चार आवास खाली, फिर भी आवास का टोटा!

फिल्टर प्लांट में 11 आवास, रह रहे 07 कर्मचारी!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। भाजपा शासित नगर पालिका परिषद के अधीन छिंदवाड़ा रोड स्थित फिल्टर प्लांट में कर्मचारियों के लिये बने 11 आवास में से चार आवास अभी (कागजों पर) खाली हैं और एक महिला उपयंत्री से मकान खाली कराये जाने का मामला इस कदर तूल पकड़ा कि उसकी परिणिति महिला उपयंत्री के आईसीयू में भर्ती होने के रूप में सामने आयी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार फिल्टर प्लांट में मुख्य नगर पालिका अधिकारी सहित अन्य कर्मचारियों और अधिकारियों के निवास हेतु 11 आवास बने हुए हैं। इन 11 आवासों में से सीएमओ के आवास पर यहाँ पदस्थ रहे मुख्य नगर पालिका अधिकारी मकबूल खान के द्वारा सालों तक कब्जा जमाये रखा गया था।

नगर पालिका के उच्च पदस्थ सूत्रोें ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि सिवनी में प्रभारी मुख्य नगर पालिका अधिकारी रहे किशन सिंह ठाकुर के कार्यकाल में सीएमओ का आवास मकबूल खान से खाली करवा लिया गया था। उसके बाद इस आवास को पालिका में पदस्थ उपयंत्री नेहा चौहान को अस्थायी तौर पर आवंटित कर दिया गया था।

सूत्रों का कहना है कि हाल ही में मुख्य नगर पालिका अधिकारी नवनीत पाण्डेय के द्वारा कार्यभार ग्रहण करने के साथ ही नेहा चौहान पर यह दबाव बनाया गया कि वे आवास को रिक्त कर कहीं और शिफ्ट हो जायें ताकि उस आवास को नवनीत पाण्डेय को आवंटित कर दिया जाये।

इसके साथ ही सूत्रों ने बताया कि जैसे ही नेहा चौहान को आवास खाली करने के लिये नोटिस जारी हुए उनके द्वारा सीएमओ, पालिका अध्यक्ष सहित जिला कलेक्टर को आवेदन देकर पालिका के आवासों के बारे में विस्तार से बताया गया। सूत्रों की मानें तो नेहा चौहान के द्वारा यह कहा गया कि एक नंबर आवास में वे निवास करतीं हैं।

सूत्रों ने बताया कि अपने आवेदन में उन्होंने यह बताया था कि इसके बाद राम नंदन बघेल, के.के. रजक, आर.पी. शुक्ला, देवी सिंह बघेल, रामनाथ डेहरिया एवं एक अन्य में श्री नागोत्रा निवास करते हैं। इस तरह 11 आवास में महज 07 कर्मचारी ही निवास कर रहे हैं शेष चार आवास संभवतः रिक्त हैं।

इसके साथ ही सूत्रों ने बताया कि इनमें से रामनाथ बघेल लगभग सात साल पहले सेवानिवृत्त हो चुके हैं एवं रामनाथ डेहरिया तीन साल पहले सेवानिवृत्त हो चुके हैं। इसके अलावा रामनंदन बघेल का तबादला भी लगभग एक साल पहले हो चुका है। इस लिहाज से तीन आवास और रिक्त हो जाते हैं तो फिल्टर प्लांट में सात आवास रिक्त हो जायेंगे।

सूत्रों ने कहा कि इन सात आवास में से एक आवास नेहा चौहान को आवंटित किया जा सकता है। सूत्रों की मानें तो नेहा चौहान के द्वारा यह भी कहा जा रहा था कि उन्हें फिल्टर प्लांट में बने पालिका के आवास में से एक आवास रिक्त कर आवंटित कर दिया जाये तो वे सीएमओ का आवास रिक्त कर देंगी। सूत्रों ने बताया कि इस मामले में कुछ समय से चला आ रहा विवाद अंत में इस कदर बढ़ा कि नेहा चौहान बेहोश हो गयीं और उन्हें जिला चिकित्सालय के आईसीसीयू में भर्ती कराना पड़ा।



47 Views.

Related News

(शरद खरे) सामान्य शब्दों में नगर के पालक की भूमिका अदा करने वाली संस्था को नगर पालिका कहा जाता है।.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (संजीव प्रताप सिंह) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज.
अट्ठारह करोड़ के काम को दस करोड़ में कैसे करेगा ठेकेदार! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। गृह निर्माण मण्डल के द्वारा.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। जनवरी में शहर में अमूमन धूप गुनगुनी और रात के वक्त सर्दी के तेवर तीखे रहा.
सिविल सर्जन की आँखों का नूर . . . 02 (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। स्वास्थ्य संचालनालय चाहे जो आदेश जारी.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सिवनी के वनस्पति शास्त्र विभाग में एक अनुपम पहल के चलते वनस्पति विज्ञान.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *