाता है लेकिन जर्जर मार्ग से गुजरने में ही कई घंटे लग जाते हैं। ऐसी स्थिति में प्रतिवर्ष दर्जनों मौतें रास्ते में ही हो जाती हैं।
ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि मार्ग का नये सिरे से निर्माण किया जाये। घंसौर मंडला रोड पर डडई नाला मोड पर घाट की कटिंग सही नहीं होने के कारण सामने से आ रहे वाहन नजर नहीं आते हैं। 90 डिग्री का मोड़ होने के कारण प्रतिवर्ष दर्जनों वाहन दुर्घटनाएं यहाँ होती हैं जिस से अब तक अनंेकों मौतें हो चुकी हैं, इसे सुधारा जाना चाहिये।
इसी तरह ज्ञापन में कहा गया है कि प्रधानमंत्री की महत्वाकांक्षी आवास योजना और भारत स्वच्छ मिशन के तहत घंसौर के ग्रामीण क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर गरीब हितग्राहियों के निर्माण कार्य कराये जा रहे हैं लेकिन हितग्राहियों से खुली कमीशनखोरी के साथ ही यह गरीब हितग्राही नेतानुमा बिचौलियों दुकानदारों का शिकार हो रहे हैं।
ज्ञापन में आगे कहा गया है कि कहीं न कहीं भाजपा के संगठन से जुड़े होने का दम भर कर शासन की योजनाओं के रूप में जनता को लूटा जा रहा है। ऐसे लोगों पर तत्काल संगठन के माध्यम से कार्यवाही की जाना चाहिये। मुख्यालय घंसौर 250 ग्रामों का मुख्यालय है। स्वास्थ्य सुविधाओं के लिये आज सभी स्वास्थ्य केंद्र पर ही निर्भर हैं।
इसके साथ ही ज्ञापन में यह भी कहा गया है कि उक्त अस्पताल में चिकित्सा व्यवस्था दो दशक पुरानी है। अस्पताल को सिविल अस्पताल का दर्जा दिलाया जाना चाहिये। ज्ञापन में बताया गया है कि भाजपा संगठन के जनप्रतिनिधि और संगठन के पदाधिकारी मामलों को लेकर बिल्कुल भी गंभीर नहीं हैं।
सौंपे गये ज्ञापन के अनुसार संगठन का उद्देश्य केवल वोट लेने तक सीमित न रहे बल्कि संगठन, जनता के प्रति अपनी जवाबदेही का निर्वहन करे। इसी तरह काँग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष को लिखा गया है जिसमें स्थानीय विधायक एवं संगठन के पदाधिकारियों की कार्यप्रणाली पर इसे विरोधी दल के अनुरूप नहीं होने का आरोप लगाते हुए जिला संगठन के अध्यक्ष से पहल की माँग रखी गयी है।
इसी तरह ज्ञापन में गोंगपा के जिलाध्यक्ष को अवगत कराते हुए बताया गया है कि विधान सभा के अस्तित्व के दौरान गांेगपा का दबदबा रहा है। क्षेत्रीय पार्टी के रूप में पार्टी का दबदबा अब भी कायम है। पंचायत चुनाव में प्रत्याशी पर लोगों ने विश्वास जताते हुए पदों पर उन्हें आसीन किया, लेकिन ऐसे प्रतिनिधि उक्त समस्याओं को लेकर दायित्व से मुँह मोड़ रहे हैं।
ज्ञापन में कहा गया है कि क्या भारतीय जनता पार्टी केवल सम्मेलनों का आयोजन करने को ही जनता के प्रति अपनी जिम्मेदारी मान रही है? संगठन की आम जनता के प्रति जवाबदेही तय किये जाने की माँग, ज्ञापन में रखी गयी है। मीडिया को भी तीनों ही संगठनों द्वारा आमजनों की समस्याओं को लेकर की जा रही अनदेखी को लेकर सभी संगठनों की भूमिका को स्पष्ट करने के लिये कहा गया है। क्रांति एकता परिषद के इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में आसपास के ग्रामों के कार्यकर्ता व पदाधिकारी उपस्थित रहे।



2 Views

Related News

(शरद खरे) जिले की सड़कों का सीना रोंदकर अनगिनत ऐसी यात्री बस जिले के विभिन्न इलाकों से सवारियां भर रहीं.
मण्डी पदाधिकारी ने की थी गाली गलौच, हो गये थे कर्मचारी लामबंद (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। सिमरिया स्थित कृषि उपज.
दिन में कचरा उठाने पर है प्रतिबंध, फिर भी दिन भर उठ रहा कचरा! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। अगर आप.
सौंपा ज्ञापन और की बदहाली की ओर बढ़ रही व्यवसायिक गतिविधियों को सम्हालने की अपील (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिवनी.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। डेंगू से पीड़ित एस.आई. अनुराग पंचेश्वर की उपचार के दौरान जबलपुर में मृत्यु हो गयी है।.
(आगा खान) कान्हीवाड़ा (साई)। इस वर्ष खरीफ की फसलों में किसानों ने सोयाबीन, धान से ज्यादा मक्के की फसल बोयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *