दहेज लोभी शिक्षक सहित 06 को सजा एवं जुर्माना

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (साई)। सात साल पुराने दहेज प्रताड़ना के एक मामले में न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी श्रीमति कल्पना मरावी के द्वारा सजा सुनायी गयी है।

न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी कल्पना मरावी ने बरघाट निवासी शिक्षक अविनाश तिवारी आ.राजकुमार तिवारी, अवधेश वल्द राजकुमारी तिवारी, विवेक वल्द राजकुमार तिवारी, सुशीला बाई पत्नि राजकुमार तिवारी एवं हाऊसिंग बोर्ड कॉलोनी कटनी निवासी रविकांत तिवारी आ.शिवकुमार तिवारी तथा प्रतिमा तिवारी पत्नि रविकांत तिवारी को दहेज के लिये श्रीमती सुमन तिवारी को अपमानित एवं प्रताड़ित करने के आरोप अंतर्गत धारा 498 (अ)/34 भा.द.वि. सहपठित धारा 3-4 दहेज प्रतिषेध अधिनियम के अंतर्गत आरोप प्रमाणित होने से क्रमशः 1-1 वर्ष एवं 6-6 माह के कठोर कारावास एवं सभी आरोपियों को बारह सौ पचास रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित करने का आदेश दिया है।

थाना बरघाट मंे पंजीबद्ध अपराध क्रमाँक 352/2010 मे प्रार्थिया सुमन तिवारी पत्नि अविनाष तिवारी ने अपने लिखित आवेदन मे 11 दिसंबर 2010 को इस आशय की शिकायत थाने में की थी कि उसका पति अविनाश तिवारी, देवर अवधेश तिवारी, विवेक तिवारी, सास सुशीला तिवारी, ननंद प्रतिभा तिवारी और नंदोई रविकांत तिवारी विवाह के बाद से ही निरंतर दहेज के लिये अपमानित एवं प्रताड़ित करते रहते हैं और मारपीट तथा गाली-गलौच करते हैं तथा दहेज के रूप मंे मायके से पैसा लाने के लिये मायके से 04 लाख रूपये लाने के लिये बाध्य करते हैं। बताया गया था कि पैसा न लाने पर उसे परित्यक्त कर प्रताड़ित करते हैं। उक्त शिकायत के आधार पर थाना बरघाट मंे सभी अभियुक्तगण के विरूद्ध अपराध पंजीबद्ध कर अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया था।

न्यायालय के समक्ष अभियोजन की ओर से प्रस्तुत साक्षियांे के कथनांे एवं अभियोजन की ओर से सहायक अभियोजन अधिकारी के तर्काें और प्रकरणांे के तथ्यांे के प्रकाश मंे माननीय न्यायालय ने सभी आरोपीगण के विरूद्ध संदेह से परे अपराध प्रमाणित होना पाकर उन्हंे दण्डित करने का आदेश पारित किया है।

उल्लेखनीय है कि इससे पूर्व प्रधान न्यायाधीश कुटुंब न्यायालय सिवनी द्वारा आरोपी, आवेदक अविनाश तिवारी की ओर से प्रस्तुत विवाह विच्छेद याचिका भी खारिज की जा चुकी है। बरघाट क्षेत्र के इस बहुचर्चित प्रकरण मंे अभियुक्तगण को दण्डित किये जाने से क्षेत्रीय नागरिकांे मंे हर्ष बताया जा रहा है।



0 Views

Related News

प्रभारी सीएमएचओ का बस नहीं था चिकित्सकों पर! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। निःशक्त, दिव्यांग विद्यार्थियों के चिकित्कीय मूल्यांकन शिविरों में.
जमीनी स्तर पर महज श्रृद्धांजलि देकर और जयंति मना रही काँग्रेस! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। विधानसभा चुनावों की पदचाप के.
शुक्रवार एवं शनिवार को रह सकती है साल की सबसे सर्द रात! (महेश रावलानी) सिवनी (साई)। उत्तर भारत की सर्दी.
पालिका के चुने हुए प्रतिनिधियों के पेट में क्यों उठने लगी मरोड़! (संजीव प्रताप सिंह) सिवनी (साई)। नगर पालिका परिषद.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। प्रतिष्ठित खेल शिक्षक धन कुमार यादव के द्वितीय पुत्र अनन्त यादव की पार्थिव देह मंगलवार को.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सनानत संस्कृति में शादी सबसे बड़ा संस्कार है। ब्याह कर न केवल दो स्त्री-पुरुष जीवनभर के.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *