पतंजलि ने बाढ़ पीड़ितों में बंटवा दिए एक्सपायर्ड सामान!

(आकाश कुमार)

नई दिल्ली (साई)। बाढ़ की त्रासदी झेल रहे असम में हर साल लाखों लोग इस आपदा की मार झेलते हैं। सरकार सहित तमाम सामाजिक संगठन इस दौरान बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आते हैं। बाबा रामदेव के पतंजलि ने भी पीड़ितों की मदद के लिए राहत सामग्रियां भेजीं, लेकिन इस दौरान विवाद तब उत्पन्न हो गया जब पतंजलि के एक्सपायरी डेट वाले प्रॉडक्टस को कथित तौर पर पीड़ितों में बंटवाने का आरोप लगा।

मदद की कोशिश के तहत पतंजलि ने असम के मजुली जिले में करीब 12 लाख रुपये मूल्य का सामान भेजा, जिसमें दूध पाउडर और जूस शामिल थे। लेकिन आरोप है कि ये राहत सामग्रियां बांटने लायक बिल्कुल नहीं थीं, क्योंकि ज्यादातर सामानों की एक्सपायरी डेट बीत चुकी थी।

हालांकि पतंजलि की तरफ से इन आरोपों का खंडन किया गया है। वहीं नवभारतटाइम्स डॉट कॉम से हुई बातचीत में जिला प्रशासन ने कहा कि पतंजलि का एक्सपायर्ड सामान बाढ़ पीड़ितों में नहीं बंटने दिया गया। मजुली के डेप्युटी कमिश्नर पल्लव गोपाल झा ने बताया कि पतंजलि के एक्सपायरी डेट बीत चुके सामान आया तो था, लेकिन प्रशासन ने इन सामानों को बांटने की इजाजत नहीं दी। वहीं स्थानीय निवासियों ने आरोप लगाया कि पतंजलि का एक्सपायर्ड सामान बाढ़ पीड़ितों में बांटा गया है। एक्सपायर्ड सामान बांटे जाने की शिकायत को लेकर एडीसी चिन्मय नाथ को मामले की जांच का जिम्मा सौंपा गया है।



0 Views

Related News

(ज़किया ज़रीन) हैदराबाद (साई)। देश के ई-कॉमर्स मार्केट पर राज करने वाली कंपनियों ऐमजॉन और फ्लिपकार्ट के लिए रिलायंस रिटेल.
(शरद खरे) जिला मुख्यालय में छेड़छाड़ की घटनाओं में इजाफा होना चिंता का विषय है। हाल ही में बारापत्थर के.
मनरेगा में एलॉटमेंट का इंतजार कर रहीं पंचायतें (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भारतीय जनता पार्टी की सरकार केंद्र में भी.
हाईटेक होने की ओर अग्रसर है सिवनी पुलिस (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के नेत्तृत्व में सिवनी.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सुख - समृद्धि और वैभव के पाँच दिवसीय पर्व दीपावली की शुरुआत मंगलवार को धनतेरस के.
सीएम हेल्प लाईन के लिये फिर दिये कलेक्टर ने निर्देश (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। कलेक्टर गोपाल चंद्र डाड की अध्यक्षता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *