घंसौर में नहीं हुई जन सुनवायी

भटकते रहे ग्रामीण नहीं पहुँचे अधिकारी

(सुभाष बकौड़े)

घंसौर (साई)। प्रत्येक मंगलवार को होने वाली जन सुनवायी में इस मंगलवार को तहसील मुख्यालय घंसौर में एक भी अधिकारी के न पहुँचने के कारण ग्रामीण भटकते देखे गये।

ज्ञातव्य है कि जनपद पंचायत घंसौर में पिछले लगभग छः माहों में एक के बाद एक कई मुख्य कार्यपालन अधिकारियों की तैनाती हुई पर जनपद पंचायत अपने पुराने ढर्रे पर ही काम करती रही। हिमांशु कश्यप की तैनाती जब से यहाँ हुई है तब से यह माना जा रहा था कि वे जन सुनवायी को गंभीरता से लेंगे।

बताया जाता है कि मंगलवार को आयोजितजन सुनवायी के दौरान सीईओ हिमांशु कश्यप ने लोगों की व्यथा सुनने की बजाय अपने कार्यालय में ही बैठकर दीगर काम करना जरूरी समझा। 10 अक्टूबर को जन सुनवायी के लिये निर्धारित समय 11 बजे से एक बजे तक जन सुनवायी स्थल पर एक भी अधिकारी – कर्मचारी मौजूद नहीं रहा।

बताया जाता है कि एक बजे तक जन सुनवायी में कुर्सियां खाली ही पड़ी रहीं। ज्यादातर आवेदक जब निराश होकर लौट गये तब दोपहर डेढ़ बजे विकास खण्ड अधिकारी को जन सुनवायी के लिये भेजा गया। इसके बाद शेष उपस्थित रह गये लोगों के आवेदन लिये गये।

इस दौरान अपनी शिकायत लेकर पहुँचे ग्राम मेहता से बैजयंती बाई, प्रेमाबाई, रेता बाई, छीनी बाई बर्मन, मुन्नी बाई यादव, सुक्का बाई यादव, मेंम बाई, सभी विधवा पेंशन न मिलने की शिकायत लेकर पहुँचीं। इसी तरह ग्राम पल्हेरा से नन्हेलाल प्रधानमंत्री आवास की दूसरी क़िश्त अभी तक न मिलने की शिकायत लेकर पहुँचे थे।



0 Views

Related News

जिले में ग्राम पंचायतों के कार्यक्रमों में बढ़ रही अश्लीलता! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिले में ग्राम पंचायतों के घोषित.
(शरद खरे) जिला मुख्यालय में सड़कों की चौड़ाई क्या होना चाहिये और सड़कों की चौड़ाई वास्तव में क्या है? इस.
मनमाने तरीके से हो रही टेस्टिंग, नहीं हो रहा नियमों का पालन! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। लोक निर्माण विभाग में.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। नगर पालिका में चुनी हुई परिषद के कुछ प्रतिनिधियों के द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी के.
खराब स्वास्थ्य के बाद भी भूख हड़ताल न तोड़ने पर अड़े भीम जंघेला (ब्यूरो कार्यालय) केवलारी (साई)। विकास खण्ड मुख्यालय.
(खेल ब्यूरो) सिवनी (साई)। भारतीय जनता पार्टी के सक्रय एवं जुझारू कार्यकर्ता तथा पूर्व पार्षद रहे संजय खण्डाईत अब भाजपा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *