पालिका ने फिर दी गीदड़ भभकी!

 

पशु पालकों को पालिका ने दी अंतिम चेतावनी

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। शहर से आवारा पशुओं को हकालने में नाकाम रही नगर पालिका परिषद के द्वारा एक बार फिर गीदड़ भभकी देते हुए पशु पालकों को चेतावनी दी गयी है। बार-बार चेतावनी देने के बाद किसी तरह की कार्यवाही न किये जाने से अब पशु पालकों के हौसले पूरी तरह बुलंदी पर ही नजर आ रहे हैं।

मुख्य नगर पालिका अधिकारी ने एक बार पुनः नगर के ऐसे सभी पशु पालक जो गाय, भैंस, कुत्ते, सूअर, गधे, घोड़े, बकरी आदि पालते हैं उन्हें अपने जानवरों को नियंत्रण में रखने की सूचना दी है। इस संदर्भ में जारी अपनी विज्ञप्ति में मुख्य नगर पालिका अधिकारी द्वारा कहा गया है कि नगर में घूमने वाले आवारा पशुओं के संदर्भ में पशु पालकों को पूर्व में भी सूचित किया जा चुका है और ध्वनि विस्तारक यंत्र के माध्यम से भी यह सूचना प्रसारित की जा रही है इसके बाद भी शहर में जहाँ-तहाँ आवारा पशु घूम रहे हैं।

नगर पालिका अधिकारी ने कहा है कि इस सूचना के बाद यदि पशु पालकों ने अपने जानवरों को नियंत्रण में नहीं रखा तो ऐसे पशु पालकों के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की जाकर न्यायालयीन कार्यवाही की जायेगी और आवारा घूमते पशुओं को पकड़कर शहरी सीमा से बाहर छोड़ा जायेगा जिस पर होने वाले समस्त खर्च की जवाबदारी भी पशु पालक से ही वसूली जायेगी।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि नगर में आवारा घूमते जानवरों के कारण न केवल आवागमन बाधित हो रहा है बल्कि इनके मुख्य मार्गों पर घूमने या बैठने से छोटी-बड़ी दुर्घटनाओं की संभावना भी बनी रहती है। इतना ही नहीं घूमते कुछ पशुओं से संक्रामक बीमारियां फैलने का भी खतरा बना रहता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए पालिका प्रशासन ने सभी पशु पालकों को अंतिम चेतावनी देते हुए अपने जानवरों को पूर्ण सुरक्षा में रखने की अपील की है।

उधर, नगर पालिका के सूत्रों ने बताया कि मुख्य नगर पालिका अधिकारी नवनीत पाण्डेय को पालिका के ही जिम्मेदार अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा यह कहकर गुमराह किया जाता रहा है कि शहर में घूम रहे आवारा पशुओं के पालकों की जानकारी जुटाना बहुत ही कठिन काम है। इसके चलते शहर में आवारा पशुओं को पकड़ने या उन्हें शहरी सीमा से बाहर भेजने के काम को अंजाम देने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है।



23 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *