छपारा में खुल रही स्वच्छता अभियान की कलई

खुले में शौच जाने पर मजबूर हैं मजरा टोला वासी

(फैयाज खान)

छपारा (साई)। भले ही वजीरे आजम नरेंद्र मोदी और सूबे के निजाम शिवराज सिंह चौहान, स्वच्छ भारत मिशन के लिये एड़ी-चोटी एक कर देश को साफ सुथरा बनाने की दिशा में प्रयास कर रहे हों पर प्रदेश की सबसे बड़ी पंचायत आज भी खुले में शौच से मुक्त नहीं हो पायी है।

जनपद पंचायत छपारा के अंतर्गत 54 ग्राम पंचायतें आती हैं। इनमें मुख्यालय की ग्राम पंचायत छपारा में स्वच्छ भारत मिशन का जरा भी कोई असर नहीं दिख रहा है। आसानी से स्थान – स्थान पर कचरे के ढेर, गंदगी, बजबजाती नालियां देखी जा सकती हैं। इतना ही नहीं बैनगंगा नदी के किनारे भी खुले में लोगों को शौच करते देखा जा सकता है जबकि बैनगंगा के किनारे एक लाख 80 हजार रुपये का सार्वजनिक शौचालय बनाया गया था परंतु आज भी उस शौचालय का कोई उपयोग नहीं हो रहा है। लोग खुले में ही शौच कर रहे हैं।

हैरानी की बात तो यह है कि जनपद पंचायत मुख्यालय की पंचायत होने के बावजूद भी अधिकारियों के द्वारा इस पंचायत को खुले में शौच से मुक्त नहीं करवाया जा सका है जबकि जनपद पंचायत की तीन पंचायतें खुले में शौच से मुक्त हो चुकी हैं। इसके बावजूद भी छपारा मुख्यालय की पंचायत में स्वच्छ भारत मिशन पूरी तरह दम तोड़ता नजर आ रहा है।

नगर के मुख्य द्वार के सामने से शंकर मढ़िया तक पूरा सब्जी मार्केट है जहाँ दुकानदार सड़कों पर रोजाना सब्जी के छिलके, टमाटर, मिर्ची सड़ी गली सब्जियां फेंक देते हैं। उसी गंदगी के ऊपर से स्कूली छात्र – छात्राओं एवं वहीं से अन्य नागरिकों को भी गुजरना पड़ता है।

लोगों का कहना है कि जिस तरह घंसौर क्षेत्र में शौचालय निर्माण के मामले की बारीकी से जाँच की जा रही है उसी तरह जनपद पंचायत छपारा की ग्राम पंचायतों के निर्मित हुए शौचालयों का भौतिक सत्यापन अगर करा लिया जाये तो हैरत अंगेज परिणाम सामने आ सकते हैं।



16 Views.

Related News

(शरद खरे) सामान्य शब्दों में नगर के पालक की भूमिका अदा करने वाली संस्था को नगर पालिका कहा जाता है।.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (संजीव प्रताप सिंह) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज.
अट्ठारह करोड़ के काम को दस करोड़ में कैसे करेगा ठेकेदार! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। गृह निर्माण मण्डल के द्वारा.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। जनवरी में शहर में अमूमन धूप गुनगुनी और रात के वक्त सर्दी के तेवर तीखे रहा.
सिविल सर्जन की आँखों का नूर . . . 02 (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। स्वास्थ्य संचालनालय चाहे जो आदेश जारी.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सिवनी के वनस्पति शास्त्र विभाग में एक अनुपम पहल के चलते वनस्पति विज्ञान.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *