प्रत्याशी जिताने सीएम ऑफिस से आया फोन!

एनएसयूआई जा सकती है उच्च न्यायालय : ऋषभ भारद्वाज

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। छात्र संघ चुनावों में भाजपा की सत्ता का जमकर दुरूपयोग हुआ है। छात्र संघ चुनावों के परिणाम हर हाल में अपने पक्ष में करवाने के लिये विद्यार्थियों के अभिभावकों को मुख्यमंत्री कार्यालय तक से फोन आये हैं। इस बात के प्रमाण हमारे पास हैं।

उक्ताशय की बात समता मंच एवं एनएसयूआई के उम्मीदवार एवं बीए के थर्ड सेम के कक्षा प्रतिनिधि ऋषभ भारद्वाज द्वारा जारी विज्ञप्ति में कही गयी है। उन्होंने कहा है कि शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में संपन्न हुए छात्रसंघ चुनावों में समता मंच और भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन को विद्यार्थियों का जनसमर्थन मिलता देख भाजपा के आला नेताओं को एबीवीपी की हार का अनुमान लगने लगा था।

विज्ञप्ति के अनुसार पराजय को विजय में बदलने के लिये भाजपा के बड़े नेताओं के द्वारा महाविद्यालय में मेरिट के आधार पर मनोनीत कक्षा प्रतिनिधियों को एबीवीपी समर्थित उम्मीदवारों के पक्ष में वोट देने के लिये प्राध्यापकों के माध्यम से दबाव बनाया गया। वे जब प्राध्यापकों पर दबाव नहीं बना पाये तब सरपंच, पार्षद से लेेकर मंत्री दर्जा प्राप्त लोगों ने तक इस मामले में प्रयास किये।

जारी की गयी विज्ञप्ति के अनुसार इसके बाद भी जब बात नहीं बनीं तो छात्र संघ चुनावों को अपने पक्ष में करने के लिये विद्यार्थियों के अभिभावकों को मुख्यमंत्री कार्यालय तक से फोन किये गये हैं, जिसके प्रमाण उनके पास हैं और जो समय आने पर अदालत में प्रस्तुत किये जायेंगे। उन्होंने कहा है कि चुनाव में सरकार की नीतियों से त्रस्त विद्यार्थियों के द्वारा समता मंच और एनएसयूआई के पक्ष में जमकर मतदान किया और कक्षा प्रतिनिधि दिये।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि जिस स्थान पर मतगणना हुई उस स्थान पर कम से कम उम्मीदवारों को उन्हें प्राप्त मतों की जानकारी देना था, किन्तु ऐसा नहीं हुआ। विज्ञप्ति में आरोप लगाया गया है कि कुछ मतपत्र बदल दिये गये और कुछ मतपत्र निरस्त कर दिये गये।

जारी की गयी विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस चुनाव में सर्वोच्च न्यायालय के दिशा निर्देशों का खुलेआम दुरूपयोग किया गया है। वहीं बताया गया है कि लिंगदेह समिति की अनुशंसाओं को नकार दिया गया है, जिसके चलते चुनाव शून्य घोषित करने जल्द ही माननीय उच्च न्यायालय की शरण ली जा सकती है।



0 Views

Related News

  (शरद खरे) सिवनी जिले में अब तक बेलगाम अफसरशाही, बाबुओं की लालफीताशाही और चुने हुए प्रतिनिधियों की अनदेखी किस.
  मानक आधार पर नहीं बने शहर के गति अवरोधक (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय सहित जिले भर में.
  धड़ल्ले से धूम्रपान, तीन सालों में एक भी कार्यवाही नहीं (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। रूपहले पर्दे के मशहूर अदाकार.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सर्दी का मौसम आरंभ होते ही हृदय और लकवा के मरीजों की दिक्कतें बढ़ने लगती.
  दिल्ली के पहलवान कुलदीप ने जीता खिताब (फैयाज खान) छपारा (साई)। बैनगंगा के तट पर बसे छपारा नगर में.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिर पर टोपी, गले में लाल गमछा, साईकिल पर पर्यावरण के संदेश की तख्ती और.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *