नपा ने निकाल दी वर्ष 2017 की ये ठण्ड बिना अलाव के!

 आखिरी दिन अचानक ही कुछ चौराहों पर गिरी लकड़ी

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। सिवनी में बिदा लेते वर्ष 2017 की आखिरी 31 दिसंबर की रात को कई लोगों के द्वारा जमकर सेलिब्रेट करते हुए नये वर्ष का स्वागत किया गया। इस दौरान आबकारी विभाग की निष्क्रियता के चलते सिवनी के चप्पे-चप्पे पर उपलब्ध शराब ने युवाओं की मस्ती में उत्प्रेरक का ही काम किया।

शहर में पुलिस की चाक-चौबंद व्यवस्था के बीच हुड़दंगियों को ज्यादा हुड़दंग करने का अवसर मिलता नहीं दिखा। हालांकि काले काँचों से युक्त चार पहिया वाहनों में लोग शहर के प्रमुख स्थलों पर ही शराब की चुस्कियां लेते हुए देखे गये। देर रात तक तेज रफ्तार में शोर मचाकर लहराती हुई दौड़तीं मोटर साईकिलों पर अधिकांश युवा नशे में झूमते ही नजर आ रहे थे।

उनके वाहन चलाने के अंदाज से उन लोगों को परेशान होते हुए देखा गया जो अपने आवश्यक काम से घर से निकलकर सड़कों पर आवागमन कर रहे थे। शहर के कुछ स्थानों पर तेज आवाज में बज रहे डीजे की धुन पर मस्ती में लोग थिरकते हुए वर्ष 2017 को बिदाई दे रहे थे तो वहीं वे नये वर्ष 2018 का स्वागत भी अपने – अपने अंदाज में कर रहे थे।

गुरूवार 28 दिसंबर और शुक्रवार 29 दिसंबर की दरमियानी रात्रि में जब पारा 9.6 डिग्री सेल्सियस को स्पर्श कर गया और कड़ाके की ठण्ड ने शहर को अपने आगोश में ले लिया था तब लोगों को ऐसा लगने लगा था कि शायद 31 दिसंबर का सेलिब्रेशन इससे प्रभावित हो सकता है लेकिन उसके बाद जिस तेजी से तापमान तेजी से सामान्य की तरफ बढ़ने लगा उससे युवाओं में एक नये उत्साह का संचार देखा गया।

शहर के चौक – चौराहों के साथ ही अन्य सार्वजनिक स्थलों पर नगर पालिका के द्वारा अलाव की व्यवस्था न किये जाने से रात के समय में रिक्शॉ-ऑटो चालकों आदि को नये साल में भी ठण्ड से ठिठुरते ही देखा गया। लोग यही शिकायत करते मिले की भाजपाई नगर पालिका ने वर्ष 2017 की ये ठण्ड बिना अलाव की व्यवस्था किये ही निकाल दी।

31 दिसंबर की रात्रि में भी लोग यही चर्चा करते देखे गये कि जब पारा के ईकाई के अंक पर पहुँचने के बाद भी नगर पालिका ने अलाव की व्यवस्था करने की कोई जहमत नहीं उठायी तो ऐसी नगर पालिका से गरीब वर्ग के लोग क्या उम्मीद कर सकते हैं।

इसी बीच वर्ष 2017 की आखिरी रात में कुछ चौक – चौराहों पर अचानक ही जलाऊ लकड़ी पहुँचने से लोग आश्चर्य चकित रह गये। लोग समझ नहीं पाये कि अचानक ही कुछ चौक – चौराहों पर जलाऊ लकड़ी कैसे आ गयी। लोग यह चर्चा भी करते नजर आये कि नये साल के जश्न में कानून और व्यवस्था बनाये रखने के लिये पुलिस चूंकि चौक – चौराहों पर पाबंद रहेगी इसलिये पुलिस की सहूलियत के लिये अलाव के लिये लकड़ी की व्यवस्था की गयी होगी!



51 Views.

Related News

(शरद खरे) सामान्य शब्दों में नगर के पालक की भूमिका अदा करने वाली संस्था को नगर पालिका कहा जाता है।.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (संजीव प्रताप सिंह) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज.
अट्ठारह करोड़ के काम को दस करोड़ में कैसे करेगा ठेकेदार! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। गृह निर्माण मण्डल के द्वारा.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। जनवरी में शहर में अमूमन धूप गुनगुनी और रात के वक्त सर्दी के तेवर तीखे रहा.
सिविल सर्जन की आँखों का नूर . . . 02 (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। स्वास्थ्य संचालनालय चाहे जो आदेश जारी.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सिवनी के वनस्पति शास्त्र विभाग में एक अनुपम पहल के चलते वनस्पति विज्ञान.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *