जगतगुरू हुए ज्योतिषपीठ पर आसीन

सिवनी जिला हुआ पुनः गौरवान्वित

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। ज्योतिषपीठ पर सनातन धर्म संरक्षणार्थ जगतगुरू शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज के पुनः प्रतिष्ठापित होने पर सिवनी जिला पुनः गौरवान्वित हुआ। उनके प्रतिष्ठापन पर संपूर्ण जिले में हर्ष व्याप्त है। इन गौरव के पलों के साक्षी बनने गुरू के प्रतिष्ठापन अभिषेक कार्यक्रम मंे सिवनी जिले से हजारांे की संख्या मंे गुरू भक्त पहुँचे थे।

गीता पराभक्ति मण्डल के अध्यक्ष रविकान्त पाण्डेय ने विज्ञप्ति जारी करते हुये बताया कि गीता जयंति के पावन पर्व पर परमहंसी गंगा आश्रम श्रीधाम झोतेश्वर मंे शंकराचार्य महाराज के ज्योतिष पीठ पर अभिषिक्त होने पर गीता पराभक्ति मण्डल के द्वारा गीता पाठ कर लोगों को बधाई प्रेषित की गयी। वहीं लोगों ने इन गौरवपूर्ण क्षणों में मिठाई बांटकर बम पटाखों की आतिशबाजी के बीच ढोल बैण्ड बाजों पर थिरक कर प्रसन्नता व्यक्त की। विज्ञप्ति में आगे बताया गया है कि सिवनी जिला ही नही वरन संपूर्ण भारत इस बात से गौरवान्वित, आनंदित एवं हर्षित है।

रविकान्त पाण्डेय ने बताया कि द्वारका शारदापीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज की तपोस्थली झोतेष्वर में ज्योतिषपीठ बद्रिकाश्रम के शंकराचार्य के पद पर बुधवार गीता जयंति के पावन पर्व पर अभिषेक किया गया। बनारस से भारत धर्म मण्डल एवं काशी विद्वत परिषद के सदस्यों ने देश के विविध तीर्थ स्थलों एवं मानसरोवर से लाये गये जल से उनका अभिषेक किया। गंगा आश्रम मंे विराजित राजराजेश्वरी के मंदिर में आयोजित अभिषेक कार्यक्रम मंे शंकराचार्य महाराज का भारत धर्म महामण्डल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सत्यनारायण पांडे, काशी विद्वत परिषद उपाध्यक्ष वशिष्ठ नारायण त्रिपाठी, श्रृंगेरी शंकराचार्य के प्रतिनिधि एवं महामण्डलेश्वरों की ओर से रामकृष्णनंद ने बारी-बारी से अभिषेक किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या मंे श्रद्धालु उपस्थित रहे।

भारत धर्म महामण्डल के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री पांडे ने बताया कि तीनांे पीठांे के शंकराचार्यों से विचार विमर्श के बाद 36 सदस्यों की समिति के 20 सदस्यांे ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किया। उन्होंने बताया कि 1973 में जो अभिषेक किया गया था, उसको इलाहाबाद हाई कोर्ट ने तकनीकी गड़बड़ी बताकर ज्योतिषपीठ शंकराचार्य पद को रिक्त कर दिया था। समिति को पुनः अभिषेक करने की जिम्मेदारी साैंपी गयी थी। उन्होंने बताया कि यहाँ पर अभिषेक करके कोई नया कार्य नहीं किया गया है वरन पहले किये गये अभिषेक पर मुहर लगाने का कार्य ही किया गया है।

इस अवसर पर भगवाधारी श्वेत टोपी पहने अनुशासित हिंगलाज सैनिकांे ने संपूर्ण कार्यक्रम में अपनी सक्रिय भूमिका निभायी। कार्यक्रम में गीता पराभक्ति मण्डल सिवनी, हिंगलाज सेना, आध्यात्मिक उत्थान मण्डल, विद्वत परिषद सिवनी एवं अन्य धार्मिक संगठनों के साथ हजारांे की संख्या में संपूर्ण जिले से अलग – अलग जत्थों में लोगों ने पहुँचकर इस अवसर पर पुण्य लाभ कमाया।



62 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *