बीस दिन बाद किंदरई पुलिस ने दर्ज की शिकायत!

दर-दर भटकती रही फरियादी महिला, नहीं हो पायी सुनवायी!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। घंसौर तहसील के धरमूकोल (किंदरई) निवासी एक पैंतालीस वर्षीय महिला के द्वारा जबलपुर से आये एक पण्डा के द्वारा उसके साथ अभद्रता किये जाने और उसका अनादर किये जाने का मामला किंदरई थाने में दर्ज कराया गया है। पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के किंदरई पहुँचने के बाद उक्त महिला की फरियाद पर पुलिस ने मामला कायम किया है।

किंदरई थाना सूत्रों ने समाचार एजेसी ऑफ इंडिया को बताया कि उक्त महिला ने पुलिस को बताया कि वह महिला मजदूरी करती है, पढ़ी लिखी नहीं है पर हस्ताक्षर कर लेती है। उसने बताया कि 12 अक्टूबर को धरमूकोल गाँव में जबलपुर का निवासी एक पण्डा ओमकार विश्वकर्मा आया और खैरमाई शीतला माता मंदिर में हवन पूजन के दौरान उस पण्डा के चेले उस महिला के घर गये और उसके घर से भगवान श्ंाकर का त्रिशूल एवं देवी का बाना लेकर शीतला माता मंदिर पहुँच गये।

सूत्रों ने बताया कि उक्त महिला ने पुलिस को बताया है कि इस समय वह महिला भी गाँव वालों के साथ शीतला माता मंदिर में थी। इसी दौरान उसे देवी का भार आ गया। वहीं, उपस्थित पण्डा ओमकार विश्वकर्मा ने कहा कि यह डायन चुडैल आ गयी है। इतना कहकर उक्त पण्डा के द्वारा उस महिला को मारने पीटने की बात गाँव वालों से कही गयी। इसके बाद रात लगभग आठ बजे वह पण्डा उस महिला को लेकर उसके घर गया और उसके सिर एवं दोनों हाथों में चांवल के दाने डालकर मुर्गी से चुगवाये।

इसके साथ ही सूत्रों ने बताया कि अपनी शिकायत में उसने कहा है कि इसके बाद उस पण्डा के द्वारा जादू टोने का शक जतलाकर उस महिला के बालों की लट काट ली गयी। उसने कहा कि पण्डा यह जानता था कि वह महिला आदिवासी समाज की है इसके बाद भी उक्त पण्डा के द्वारा उस महिला को मानसिक रूप से परेशान किया जाकर उसका निरादर किया गया।

सूत्रों ने बताया कि उक्त महिला ने पुलिस को बताया है कि जब महिला ने पण्डा को ऐसा करने से मना किया तो उस पण्डा ने उस महिला को धमकी दी कि अगर वह महिला पुलिस के पास जाकर रिपोर्ट करेगी तो वह (पण्डा) उसे जान से मार देगा। उसने पुलिस को यह भी बताया कि उक्त पण्डा के द्वारा उसके पति के सिर के कुछ बाल भी काटे गये और उसके पति के सिर और जीभ पर चांवल के दाने रखकर मुर्गी से चुगवाये गये।

किंदरई पुलिस के द्वारा चार नवंबर को पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के किंदरई पहुँचने के बाद उक्त महिला की शिकायत पर धारा 354, 355, 506, अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (नृशंसता निवारण) अधिनियम 1989 की धारा 3(2)(5) क एवं अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (नृशंसता निवारण) अधिनियम 3य, ख के तहत मामला दर्ज कर विवेचना आरंभ कर दी गयी है।

सूत्रों ने बताया कि उक्त महिला के द्वारा इसके पहले जिला पुलिस अधीक्षक को एक शिकायती पत्र देकर इस बात की जानकारी भी दी गयी थी, जिसमें उसने 12 अक्टूबर की घटना के संबंध में 15 अक्टूबर को किंदरई थाना जाकर शिकायत करने की बात कही जाकर अब तक किसी तरह की कार्यवाही नहीं होने की बात कही थी। इस पत्र में उक्त महिला के द्वारा यह भी कहा गया था उक्त पण्डा के द्वारा उसके आधे वस्त्र उतरवा लिये गये थे। महिला ने पुलिस को बताया है कि उसे और उसके परिवार को लगातार ही इस मामले में धमकियां मिल रहीं हैं।



0 Views

Related News

  (शरद खरे) सिवनी जिले में अब तक बेलगाम अफसरशाही, बाबुओं की लालफीताशाही और चुने हुए प्रतिनिधियों की अनदेखी किस.
  मानक आधार पर नहीं बने शहर के गति अवरोधक (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय सहित जिले भर में.
  धड़ल्ले से धूम्रपान, तीन सालों में एक भी कार्यवाही नहीं (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। रूपहले पर्दे के मशहूर अदाकार.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सर्दी का मौसम आरंभ होते ही हृदय और लकवा के मरीजों की दिक्कतें बढ़ने लगती.
  दिल्ली के पहलवान कुलदीप ने जीता खिताब (फैयाज खान) छपारा (साई)। बैनगंगा के तट पर बसे छपारा नगर में.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिर पर टोपी, गले में लाल गमछा, साईकिल पर पर्यावरण के संदेश की तख्ती और.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *