गिर रहा भीमगढ़ बांध का जल स्तर!

मई-जून में हो सकती है पानी की किल्लत!

(फैयाज खान)

छपारा (साई)। होली के आसपास पड़ी ठण्ड के बाद मार्च माह के अंतिम सप्ताह में अचानक ही पारा आसमान को छूने लगा है। ऐसे में अप्रैल, मई, जून माह में पड़ने वाली भीषण गर्मी की सम्भावनाओं से जहां लोग चिंतित नजर आ रहे हैं वहीं भीमगढ़ बांध के जलस्तर में आ रही गिरावट भी चिंता का कारण बन रहा है।

410 मिलियन घन मीटर जल क्षमता (519.38 मीटर) वाले भीमगढ़ बांध में मात्र 507.20 मीटर पानी है। बांध का जलस्तर उतर जाने से छपारा और सिवनी में होने वाली पेयजल सप्लाई को लेकर संकट के बादल छा गये हैं।

एशिया के सबसे बड़े मिट्टी के भीमगढ़ बांध से सिवनी शहर को भीमगढ़ जलावर्द्धन योजना के माध्यम से पीने का पानी सप्लाई होता है। वहीं छपारा भी बैनगंगा नदी के पानी पर निर्भर है। छपारा में फोरलेन के नये पुल के पास जलस्तर काफी गिर गया है और भारी सिस्ट जमा हो गयी है। यहीं से सीधे पानी खींचकर छपारा वासियों को सप्लाई किया जाता है।

मार्च माह में दिन के तापमान में वृद्धि और भीषण गर्मी के कारण जहां आमजन हलाकान हैं वहीं अभी से बांध का जलस्तर तेजी से कम हो चला है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चार वर्षों में मार्च का महीना कभी इतना गर्म नहीं रहा जितना इस साल गुरूवार 30 मार्च को था। इसी दिन सिवनी में पिछले 24 घंटों का अधिकतम तापमान 41.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो पिछले वर्षों की तुलना में सामान्य से काफी ज्यादा था।

अधिकारियों ने बताया कि 19 मार्च को भीमगढ़ डेम की सभी केनाल को बंद कर दिया गया है। वर्तमान में 507.20 मीटर पानी है। पिछले साल 23 फरवरी को बंद केनाल बंद किया गया था। उस समय 506-507 मीटर पानी था। अधिकारियों ने बताया कि 27 मार्च को शून्य चेन से 49 चेन क्रमांक तक टेस्टिंग कार्य किया गया। नहर से पानी की सप्लाई की जांच के पानी छोड़ा गया था जांचोपरान्त केनाल को बंद कर दिया गया है।

आज की स्थिति में 507.20 मीटर पानी है. फिलहाल पानी पर्याप्त मात्रा है. 27 मार्च को शून्य से चेन क्रमांक 49 तक की टेस्टिंग की गयी है.

बी.एस.उईके,

सीईओ, भीमगढ़ बांध.



1 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *