पाण्डेय की गुगली और चौहान हुए आऊट!

सहायक ग्रेड-3 के लिये निंदा प्रस्ताव लाने की तैयारी में भ्रष्टाचार के पोषक!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। भारतीय जनता पार्टी के संगठन को जिस काम को कराने में पसीना आ रहा था वह काम मुख्य नगर पालिका अधिकारी नवनीत पाण्डेय ने मिनिटों में कर दिखाया। बुधवार को शाम नवनीत पाण्डेय के हस्ताक्षरों से जारी आदेश में चर्चित और विवादित सहायक ग्रेड तीन मुकेश चौहान का प्रभार बदल दिया गया है।

सूत्रों ने आगे बताया कि नगर पालिका के चर्चित और विवादित लिपिक मुकेश चौहान जिन्हें हटाने के लिये दो सालों से सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी के पार्षदों द्वारा बार-बार संगठन से गुहार लगायी जा रही थी। हाल ही में भाजपा के जिला अध्यक्ष राकेश पाल सिंह के द्वारा भी चौबीस घण्टों का अल्टीमेटम नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमति आरती शुक्ला को दिया गया था, किन्तु महीना बीतने के बाद भी मुकेश चौहान को नहीं हटाया जा सका था।

इसके साथ ही सूत्रों ने आगे कहा कि इस आदेश में सहायक ग्रेड तीन मुकेश चौहान से जल प्रदाय शाखा एवं वैध, अवैध कॉलोनी का प्रभार वापस लिया जाकर उन्हें स्वास्थ्य शाखा का प्रभार दिया गया है। इसके अलावा सहायक ग्रेड तीन तनोज राउत को राजस्व शाखा से जल प्रदाय शाखा एवं वैध अवैध कॉलोनी का प्रभार दिया गया है।

सूत्रों ने कहा कि जब भी मुकेश चौहान का प्रभार बदलने की बात की जाती थी उस समय नगर पालिका में जनता के चुने हुए प्रतिनिधियों में से कुछ प्रतिनिधियों के द्वारा मुकेश चौहान के पक्ष में माहौल बनाना आरंभ कर दिया जाता था। इसके चलते ही भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष नरेश दिवाकर, वेद सिंह ठाकुर और श्रीमति नीता पटेरिया के द्वारा भी पालिका में मुकेश चौहान को हटाये जाने के काम को ठण्डे बस्ते के हवाले कर दिया जाता था।

इसी तरह सूत्रों ने कहा कि पानी एक संवेदनशील मसला है और शहर में हो रही गंदे पानी की सप्लाई के चलते लोग नगर पालिका को कम भारतीय जनता पार्टी को ज्यादा कोसते नजर आते थे। नगर पालिका परिषद की झींगामस्ती के चलते ही पिछले विधानसभा चुनावों में सिवनी विधानसभा में भाजपा को अपने ही गढ़ में मात खानी पड़ी थी। निर्दलीय दिनेश राय के द्वारा भाजपा के दो बार के विधायक नरेश दिवाकर को धूल चटा दी गयी थी। इसके बाद भी भाजपा संगठन के द्वारा नगर पालिका के कामकाज पर अंकुश नहीं लगाया गया था।

सूत्रों ने कहा कि पूर्व में सिवनी में पदस्थ रहे मुख्य नगर पालिका अधिकारी किशन सिंह ठाकुर के द्वारा भी जन प्रतिनिधियों को गुमराह किया जाकर यह कह दिया जाता था कि मुकेश चौहान से जलकार्य शाखा का प्रभार वापस ले लिया गया है, जबकि जलकार्य शाखा की नस्तियों में उनकी लिखावट साफ देखी जा सकती थी।

इसी तरह सूत्रों ने कहा कि जैसे ही नौ लिपिकों के आदेश जारी हुए वैसे ही पालिका के अंदर घमासान मच गया। नगर पालिका के चुने हुए प्रतिनिधियों के द्वारा जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों सहित भोपाल में अपने आकाओं को फोन घनघनाने आरंभ कर दिये गये। सूत्रों ने कहा कि भ्रष्टाचार में संलिप्त प्रतिनिधि चाहते हैं कि लगभग दो दशकों से एक ही कुर्सी पर जमे मुकेश चौहान की पदस्थापना बरकरार रखी जाये।

इसके साथ ही सूत्रों ने कहा कि इस आदेश में सहायक ग्रेड तीन पर पदस्थ मुकेश चौहान की पदस्थापना निरस्त करवाने के लिये अब उनके द्वारा ब्रह्मास़्त्र का प्रयोग भी किया जा रहा है। उधर, सीएमओ नवनीत पाण्डेय के करीबी सूत्रों का कहना है कि इस मामले में चाहे निंदा प्रस्ताव आये अथवा कुछ और इस आदेश में संशोधन नहीं किया जायेगा।

सूत्रों ने बताया कि आदेश जारी होने के साथ ही अब भ्रष्टाचार में संलिप्त प्रतिनिधियों के द्वारा इस आदेश के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाने की तैयारी की जा रही है। वहीं चर्चाएं यहाँ तक हैं कि आखिर मुकेश चौहान में ऐसी क्या खासियत है कि कुछ खास जन प्रतिनिधियों के द्वारा उन्हें वापस जलकार्य विभाग में लाने के लिये पूरा जोर लगाया जा रहा है।

(क्रमशः जारी)



194 Views.

Related News

(शरद खरे) समाज शास्त्र में औद्योगीकरण और नगरीकरण को एक दूसरे का पर्याय माना गया है। औद्योगीकरण जहाँ होगा वहाँ.
मौसम में बदलाव का दौर है जारी (महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मकर संक्रांति के बाद सूर्य के उत्तरायण होने के.
रतजगा करते हुए कर रहे वोल्टेज बढ़ने का इंतजार (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। लगातार दो तीन वर्षों से अतिवृष्टि और.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड क्षेत्रीय कार्यालय जबलपुर द्वारा सी.एम. हेल्पलाइन में की गयी शिकायत को.
राजेंद्र नेमा ने स्वामी नारायणानंद के द्वारा शंकराचार्य लिखे जाने पर माँगे प्रमाण (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भगवत्पाद आद्यशंकराचार्य द्वारा.
आठ फीसदी ब्लो पर हुई निविदा स्वीकृत, भेजा शासन को अनुमोदन के लिये (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *