पेंशनर्स हो रहे भाजपा से विमुख!

 

सिविल सर्जन के अड़ियल रवैये से रूष्ठ हैं पेंशनर्स

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। जिले के सरकारी नुमाईंदों के द्वारा बनाये जा रहे अघोषित और मनमाने नियम कायदों का खामियाजा प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी को भोगने पर मजबूर होना पड़ रहा है। जिला चिकित्सालय प्रशासन के तुगलकी फरमानों से पेंशनर्स अब भाजपा से विमुख होते दिख रहे हैं।

पेंशनर्स के बीच चल रही चर्चाओं पर अगर यकीन किया जाये तो जिला चिकित्सालय की सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डॉ.पुष्पा तेकाम के अघोषित तुगलकी फरमानों के बाद पेंशनर्स के द्वारा अस्पताल से दवाएं लेना लगभग बंद ही कर दिया गया है। उल्लेखनीय होगा कि डॉ.पुष्पा तेकाम के पति अशोक तेकाम पूर्व में जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष रह चुके हैं और अगले विधानसभा चुनावों में उनके बरघाट से भाजपा की टिकिट पर चुनाव लड़ने की चर्चाएं तेज हो गयी हैं।

जिला चिकित्सालय के भण्डार के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डॉ.पुष्पा तेकाम के द्वारा जबसे यह फरमान जारी किया है कि पेंशनर्स को दवाएं तभी दी जायें जब वे अस्पताल में पदस्थ विशेषज्ञ चिकित्सक से परीक्षण कराकर उनसे परामर्श कर दवाएं लिखवायें।

शिक्षा विभाग से सेवानिवृत्त भोला सिंह ठाकुर ने समाचार एजेेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि वे और उनकी पत्नि बीमार रहते हैं। अस्पताल में नेत्र रोग विशेषज्ञ के साथ ही साथ सोराईसिस का कोई विशेषज्ञ नहीं है। इन परिस्थितियों में वे किसे दिखाकर किससे परामर्श लें?

भोला सिंह ठाकुर ने कहा कि जबसे जिला चिकित्सालय की कमान भाजपा नेता अशोक तेकाम की पत्नि डॉ.पुष्पा तेकाम को सौंपी गयी है तब से पेंशनर्स को दवाओं के लिये यहां-वहां भटकना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि जिला कलेक्टर गोपाल चंद्र डाड अगर चाहें तो जनवरी के बाद अब तक जिला चिकित्सालय से कितने पेंशनर्स को दवाएं लिखकर दी गयी हैं इसकी तसदीक कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि जब सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डॉ.पुष्पा तेकाम यह बात भली भांति जानती हैं कि जिला चिकित्सालय में अधिकांश रोगों के विशेषज्ञ चिकित्सक ही पदस्थ नहीं हैं तो इस तरह के तुगलकी फरमान जारी करने का क्या उद्देश्य हो सकता है? उन्होंने कहा कि इससे साफ यही जाहिर हो रहा है कि पेंशनर्स के द्वारा इसी बहाने शिवराज सिंह चौहान के नेत्तृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी को कोसा जाये और पेंशनर्स भाजपा से विमुख हो जायें।

भोला सिंह ठाकुर ने कहा कि उनके द्वारा सीएम हेल्प लाईन में की गयी शिकायत में भी सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डॉ.पुष्पा तेकाम के द्वारा यह जवाब दे दिया गया है कि आवेदक शत प्रतिशत दवाएं बाजार से क्रय करना चाह रहा है? जो कि अनुचित है।

उन्होंने कहा कि पेंशनर्स हो या अन्य कोई उसके द्वारा वही जीवन रक्षक दवाएं जो जरूरी होंगी उनका ही सेवन किया जायेगा, पर सिविल सर्जन सह मुख्य अस्पताल अधीक्षक डॉ.पुष्पा तेकाम को पता नहीं क्या लगता है जिसके चलते उनके द्वारा इस तरह का नवाचार किया जा रहा है जिससे पेंशनर्स बुरी तरह परेशान हैं और भाजपा सरकार को कोसते ही नजर आते हैं।

 



16 Views.

Related News

स्वास्थ्य विभाग के रंगारंग बसंत पंचमी कार्यक्रम में टूटीं सारी मर्यादाएं! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। जिला चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। यूरोप के आधा दर्जन से ज्यादा देशों में पढ़ी जाने वाली स्ट्रेस टू हेप्पीनेस नामक किताब.
मामला मोहगाँव खवासा सड़क निर्माण का, शायद ही कुछ आऊट सोर्स करे दिलीप बिल्डकॉन (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मौसम में लगातार परिवर्तन जारी हैं। बुधवार से शहर में सर्दी का सितम तेज हो सकता.
40 एकड़ में बनेगा क्रिकेट का विशाल स्टेडियम बींझावाड़ा में (प्रदीप खुट्टू श्रीवास) सिवनी (साई)। सिवनी में वर्षों से क्रिकेट.
0 जिले में 31 मई तक ध्वनि विस्तारक यंत्रों पर पूर्णतः प्रतिबंध (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। परीक्षाओं के मद्देनजर जिला.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *