दफनाने के लिए चेहरे से चादर हटाई तो बच्ची ने खोल दी आंखे

(राजीव सक्‍सेना)

ग्वालियर (साई)। जयारोग्य अस्पताल में भर्ती एक बच्ची को वेंटिलेटर पर रखा गया था। परिजन भी उम्मीद छोड़ चुके थे, वह डॉक्टर से छुट्टी कराकर घर ले गए। बच्ची की सांस चलना बंद हुई तो परिजन उसे दफनाने के लिए लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम पहुंचे। यहां बच्ची को दफनाने से पहले जैसे ही उसके चेहरे से चादर हटाई तो बच्ची ने आंखे खोल दी। इसके बाद बच्ची को दोबारा जेएएच में लाकर भर्ती कराया गया है।

लखनऊ निवासी स्वाति द्विवेदी ने नवंबर माह में एक बच्ची को जन्म दिया था। 8 दिन पहले तबीयत खराब होने पर उसे जयारोग्य अस्पताल के बाल एवं शिशु रोग विभाग में भर्ती कराया गया था। बच्ची को वेंटिलेटर पर रखा गया था और उसके हाथ पांव में कोई हरकत नहीं हो रही थी। अस्पताल के रिकॉर्ड के मुताबिक परिजन बच्ची को अपनी मर्जी से छुट्टी कराकर ले गए हैं।

परिजन मंगलवार को दोपहर 12 बजे बच्ची को घर लेकर पहुंचे तो उसकी सांस भी रूक चुकी थी। बच्ची को मृत जानकर परिजन उसे दफनाने के लिए दोपहर दो बजे करीब लक्ष्मीगंज मुक्तिधाम पहुंचे। यहां जैसे ही पिता शिवम द्विवेदी ने बच्ची के चेहरे से चादर हटाई तो उसने आंखे खोल दी। गमजदा परिजनों ने जब बच्ची को जीवित देखा तो उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। इसके बाद दोबारा बच्ची को लेकर जयारोग्य अस्पताल पहुंचे, जहां वर्तमान में उपचार जारी है।

डिलेवरी के लिए आई थी मायके

स्वाति द्विवेदी का विवाह लखनऊ निवासी शिवम से हुआ था। वह डिलेवरी के लिए ग्वालियर महाराज बाड़ा स्थित अपने मायके आई थी। नवंबर माह में उसने एक बच्ची को जन्म दिया था और तबीयत बिगड़ने पर 8 दिन पहले जेएएच में भर्ती कराया था। परिजनों के मुताबिक बच्ची के मृत होने के बाद ही वह अस्पताल से लेकर आए थे, हालांकि अस्पताल के रिकार्ड के मुताबिक परिजन बच्ची को अपनी मर्जी से वेंटिलेटर से उठाकर ले गए थे।



2 Views.

Related News

(शरद खरे) शायद ही कोई ऐसा दिन होता हो जब सिवनी में सड़क दुर्घटना में घायल या मरने वालों की.
स्वास्थ्य विभाग के रंगारंग बसंत पंचमी कार्यक्रम में टूटीं सारी मर्यादाएं! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। जिला चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। यूरोप के आधा दर्जन से ज्यादा देशों में पढ़ी जाने वाली स्ट्रेस टू हेप्पीनेस नामक किताब.
मामला मोहगाँव खवासा सड़क निर्माण का, शायद ही कुछ आऊट सोर्स करे दिलीप बिल्डकॉन (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मौसम में लगातार परिवर्तन जारी हैं। बुधवार से शहर में सर्दी का सितम तेज हो सकता.
40 एकड़ में बनेगा क्रिकेट का विशाल स्टेडियम बींझावाड़ा में (प्रदीप खुट्टू श्रीवास) सिवनी (साई)। सिवनी में वर्षों से क्रिकेट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *