जानिये टूथपेस्ट के कलर मार्क के मायने

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। बाजार में बहुत सारे टूथपेस्ट मौजूद हैं और उनके विभिन्न रंगों को देखकर बहुत सारे लोग आसानी से आकर्षित हो जाते हैं।

ऐसे में क्या उन्होंने टूथपेस्ट को खरीदते समय कभी ये सोचा है कि टूथपेस्ट का रंग अलग – अलग क्यों होता है.. या फिर ऐसा करने की मंशा के पीछे क्या कारण है। ज्यादातर लोग इसे टूथपेस्ट को आकर्षित करने की कला के रूप में लेते हैं। अगर आप कुछ ऐसा ही सोच रहे हैं तो ऐसा बिल्कुल नहीं है क्योंकि टूथपेस्ट का हर रंग कुछ कहता है।

बाजार में आपको काले, लाल, नीले और हरे रंग के मार्क वाले टूथपेस्ट मिल जायेंगे। इसलिये खरीदते समय इन लेबल्स को देखना कभी न भूलें क्योंकि ऐसा करना आपकी सेहत के लिये हानिकारक हो सकता है।

काला मतलब सबसे ज्यादा कैमिकल : उन्होंने टूथपेस्ट के नीचे वाले हिस्से पर काले रंग की अगर कोई पट्टी देखी है तो उस टूथपेस्ट को भूल से भी नहीं खरीदना चाहिये। ऐसा इसलिये क्योंकि काला रंग के मार्क वाले टूथपेस्ट में कैमिकल्स की मात्रा सबसे अधिक होती है।

लाल थोड़ा कम कैमिकल वाला : टूथपेस्ट में अगर लाल रंग का मार्क है तो इसका मतलब है कि काले मार्क वाले टूथपेस्ट से थोड़ा बेहतर है। यानि कि इसे बनाने में प्राकृतिक चीजों के साथ ही साथ कैमिकल्स का भी इस्तेमाल किया गया है।

नीला मतलब प्राकृतिक और मेडिकेशन : टूथपेस्ट में नीले रंग का मार्क बना है तो टूथपेस्ट आपके लिये काफी हद तक सुरक्षित है। नीले मार्क वाले टूथपेस्ट का मतलब है कि इसमें प्राकृतिक तत्वों के अलावा इसमें मेडिकेशन भी शामिल है।

हरा सेहत के लिये सबसे अच्छा : हरे रंग के मार्क वाले टूथपेस्ट को सेहत के लिये सबसे अच्छा माना जाता हैं। हरे रंग वाले मार्क का मतलब है कि टूथपेस्ट को बनाने में केवल प्राकृतिक तत्वों का ही इस्तेमाल किया गया है, जो सेहत की दृष्टि से पूरी तरह से सुरक्षित है।



0 Views

Related News

जिले में ग्राम पंचायतों के कार्यक्रमों में बढ़ रही अश्लीलता! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिले में ग्राम पंचायतों के घोषित.
(शरद खरे) जिला मुख्यालय में सड़कों की चौड़ाई क्या होना चाहिये और सड़कों की चौड़ाई वास्तव में क्या है? इस.
मनमाने तरीके से हो रही टेस्टिंग, नहीं हो रहा नियमों का पालन! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। लोक निर्माण विभाग में.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। नगर पालिका में चुनी हुई परिषद के कुछ प्रतिनिधियों के द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी के.
खराब स्वास्थ्य के बाद भी भूख हड़ताल न तोड़ने पर अड़े भीम जंघेला (ब्यूरो कार्यालय) केवलारी (साई)। विकास खण्ड मुख्यालय.
(खेल ब्यूरो) सिवनी (साई)। भारतीय जनता पार्टी के सक्रय एवं जुझारू कार्यकर्ता तथा पूर्व पार्षद रहे संजय खण्डाईत अब भाजपा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *