न देना टीकाराम बघेल का साथ : सीएमएचओ

पेरामेडिकल स्टॉफ को दी डॉ.आर.के. श्रीवास्तव ने नसीहत!

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। कर्मचारी नेता टीकाराम बघेल को घंसौर स्थानांतरित कर दिया गया है। उनका साथ देकर किसी तरह की हड़ताल आदि नहीं करना। अस्पताल में सादे कपड़ों में खुफिया जानकारी लेने के लिये अनेक लोग घूम रहे हैं। अगर कोई टीकाराम बघेल का साथ देता पाया गया तो वह पचड़े में फंस सकता है।

उक्ताशय की बात प्रभारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी एवं प्रभारी सिविल सर्जन डॉ.राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव के द्वारा पेरामेडिकल स्टॉफ को अपने कक्ष में बुलाकर कही गयी। सीएमएचओ कार्यालय के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि प्रभारी सीएमएचओ और प्रभारी सीएस का प्रभार एक साथ अपने पास रखने वाले डॉ.आर.के. श्रीवास्तव के द्वारा अब जिला कलेक्टर का भय बताकर पेरामेडिकल स्टॉफ को हड़काया जा रहा है।

सूत्रों ने बताया कि गत दिवस समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया और दैनिक हिन्द गजट के द्वारा प्रशासन को घेरने की तैयारी में कर्मचारी नेता शीर्षक से प्रसारित और प्रकाशित समाचार के बाद जिला चिकित्सालय में खलबली मच गयी थी। इस खबर के बाद पेरामेडिकल स्टॉफ का एक धड़ा कर्मचारी नेता टीकाराम बघेल के पक्ष में लामबंद होता दिख रहा था।

इसके साथ ही सूत्रों की मानें तो वहीं पेरमेडिकल स्टॉफ में अधिकांश कर्मचारियों का कहना था कि टीकाराम बघेल कर्मचारी नेता हैं। वे मध्य प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष पद पर सालों से काबिज हैं। सालों से कर्मचारी संघ में चुनाव भी नहीं कराये गये हैं, जिससे टीकाराम बघेल का संघ पर एकाधिकार बनता दिख रहा है।

सूत्रों ने कहा कि अधिकांश कर्मचारियों का कहना था कि मध्य प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के जिला अध्यक्ष टीकाराम बघेल के द्वारा कर्मचारियों के हितों में लंबे समय से किसी तरह की कवायद न किये जाने से अब कर्मचारियों का भरोसा उन पर से उठने लगा है।

इसी तरह सूत्रों का कहना था कि जिला चिकित्सालय में सफाई और सुरक्षा के ठेकेदारों के द्वारा लापरवाही पूर्ण रवैया अपनाया गया और अस्पताल प्रशासन के द्वारा उनके देयक बिना किसी संकोच के निकाले जाते रहे पर कर्मचारी नेता के द्वारा इस संबंध में चुप्पी ही साधी रखी गयी।

सूत्रों ने कहा कि कर्मचारियों के बीच चल रहीं चर्चाओं के अनुसार इसके अलावा लंबे समय से कर्मचारियों के साथ मारपीट और अभद्रता की घटनाएं होती आ रहीं थीं, किन्तु कर्मचारी नेता के द्वारा इस मामले में भी लंबे समय से मौन ही साधे रखा गया। इसके अलावा अस्पताल में एक्स-रे विभाग में रेडियोग्राफर की कमी होने के बाद भी टीकाराम बघेल लंबे समय तक बिना किसी काम के टीबी प्रभाग में ही निठल्ले बैठकर तनख्वाह पाते रहे।

इसके साथ ही सूत्रों ने कहा कि वैसे तो कर्मचारियों के बीच टीकाराम बघेल के घंसौर स्थानांतरण की बहुत ज्यादा प्रतिक्रिया नहीं है पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के द्वारा अगर कलेक्टर का नाम लेकर पेरामेडिकल स्टॉफ को इस तरह से हड़काया जा रहा है तो यह अनुचित है। सीएमएचओ और सीएस वैसे भी प्रशासनिक पद हैं और ये स्वयं ही कर्मचारियों के खिलाफ कदम उठाने के लिये सक्षम हैं फिर इस तरह के मामलों में जिले के प्रशासनिक प्रमुख के नाम का उपयोग करना उचित नहीं है।



0 Views

Related News

(शरद खरे) सिवनी शहर में जहाँ जिसका मन आया उस ठेकेदार या नगर पालिका के कारिंदों ने गति अवरोधक बना.
प्रभारी सीएमएचओ का बस नहीं था चिकित्सकों पर! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। निःशक्त, दिव्यांग विद्यार्थियों के चिकित्कीय मूल्यांकन शिविरों में.
जमीनी स्तर पर महज श्रृद्धांजलि देकर और जयंति मना रही काँग्रेस! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। विधानसभा चुनावों की पदचाप के.
शुक्रवार एवं शनिवार को रह सकती है साल की सबसे सर्द रात! (महेश रावलानी) सिवनी (साई)। उत्तर भारत की सर्दी.
पालिका के चुने हुए प्रतिनिधियों के पेट में क्यों उठने लगी मरोड़! (संजीव प्रताप सिंह) सिवनी (साई)। नगर पालिका परिषद.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। प्रतिष्ठित खेल शिक्षक धन कुमार यादव के द्वितीय पुत्र अनन्त यादव की पार्थिव देह मंगलवार को.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *