पानी की है परेशानी

मुझे शिकायत है छपारा ग्राम पंचायत से। इस पंचायत के द्वारा नागरिकों के लिये पेयजल की आपूर्ति नियमित तरीके से नहीं की जा रही है। कभी-कभी तो पांच दिनों बाद ही पेयजल की आपूर्ति की जाती है। छपारा ग्राम पंचायत की इस तरह की कार्यप्रणाली से नागरिकों को, भीषण गर्मी के दौरान तो पानी के लिये दो-चार होते सहज ही देखा जा सकता है। वर्तमान में शीत ऋतु परवान चढ़ रही है उसके बाद भी लोगों को दूर-दूर से पानी की व्यवस्था करके अपनी आवश्यकताओं को पूरा करना पड़ रहा है।

ऐसी विषम परिस्थितियों के बाद भी छपारा ग्राम पंचायत के द्वारा पेयजल व्यवस्था को दुरूस्त करने की दिशा में कोई कदम नहीं उठाया जा रहा है। पानी के अभाव में यहां के नागरिक नारकीय पीड़ा भोगने के लिये मजबूर से कर दिये गये हैं। छपारा वासियों के लिये परेशानी वाली बात ये है कि इस ग्राम पंचायत के कर्णधारों के द्वारा दूरदर्शिता का भी परिचय कतई नहीं दिया जा रहा है।

शायद यही कारण है कि भविष्य में भी इस क्षेत्र के वाशिंदों को पेयजल की समस्या से जूझते रहना पड़ेगा। जिला प्रशासन भी ग्राम पंचायत की कार्यप्रणाली से अच्छी तरह वाकिफ है लेकिन उसके बाद भी ग्राम पंचायत की मश्कें कसने में, वह रूचि नहीं दिखा रहा है, जिसके चलते छपारा वासी बैनगंगा नदी के तट पर बसे होने के बाद भी पानी की एक-एक बूंद के लिये जद्दोजहद कर रहे हैं।

छपारा ग्राम पंचायत के सरपंच सचिव की कार्यप्रणाली से सभी क्षेत्रवासी आजिज आ चुके हैं लेकिन इस ओर से जन प्रतिनिधियों का मौन भी आश्चर्य जनक रूप से कई संदेहों को जन्म देता है। इन परिस्थितियों में क्षेत्र वासियों को यह समझ में नहीं आ रहा है कि वे अपनी समस्याएं आखिर कहां जाकर रखें जबकि सभी जिम्मेदार, यहां की परिस्थितियों से अच्छी तरह वाकिफ हैं।

एफ.ए.खान

छपारा


अगर आपको भी व्यवहारिक जीवन में किसी से कोई शिकायत है और आप उसे सार्वजनिक करना चाह रहे हैं ताकि लोग उस शिकायत को पढ़कर अपनी गलति का अहसास करते हुए उसे न दोहराएं तो
आप व्हाट्स ऐप नंबर 9425175750, 9584647438 या 9300287551 अथवा मेल आईडी samacharagency@gmail.com ,hindgazette@gmail.com पर मेल कर अपनी शिकायत भेज सकते हैं.

0 Views

Related News

(शरद खरे) जिले की सड़कों का सीना रोंदकर अनगिनत ऐसी यात्री बस जिले के विभिन्न इलाकों से सवारियां भर रहीं.
मण्डी पदाधिकारी ने की थी गाली गलौच, हो गये थे कर्मचारी लामबंद (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। सिमरिया स्थित कृषि उपज.
दिन में कचरा उठाने पर है प्रतिबंध, फिर भी दिन भर उठ रहा कचरा! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। अगर आप.
सौंपा ज्ञापन और की बदहाली की ओर बढ़ रही व्यवसायिक गतिविधियों को सम्हालने की अपील (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिवनी.
जनपद के बाबुओं की लापरवाही का दंश भोग रहीं पंचायतें (सुभाष बकौड़े) घंसौर (साई)। जनपद पंचायत घंसौर में पंचायत ग्रामीण.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। डेंगू से पीड़ित एस.आई. अनुराग पंचेश्वर की उपचार के दौरान जबलपुर में मृत्यु हो गयी है।.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *