गेहरूटोला में आधी रात लगे अश्लील ठुमके!

जिले में ग्राम पंचायतों के कार्यक्रमों में बढ़ रही अश्लीलता!

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। जिले में ग्राम पंचायतों के घोषित – अघोषित कार्यक्रमों में अश्लीलता पसरती दिख रही है। कान्हीवाड़ा के अंतर्गत छुई में हुए अश्लील डान्स के बाद अब गेहरूटोला (झील पिपरिया) में आधी रात नर्तकियों के द्वारा अश्लील डान्स प्रस्तुत किया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गहरूटोला में मढ़ई का आयोजन रविवार को किया गया था। इस कार्यक्रम के लिये बकायदा पोस्टर्स भी छपवाये गये थे। पोस्टर्स के अनुसार इस कार्यक्रम में सिवनी के निर्दलीय विधायक दिनेश राय बतौर मुख्य अतिथि के अलावा जनपद पंचायत अध्यक्ष प्रतीक्षा राजपूत, उपाध्यक्ष रामजी चंद्रवंशी आदि के नामों का उल्लेख किया गया है।

इस पोस्टर के अनुसार अहीरी नृत्य का आयोजन रविवार को दोपहर दो बजे से किया गया था। इसमें 1551 रूपये बतौर प्रथम पुरूस्कार, 1051 रूपये द्वितीय, 551 रूपये तृतीय एवं 251 रूपये चतुर्थ पुरूस्कार की घोषणा भी की गयी थी। चौथे स्थान के उपरांत सांत्वना पुरूस्कारों की घोषणा भी की गयी थी।

बताया जाता है कि मढ़ई में अहीरी नृत्य के उपरांत रात ढलते ही रंगारंग नृत्य के कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस दौरान किये गये नृत्य के कार्यक्रम में बाहर से आयीं बालाओं के द्वारा देर रात मंच से ठुमके लगाये गये। लोगों के द्वारा इस तरह के अश्लील डान्स को लेकर तरह – तरह की प्रतिक्रियाएं भी मौके पर व्यक्त की गयीं हैं।

रात को अश्लील डान्स के दौरान लोग यह कहने से भी नहीं चूके कि जिस गाँव में महिला सरपंच श्रीमति श्यामकली नरेश मर्सकोले और उप सरपंच भी महिला शकीना बी जोजे कदीर शाह हों उस ग्राम में बाहर से बुलायी गयीं महिलाओं के द्वारा इस तरह के अश्लील डान्स को प्रस्तुत करने की इजाजत आखिर कैसे दी जा सकती है।

बताया जाता है कि देर रात तक चले इस तरह के फूहड़ डान्स के लोगों के द्वारा वीडियो भी बनवाये गये हैं। लोगों का कहना था कि इस तरह बाहर से आये कलाकारों की न तो पुलिस के द्वारा ही सुध ली गयी न ही जनपद पंचायत के द्वारा इस मामले में किसी तरह की कार्यवाही करना मुनासिब समझा गया है।

ज्ञातव्य है कि कुछ माह पहले कमोबेश इसी तरह का एक कार्यक्रम ग्राम पंचायत छुई के सभा मंच पर प्रस्तुत किया गया था। बहरहाल गेहरूटोला के इस कार्यक्रम के लिये छापे गये पोस्टर्स में सरपंच श्यामकली मर्सकोले एवं उप सरपंच शकीना बी को बतौर विशेष अतिथि दर्शाया गया है जिसे लेकर तरह – तरह की चर्चाओं का बाजार गर्मा गया है।

लोगों का कहना है कि प्रशासन विशेषकर पुलिस प्रशासन की कथित अनदेखी के चलते जिले में इस तरह के बाहरी लोगों के द्वारा अश्लील प्रस्तुतियां दी जा रहीं हैं, जिससे जिले की संस्कृति खतरे में भी पड़ती दिख रही है। इस तरह के कार्यक्रम की सूचना अगर संबंधितों के द्वारा पुलिस प्रशासन को दी गयी थी, और उसके बाद भी इस तरह की अश्लीलता की गयी तो यह तो और भी गंभीर बात है। अगर आयोजकों के द्वारा इसकी जानकारी संबंधितों और पुलिस प्रशासन को नहीं दी गयी? या अनुमति नहीं ली गयी तो आयोजकों पर कार्यवाही की जाना चाहिये।

ग्रामीणों ने संवेदनशील जिला कलेक्टर गोपाल चंद्र डाड, जिला पुलिस अधीक्षक तरूण नायक एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी स्वरोचिष सोमवंशी से इस मामले में समय सीमा में निष्पक्ष जाँच कराये जाने की माँग की है।



403 Views.

Related News

(शरद खरे) समाज शास्त्र में औद्योगीकरण और नगरीकरण को एक दूसरे का पर्याय माना गया है। औद्योगीकरण जहाँ होगा वहाँ.
मौसम में बदलाव का दौर है जारी (महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मकर संक्रांति के बाद सूर्य के उत्तरायण होने के.
रतजगा करते हुए कर रहे वोल्टेज बढ़ने का इंतजार (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। लगातार दो तीन वर्षों से अतिवृष्टि और.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड क्षेत्रीय कार्यालय जबलपुर द्वारा सी.एम. हेल्पलाइन में की गयी शिकायत को.
राजेंद्र नेमा ने स्वामी नारायणानंद के द्वारा शंकराचार्य लिखे जाने पर माँगे प्रमाण (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भगवत्पाद आद्यशंकराचार्य द्वारा.
आठ फीसदी ब्लो पर हुई निविदा स्वीकृत, भेजा शासन को अनुमोदन के लिये (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *