नेपाल में अब भी चल रहे हैं 500-1000 के पुराने नोट!

(ब्यूरो कार्यालय)

गोरखपुर (साई)। भारत में नोटबंदी हुए एक साल से भी अधिक का समय बीत चुका है लेकिन नेपाल में अभी तक भारतीय करंसी को वापस लौटाने की प्रक्रिया आरंभ नहीं की गयी है। भारत और नेपाल के सबसे बड़े बैंकों, नेपाल राष्ट्र बैंक और रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने अभी तक पुरानी भारतीय करंसी को बदलने के तरीके पर कोई फैसला नहीं किया है।

इस वजह से नेपाल के कसीनो में अभी 500 और 1000 के पुराने नोटों का इस्तेमाल किया जा रहा है। भारतीय पर्यटक नेपाल के कसीनो में इन नोटों के साथ जाते हैं। वहाँ 500 का नया नोट देने पर 800 नेपाली नोट और 500 का पुराना नोट देने पर 400 नेपाली नोट मिल जाते हैं। कसीनो और डांस बार में पुरानी भारतीय करंसी को आसानी से बदला जा सकता है। काठमांडू में ही दो हजार से ज्यादा वैध और अवैध डांस बार्स चलते हैं।

हालांकि, नेपाल में इन नोटों को तभी बदला जा सकता है जब इनके बदले कोई काठमांडू के कसीनो में बड़ी रकम लगायें। पुराने भारतीय नोटों से कसीनो के टोकन खरीदे जा सकते हैं। इन टोकन से व्यक्ति पर्यटक कसीनो में खेलकर नेपाली करंसी कमा सकता है। यह प्रक्रिया अपने-आप में वैध है।

कुछ पत्रकारों को ऐसे ही एक कसीनो का दौरा करने पर बिहार के एक नेता अपने साथियों के साथ दिखे। वे कसीनो में खेलते हुए कुछ ही घण्टों में लगभग 03 लाख रुपये गंवा चुके थे। उन्होंने अपने ड्राईवर से भारतीय नोट मंगाये और कसीनो को दे दिये।

इस पूरी जानकारी से सवाल यह उठता है कि ये कसीनो पुरानी भारतीय करंसी का आखिर क्या करेंगे? एक कसीनो के मालिक ने बताया कि भारत सरकार ने नेपाल से भारतीय करंसी वापस नहीं ली है। जब भारत यह नोट माँगेगा तो कसीनो के पास जमा रकम भी नेपाल भारत को वापस कर देगा। इससे नेपाल के प्राईवेट बैंक खूब पैसा कमायेंगे।

भारतीय रिजर्व बैंक के मुताबिक अवैध किये गये नोटों में से 15.28 लाख करोड़ की कीमत के नोट्स वापस आ चुके हैं। इसमें नेपाल में चल रहे नोट्स शामिल हैं या नहीं, इस बात का पता लगना अभी बाकी है।



0 Views.

Related News

(शरद खरे) शायद ही कोई ऐसा दिन होता हो जब सिवनी में सड़क दुर्घटना में घायल या मरने वालों की.
स्वास्थ्य विभाग के रंगारंग बसंत पंचमी कार्यक्रम में टूटीं सारी मर्यादाएं! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। जिला चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। यूरोप के आधा दर्जन से ज्यादा देशों में पढ़ी जाने वाली स्ट्रेस टू हेप्पीनेस नामक किताब.
मामला मोहगाँव खवासा सड़क निर्माण का, शायद ही कुछ आऊट सोर्स करे दिलीप बिल्डकॉन (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मौसम में लगातार परिवर्तन जारी हैं। बुधवार से शहर में सर्दी का सितम तेज हो सकता.
40 एकड़ में बनेगा क्रिकेट का विशाल स्टेडियम बींझावाड़ा में (प्रदीप खुट्टू श्रीवास) सिवनी (साई)। सिवनी में वर्षों से क्रिकेट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *