जिला चिकित्सालय में बढ़ाये जायें प्रवेश द्वार

जिला चिकित्सालय सिवनी में प्रवेश द्वार को लेकर मुझे शिकायत है। इतना विशालकाय जिला चिकित्सालय और प्रवेश के लिये सिर्फ और सिर्फ दो गेट? कोई भी इस तरह की व्यवस्था देखकर आश्चर्यचकित हुए बिना नहीं रहेगा।

गौरतलब होगा कि पूर्व में इसी जिला चिकित्सालय में तीन प्रवेश द्वार हुआ करते थे जबकि उस समय इसका आकार भी छोटा था और सुविधाएं भी कागजों पर ही सही लेकिन अभी से कम ही थीं। लगभग पन्द्रह साल पहले अज्ञात कारणों से बाहुबली चौक की तरफ वाला गेट हमेशा के लिये बंद कर दिया गया। इस गेट के स्थान पर दुकानें अवश्य बन गयीं लेकिन इन दुकानों के बीच से एक गेट अवश्य बनाया गया था।

दुकानों के बीच बनाये गये इस एकमात्र गेट में जिला चिकित्सालय प्रबंधन के द्वारा इतनी बाधाएं खड़ी कर दी गयीं कि वहाँ से पैदल आने-जाने वालों का निकलना ही दूभर हो गया। अभी कुछ माह पहले इस बाधायुक्त गेट को पूरी तरह से बंद करते हुए वहाँ पर एक दीवार ही खड़ी कर दी गयी है। जिला चिकित्सालय प्रबंधन को सोचना चाहिये कि यदि प्राईवेट वार्ड नंबर एक में भर्ती मरीज को या मरीज के परिजनों को बाहर से किसी चीज की खरीदी करना है तो उसे अनावश्यक ही एक लंबा चक्कर लगाकर बाहुबली चौक तक जाना पड़ेगा।

प्राईवेट वार्ड नंबर 01 से बाहुबली चौक तक आने जाने का रास्ता यदि नापा जाये तो यह एक किलोमीटर आराम से हो जायेगा। इस तरह की व्यवस्था को उचित कतई नहीं कहा जा सकता है। यदि बंद कराये गये गेट पर दीवार खड़ी करने की बजाये उसे आवागमन के लिये जारी रखा जाता तो यही चक्कर एक किलोमीटर की बजाये कुछ मीटर पर सिमट जाता है। इससे कीमती समय की बचत होना स्वाभाविक ही है लेकिन जिला चिकित्सालय प्रबंधन के द्वारा इस दिशा में कतई विचार नहीं किया गया।

वैसे भी विशालकाय इमारत में प्रवेश या निकासी द्वार जितने ज्यादा हों, वे उतने ही लाभप्रद होते हैं। आपातकालीन स्थिति में इस तरह की व्यवस्था से मदद ही मिलेगी लेकिन आपातकालीन स्थिति को किसी के द्वारा ध्यान में रखे बिना ही शायद सिवनी में नीतियां बनायी जाने लगी हैं। बेहतर होगा कि प्राईवेट वार्ड की तरफ से भी बाहर की दिशा में आवागमन आरंभ कराया जाये और खड़ी की गयी दीवार को हटाकर उस गेट को पुनः आरंभ करवाया जाये जो नाहक ही बंद कर दिया गया है।

दिनेश पानिशकर


अगर आपको भी व्यवहारिक जीवन में किसी से कोई शिकायत है और आप उसे सार्वजनिक करना चाह रहे हैं ताकि लोग उस शिकायत को पढ़कर अपनी गलति का अहसास करते हुए उसे न दोहराएं तो
आप व्हाट्स ऐप नंबर 9425175750, 9584647438 या 9300287551 अथवा मेल आईडी samacharagency@gmail.com ,hindgazette@gmail.com पर मेल कर अपनी शिकायत भेज सकते हैं.

0 Views

Related News

  (शरद खरे) सिवनी जिले में अब तक बेलगाम अफसरशाही, बाबुओं की लालफीताशाही और चुने हुए प्रतिनिधियों की अनदेखी किस.
  मानक आधार पर नहीं बने शहर के गति अवरोधक (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय सहित जिले भर में.
  धड़ल्ले से धूम्रपान, तीन सालों में एक भी कार्यवाही नहीं (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। रूपहले पर्दे के मशहूर अदाकार.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सर्दी का मौसम आरंभ होते ही हृदय और लकवा के मरीजों की दिक्कतें बढ़ने लगती.
  दिल्ली के पहलवान कुलदीप ने जीता खिताब (फैयाज खान) छपारा (साई)। बैनगंगा के तट पर बसे छपारा नगर में.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिर पर टोपी, गले में लाल गमछा, साईकिल पर पर्यावरण के संदेश की तख्ती और.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *