परिवहन में लगे हैं कृषि कार्य के लिये बीमित ट्रैक्टर

मुझे शिकायत जिले के परिवहन और यातायात विभाग दोनों से ही है। इन दोनों के द्वारा यदा-कदा चार पहिया वाहनों की जाँच शायद ही की जाती हो लेकिन इनके सामने से गुजर रहे ट्रैक्टर इनकी आँखों में कभी भी नहीं चढ़ पाते हैं।

ध्यान देने वाली बात यह है कि अधिकांश ट्रैक्टर बिना इंश्योरेंस के चल रहे हैं और इनमें से जिस किसी ट्रैक्टर का यदि बीमा है भी तो वह कृषि कार्य के लिये बीमित है लेकिन ऐसे ट्रैक्टर भी धड़ल्ले से परिवहन जैसे कार्यों मेें लगे हुए हैं। इन ट्रैक्टर्स में रेत, ईंट, गिट्टी आदि का परिवहन किया जाता सहज ही देखा जा सकता है लेकिन यह सब यातायात विभाग और परिवहन विभाग को नहीं दिख पा रहा है।

इसके साथ ही साथ ट्रैक्टर से जुड़ी हुई ट्रॉली में नंबर तक दर्ज नहीं होता है। यही नहीं बल्कि कई बार तो ये ट्रैक्टर्स नाबालिग तक चलाते हुए दिख जाते हैं जिनके पास लाईसेंस तक होने का सवाल भी नहीं उठता है। ऐसे नाबालिगों के द्वारा ट्रैक्टर्स जैसे वाहन का चालन दुर्घटनाओं को आमंत्रण देते हुए ही प्रतीत होता है। शहर के संकरे-संकरे मार्ग पर ये ट्रैक्टर जब प्रवेश करते हैं तब ये जाम की स्थिति बनाते हुए चलते हैं। नौसिखिये ट्रैक्टर चालकों के द्वारा उनके पीछे चल रहे वाहनों को साईड देने का जतन तक नहीं उठाया जाता है।

कायदे से शहर में चल रहे प्रत्येक ट्रैक्टर की सघनता के साथ जाँच किये जाने की आवश्यकता है। यह भी देखा जाना चाहिये कि जो ट्रैक्टर कृषि कार्य में ही लगे हुए हैं.. उनमें डीजल कहाँ से और कैसे भरा जाता है? क्या कृषि कार्य में लगे ट्रैक्टर यदि सिर्फ कृषि कार्य के लिये ही बीमित हैं तो क्या वे शहर या अन्यत्र जाकर पंप से डीजल भराते हैं या उनमें कैन के जरिये डीजल भरा जाता है? यदि कैन के जरिये डीजल भरा जाता है तो यह भी आपत्ति जनक है और जो पंप वाले कैन में पेट्रोल या डीजल बेच रहे हैं उनके खिलाफ भी कार्यवाही किये जाने की आवश्यकता है लेकिन शहर में ऐसा कहीं भी होता नहीं दिखता है।

रफीक खान


अगर आपको भी व्यवहारिक जीवन में किसी से कोई शिकायत है और आप उसे सार्वजनिक करना चाह रहे हैं ताकि लोग उस शिकायत को पढ़कर अपनी गलति का अहसास करते हुए उसे न दोहराएं तो
आप व्हाट्स ऐप नंबर 9425175750, 9584647438 या 9300287551 अथवा मेल आईडी samacharagency@gmail.com ,hindgazette@gmail.com पर मेल कर अपनी शिकायत भेज सकते हैं.

0 Views

Related News

(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। जिले में 89 केन्द्रों में से सिर्फ 75 केन्द्रों में ही धान की खरीदी हो रही.
(लिमटी खरे) लगभग ढाई दशकों से सिवनी जिले में जो कुछ चल रहा है उससे यही प्रतीत हो रहा है.
प्रशिक्षण केंद्र में अब किस हैसियत से रह रहे हैं डॉ.श्रीवास्तव! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. राजेंद्र.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। श्रीमति किरण दिनेश जैन की नातिन विशुद्धी शाह ने सोनी टीवी के प्रसिद्ध ओमो सुपर डांसर.
पारे ने लगाया 04 डिग्री सेल्सियस का गोता (महेश रावलानी) सिवनी (साई)। उत्तर से आने वाली सर्द हवाओं के कारण.
(अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। सत्ता का मद जनप्रतिनिधियों पर इस कदर हावी है कि गैर कानूनी कामों को करने में.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *