पालिका ने संगठन को दिखायी जमीन

संगठन भी नहीं रूकवा पाया निंदा प्रस्ताव

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय में बुधवार का दिन गहमा गहमी भरा रहा है। नगर पालिका में सीमओ और एई के खिलाफ निंदा प्रस्ताव को आखिरकार भाजपा शासित नगर पालिका परिषद के द्वारा संगठन की मंशा के खिलाफ जाकर पारित करवा ही लिया गया।

भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि नगर पालिका परिषद में चुनी हुई परिषद और नौकरशाही के बीच दिखावटी वर्चस्व की जंग के पीछे असल खेल भ्रष्टाचार पर अंकुश का चल रहा है। नवागत सीएमओ नवनीत पाण्डेय के द्वारा पिछले नियम विरूद्ध स्वीकृत हुए कामों की नस्तियों को हाथ लगाने से मना किया गया है, जो संगठन न्याय संगत ही मान रहा है।

सूत्रों ने कहा कि दरअसल, पूरा का पूरा विवाद वैध और अवैध कॉलोनी का है। सूत्रों ने कहा कि नगर पालिका के विवादित लिपिक की सीट बदलते ही पालिका के कुछ चुने हुए प्रतिनिधियों के पेट में मरोड़ इसलिये उठने लगी थी क्योंकि उस लिपिक के हटते ही अवैध कॉलोनियों में निर्माण कार्य का ताना-बाना नहीं बुना जा सकता था।

इसके साथ ही सूत्रों ने कहा कि संगठन को इस बात की जानकारी भी मिली है कि भाजपा शासित नगर पालिका परिषद के कुछ चुने हुए प्रतिनिधियों के द्वारा उक्त लिपिक के जरिये अवैध कॉलोनियों में निर्माण कार्य के लिये कॉलोनाईजर्स से सांठ-गांठ की जाकर शहर भर से आठ अंकों में राशि भी पेशगी के रूप में वसूल कर ली गयी थी।

सूत्रों ने कहा कि नवागत सीएमओ नवनीत पाण्डेय के आने के बाद अवैध कॉलोनियों में निर्माण कार्य की नस्तियां उस तरह परवान नहीं चढ़ पा रहीं थीं जिस तरह कि पूर्व के प्रभारी सीएमओ के रहते काम हुआ करते थे। नवागत सीएमओ के आने के बाद अवैध कॉलोनियों में निर्माण कार्य पर विराम लगने की खबरों से वे कॉलोनाईजर्स बेचैन हो गये जिनके द्वारा पेशगी में रकम दी गयी थी।

इसी तरह सूत्रों ने कहा कि अब जबकि कॉलोनाईजर्स को अवैध कॉलोनी में पालिका की मद से विकास कार्य होने के मार्ग प्रशस्त होते नहीं दिखे और उन्हें लगा कि इन कॉलोनियों में उन्हें खुद ही विकास कार्य कराना होगा तो उनके द्वारा पेशगी में दी गयी रकम का तकादा करना आरंभ कर दिया गया।

सूत्रों ने बताया कि जैसी ही इस तरह की परिस्थितियां बनीं वैसे ही चुनी हुई परिषद के कुछ स्वयंभू चाणक्य नेताओं के द्वारा सीएमओ के खिलाफ षणयंत्र का ताना-बाना बुनना आरंभ कर दिया गया। इसके बाद सीएमओ और चुनी हुई परिषद के बीच शह और मात का खेल आरंभ हो गया।

इसके साथ ही सूत्रों ने कहा कि चुनी हुई परिषद के कुछ चुने हुए प्रतिनिधियों के द्वारा सीएमओ को विकास कार्य की अनुमतियां नहीं दिये जाने का दोषी करार दिया जा रहा है। सूत्रों ने कहा कि जो भी पार्षद सीएमओ के द्वारा काम न किये जाने का हवाला दे रहे हैं वे जनता के सामने यह बात भी स्पष्ट करें कि सीएमओ के द्वारा जो नस्तियां रोककर रखी गयीं हैं उनका विषय क्या है? और वे नियमानुसार सही हैं अथवा गलत!

सूत्रों ने कहा कि संगठन के द्वारा सीएमओ और चुनी हुई परिषद के कामकाज का आंकलन भी कराया गया है। सूत्रों की मानें तो संगठन इस नतीजे पर पहुँचा था कि चुनी हुई परिषद में भाजपा के पार्षद उपेक्षित थे और काँग्रेस के पार्षदों के ज्यादा काम हो रहे थे। इसके अलावा पालिका की कार्यप्रणाली से शहर में भाजपा का जनाधार गिरता जा रहा था।

इसी तरह सूत्रों ने कहा कि बुधवार को भाजपा के जिला कार्यालय में भाजपा के पार्षदों को बुलाकर उनसे रायशुमारी के बाद यह तय किया गया था कि पालिका में सीएमओ नवनीत पाण्डेय की कार्यप्रणाली को देखते हुए उनके खिलाफ निंदा प्रस्ताव को गिराते हुए सहायक यंत्री के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाया जाये।

सूत्रों ने कहा कि संगठन उस समय हतप्रभ रह गया जब संगठन के नेताओं को यह पता चला कि आधा दर्जन पार्षदों के रायशुमारी के लिये बाहर जाते ही इस प्रस्ताव को भाजपा शासित नगर पालिका परिषद के द्वारा पारित कर दिया गया। सूत्रों ने कहा कि भाजपा शासित नगर पलिका के द्वारा भाजपा संगठन को ही जमीन दिखाने की कोशिश की गयी है जिसके बाद बने समीकरणों का परिणाम क्या होगा यह आने वाला समय ही बतायेगा।



35 Views.

Related News

(शरद खरे) शायद ही कोई ऐसा दिन होता हो जब सिवनी में सड़क दुर्घटना में घायल या मरने वालों की.
स्वास्थ्य विभाग के रंगारंग बसंत पंचमी कार्यक्रम में टूटीं सारी मर्यादाएं! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। जिला चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। यूरोप के आधा दर्जन से ज्यादा देशों में पढ़ी जाने वाली स्ट्रेस टू हेप्पीनेस नामक किताब.
मामला मोहगाँव खवासा सड़क निर्माण का, शायद ही कुछ आऊट सोर्स करे दिलीप बिल्डकॉन (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मौसम में लगातार परिवर्तन जारी हैं। बुधवार से शहर में सर्दी का सितम तेज हो सकता.
40 एकड़ में बनेगा क्रिकेट का विशाल स्टेडियम बींझावाड़ा में (प्रदीप खुट्टू श्रीवास) सिवनी (साई)। सिवनी में वर्षों से क्रिकेट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *