बहन से जुदाई नहीं हुई बर्दाश्त तो पति से शादी करवा कर बना लिया सौतन

कोई औरत नहीं होगी जो चाहेगी कि उसका पति उसकी सौतन ले आए लेकिन पाकिस्तान की एक महिला ऐसी है जिसने अपनी बहन को ही अपनी सौतन बना लिया। जी, यह बिल्कुल सच है और यह मामला पाकिस्तान के मुल्तान का बताया जा रहा है।

पाकिस्तानी मीडिया में इन दिनों एक वीडियो इसी कहानी के साथ वायरल हो रहा है। हालांकि, यह स्पष्ट नहीं है कि दोनों बहने ही हैं। खबरों के अनुसार वीडियो में दिखाया गया है कि फराज नाम के शख्स की करीब डेढ़ महीने पहले हुई थी। कुछ ही हफ्ते के बाद उसकी बीवी अलीना ने अपनी चचेरी बहन अलिस्मा से फराज की दूसरी शादी करवा दी।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अलीना का कहना था कि वो अलिस्मा बचपन से ही साथ रही हैं। शादी के बाद वो अलिस्मा से दूर नहीं रह पा रही थी। इसके बाद उसने अपने पति की सहमति लेकर उनकी शादी अपनी बहन से करवा ली। वहीं अलिस्मा का भी यही कहना है। दोनों ने बताया कि वे बचपन से ही साथ रही हैं, दोनों का स्कूल भी एक ही था। वे हर काम वे साथ साथ करती थीं, इसलिए उन्‍हें एक दूसरे की आदत पड़ गई।

यही वजह है कि शादी के बाद जब अलीना पति के घर में आई तो कुछ दिन में ही बेचैन हो गई। उसे अपनी हमजोली की याद सताने लगी और इसी के चलते उसने अपने शौहर से ही अलिस्‍मा का भी निकाह करवाने का फैसला ले लिया।

अब फराज, अलीना और अलिस्मा एक साथ अपनी जिंदगी बिताकर खुश हैं लेकिन उनके इस फैसले से समाज और परिवार उनका दुश्मन बन गया है। फराज ने बताया कि उसकी दोनों बीवियों के घरवाले उससे खफा हैं और लगातार जान से मारने की धमकी दे रहे हैं।

दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे भी हैं जो सोशल मीडिया पर इस मामले के जम कर मजे ले रहे हैं। कुछ इसे इस्लामिक रीति-रिवाजों के तहत सही मान रहे हैं। जबकि कुछ का कहना है दो-दो बीवियां पाकर लड़के की किस्मत चमक गई है। कुछ लोग इसे इन तीनों निजी मामला बताकर दूसरों को दखल न देने की सलाह दे रहे हैं।

(साई फीचर्स)



4 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *