भारतीय मजदूर संघ की दिल्ली में रैली 17 को

सिवनी से होंगे 100 कर्मचारी-मजदूर शामिल : पटेल

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। भारतीय मजदूर संघ की सिवनी शाखा की एक बैठक बुधवार 01 नवंबर को सायंकाल 06 बजे संपन्न हुई। उक्त बैठक क्षेत्रीय संगठन मंत्री (मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़) धरमदास शुक्ला की अध्यक्षता में आयोजित की गयी थी।

इस बैठक के दौरान 17 नवंबर को दिल्ली में ऐतिहासिक रैली को सफल बनाने के संबंध में चर्चा की  गयी। संघ के क्षेत्रीय संगठन मंत्री श्री शुक्ला ने इस अवसर पर कहा कि भारतीय मजदूर संघ, विदेशी पूंजी निवेश, अर्थ व्यवस्था में मंदी को रोकने, श्रम आधारित क्षेत्रों के लिये प्रोत्साहन पैकेज, मनरेगा कार्यों को 200 दिन करने व पैसा सीधे कर्मचारी – मजदूर के बैंक खातों में डालने, नये रोजगार सौजन्य की प्रक्रिया तेज करने, मजदूरों, आम जनता की क्रयशक्ति मजबूत करने, जैसे श्रम क्षेत्र के ज्वलंत मुद्दों पर राष्ट्रीय माँग पत्र सौंपेगा। उन्होंने बताया कि इसकी घोषणा कानुपर राष्ट्रीय अधिवेशन मई 2017 में की गयी थी। यद्यपि देश के सभी प्रमुख उद्योगों के कर्मचारी किसी न किसी समस्या से प्रभावित हैं, जिन प्रमुख माँगों को रैली में ज्ञापन में लिया जायेगा उन्हें उद्योगों के माध्यम से भी समाहित किया जायेगा।

इसके साथ ही सौंपे जाने वाले ज्ञापन में अन्य प्रमुख मुद्दों के तहत ठेका प्रथा व जिनिजकरण पर रोक लगाने तथा समान कार्य का समान वेतन देने, श्रम कानूनों के पालन हेतु श्रम विभाग को मजबूत बनाने, सरकारी विभागों में भर्ती पर लगी रोक हटाने व स्थायी कार्य के लिये स्थायी कर्मचारी भर्ती करने, सभी अकुशल मजदूरों को आवश्यकता पर आधारित न्यूनतम वेतन 18000 रूपये देने, सरकारी उपक्रमों व कारखानों को प्राईवेट उद्योगपतियों को बेचना बंद करने, सभी कर्मचारियों को 20 प्रतिशत की दर से बोनस का भुगतान करने व अधिकतम की सीमा हटाने, असंगठित मजदूरों के लिये सामाजिक सुरक्षा बोर्ड का गठन करने, ईपीएफ की न्यूनतम पेंशन 3500 रूपये प्रतिमाह की दर से लागू करने, आँगनवाड़ी आशा कर्मचारी, मिड डे मिल कर्मचारी को सरकारी कर्मचारी घोषित करने, खुदरा व्यवसाय में विदेशी निवेश बंद करने, सभी उद्योगों के समझौतों में यूनियन बनाने का मौलिक अधिकार छीनना बंद करने, निजि उद्योग जैसे जूट, टेक्सटाईल, सीमेंट, कागज, शुगर, इंजीनियरिंग, डिस्टलरी आदि के मजदूरों के लिये वेतन बोर्डों का गठन करने, प्राईवेट ट्रांसपोर्ट के कर्मचारियों के लिये श्रम कल्याण बोर्ड का गठन करने, मजीठिया आयोग की सिफारिशें लागू करने जैसी माँगें शामिल रहेंगी।

आयोजित की गयी बैठक में भारतीय मजदूर संघ के जिलाध्यक्ष ने कहा कि 17 नवंबर को दिल्ली में आयोजित रैली में जिले से लगभग 100 कर्मचारी – मजदूर सम्मिलित होंगे। उक्त बैठक के दौरान जी.एस. तिवारी तहसील अध्यक्ष, संजय तिवारी जिला सचिव, पन्नालाल उपाध्याय लोक निर्माण विभाग, शिवशंकर राठी वन विभाग, सुनील सनोडिया वन विभाग राज्य कर्मचारी संघ सिवनी, जितेन्द्र ठाकुर मंत्री, तोमेश्वर पाण्डे उपाध्यक्ष, भूपेन्द्र ठाकुर उपाध्यक्ष, मुरारी लाल सोनी सहमंत्री भारतीय मजदूर संघ सिवनी भी उपस्थित रहे।



0 Views

Related News

  (शरद खरे) सिवनी जिले में अब तक बेलगाम अफसरशाही, बाबुओं की लालफीताशाही और चुने हुए प्रतिनिधियों की अनदेखी किस.
  मानक आधार पर नहीं बने शहर के गति अवरोधक (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय सहित जिले भर में.
  धड़ल्ले से धूम्रपान, तीन सालों में एक भी कार्यवाही नहीं (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। रूपहले पर्दे के मशहूर अदाकार.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सर्दी का मौसम आरंभ होते ही हृदय और लकवा के मरीजों की दिक्कतें बढ़ने लगती.
  दिल्ली के पहलवान कुलदीप ने जीता खिताब (फैयाज खान) छपारा (साई)। बैनगंगा के तट पर बसे छपारा नगर में.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिर पर टोपी, गले में लाल गमछा, साईकिल पर पर्यावरण के संदेश की तख्ती और.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *