गैंगरेप : सियासी दलों की चुप्पी चर्चाओं में

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। 25 नवंबर को जिला मुख्यालय में हुए गैंगरेप के मामले में जिले के सियासी हल्कों सहित महिलाओं की चिंता करने वाले संगठनों की चुप्पी चर्चाओं में है।

ज्ञातव्य है कि 25 नवंबर को जिला मुख्यालय में एक नाबालिग बालिका के साथ गैंगरेप का मामला प्रकाश में आया था। इसकी रिपोर्ट 26 नवंबर को कोतवाली में की गयी थी। इस मामले में कोतवाली पुलिस के द्वारा तीन पुरूष और तीन महिला आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था।

बताया जाता है कि कोतवाली पुलिस की जाँच अभी जारी है, जिसमें आरोपियों की तादाद बढ़ने की संभावनाएं भी व्यक्त की जा रही हैं। जिला मुख्यलाय में बाहर से आयी एक नाबालिग बाला के साथ गैंगरेप हो जाने के बाद भी काँग्रेस, भाजपा सहित अन्य सियासी दलों की चुप्पी पर सभी आश्चर्य चकित हैं।

उधर, भोपाल गैंगरेप मामले में काँग्रेस के दोनों विधायकों रजनीश हरवंश सिंह और योगेंद्र सिंह के द्वारा जिस तरह से सक्रियता दिखायी जा रही है उसे देखकर यह लग रहा था कि जिले के केवलारी और लखनादौन के काँग्रेस विधायकों के द्वारा इस मामले को भी पुरजोर तरीके से उठाया जायेगा, वस्तुतः ऐसा होता दिख नहीं रहा है।

इसके साथ ही साथ महिलाओं की चिंता के लिये पाबंद गैर राजनैतिक संगठनों के द्वारा पूर्व में जिले में घटित घटनाओं की तरह ही इस मामले में भी जबड़े भींच रखे गये हैं। इन संगठनों के द्वारा अब तक न तो इस घटना की निंदा की गयी है और न ही किसी तरह से निष्पक्ष जाँच की माँग ही किया जाना भी चर्चाओं में है।



137 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *