पार्षद भी पर्ची देकर मिलेंगे सीएमओ से!

पालिका की अराजकता पर नये सीएमओ ने लगायी लगाम!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। नगर पालिका परिषद के नवागत मुख्य नगर पालिका अधिकारी नवनीत पाण्डेय ने कार्यभार ग्रहण करने के साथ ही पालिका की नब्ज थामने की कोशिश आरंभ कर दी है। नगर पालिका में व्याप्त अराजकता को दूर करने की गरज से तेज तर्रार सीएमओ ने नयी व्यवस्थाएं लागू कर दी हैं।

नगर पालिका के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि नवागत सीएमओ नवनीत पाण्डेय जब पालिका में अपने कक्ष में बैठे रहेंगे तब किसी को भी (पालिका कर्मचारियों को छोड़कर) शेष को मिलने के लिये पहले पर्ची भेजना अनिवार्य कर दिया गया है।

सूत्रों ने बताया कि इसके अलावा नवागत सीएमओ के द्वारा पालिका के कर्मचारियों को ताकीद किया गया है कि वे लापरवाही कतई बर्दाश्त नहीं करेंगे। सूत्रों की मानें तो सीएमओ ने समस्त विभागों के प्रभारियों को निर्देश दिये हैं कि प्रभारियों के द्वारा नस्ती स्वयं ही लेकर सीएमओ से हस्ताक्षर करवाये जायें। अभी तक विभाग के प्रभारी लिपिकों के द्वारा महत्वपूर्ण और उनके हितों को साधने वाली नस्तियों के अलावा अन्य नस्तियों को दैनिक वेतन भोगी कर्मचारियों के माध्यम से सीएमओ तक भेजा जाता था।

इसके साथ ही सूत्रों ने बताया कि शुक्रवार को एक पार्षद अपनी समस्या को लेकर सीएमओ से मिलने गये। सीएमओ के चेंबर के बाहर बैठे भृत्य के द्वारा उनसे पर्ची देने की बात कही गयी। जब पार्षद बिना पर्ची के अंदर पहुँच गये और अपनी समस्या से सीएमओ को अवगत कराया तो सीएमओ ने पहले तो उनकी समस्या तो सुनी पर बाद में उन्होंने पार्षद से कहा कि अगली बार से जब भी वे (पार्षद) मिलने आयें तो पर्ची अवश्य भेजें।

सीएमओ नवनीत पाण्डेय के इन तेवरों के बाद नगर पालिका में तरह – तरह की चर्चाओं का बाजार गर्माने लगा है। चर्चाओं के अनुसार नगर पालिका परिषद की कार्यप्रणाली से शहर में भारतीय जनता पार्टी का जनाधार तेजी से कम होता जा रहा है। बताया जाता है कि इस संबंध में भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष राकेश पाल सिंह के द्वारा भी गत दिवस पालिका अध्यक्ष को इशारों ही इशारों में अवगत करा दिया गया था।

समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया से चर्चा के दौरान सीएमओ नवनीत पाण्डेय ने कहा कि वे जनता की सेवा के लिये उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि साढ़े दस से साढ़े पाँच बजे तक जनता अपनी समस्या के लिये उनसे संपर्क कर सकती है। अगर आवश्यक कार्य है तो जनता साढ़े दस के पहले और साढ़े पाँच के बाद भी उनसे संपर्क कर सकती है। नवनीत पाण्डेय ने आगे बताया कि वे दिन में या तो कार्यालय में या वार्ड का भ्रमण कर जमीनी हकीकत से रूबरू होंगे।

माना जा रहा है कि सालों से मनराखन लाल की छवि वाले मुख्य नगर पालिका अधिकारियों के द्वारा नगर पालिका में जिस तरह की कार्यप्रणाली को अंगीकार किया गया था, उसी की परिणिति के स्वरूप आज शहर की जनता को बुनियादी सुविधाएं तक मयस्सर न होना ही सामने आता दिख रहा है।



0 Views

Related News

(शरद खरे) सिवनी शहर में जहाँ जिसका मन आया उस ठेकेदार या नगर पालिका के कारिंदों ने गति अवरोधक बना.
प्रभारी सीएमएचओ का बस नहीं था चिकित्सकों पर! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। निःशक्त, दिव्यांग विद्यार्थियों के चिकित्कीय मूल्यांकन शिविरों में.
जमीनी स्तर पर महज श्रृद्धांजलि देकर और जयंति मना रही काँग्रेस! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। विधानसभा चुनावों की पदचाप के.
शुक्रवार एवं शनिवार को रह सकती है साल की सबसे सर्द रात! (महेश रावलानी) सिवनी (साई)। उत्तर भारत की सर्दी.
पालिका के चुने हुए प्रतिनिधियों के पेट में क्यों उठने लगी मरोड़! (संजीव प्रताप सिंह) सिवनी (साई)। नगर पालिका परिषद.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। प्रतिष्ठित खेल शिक्षक धन कुमार यादव के द्वितीय पुत्र अनन्त यादव की पार्थिव देह मंगलवार को.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *