भावांतर के भंवर में फंसे मण्डी सचिव!

अचानक ही हुआ बालाघाट स्थानांतरण, हुए कार्यमुक्त

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। भावांतर योजना की भेंट सिवनी कृषि उपज मण्डी समिति के सचिव सुभाष तिवारी चढ़ गये हैं। बुधवार को मण्डी प्रांगण में हुए हंगामे को राज्य शासन ने गंभीरता से लेते हुए मण्डी सचिव सुभाष तिवारी को बालाघाट स्थानांतरित करते हुए उन्हें ब्रहस्पतिवार को ही कार्यमुक्त कर दिया।

किसान कल्याण विभाग के सूत्रों के हवाले से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के भोपाल ब्यूरो से नंद किशोर ने बताया कि शिवराज सिंह चौहान के द्वारा भावांतर योजना में किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जा रही है। उनके द्वारा विभाग के अधिकारियों को इस आशय के संकेत पहले ही दिये जा चुके हैं।

सूत्रों ने बताया कि इसके बाद भी बुधवार को सिवनी की सिमरिया स्थित कृषि उपज मण्डी में हुए हंगामे और छः सौ रूपये से बोली आरंभ करने की बात राज्य शासन तक पहुँची। सूत्रों ने बताया कि वैसे भी भावांतर योजना को लेकर जमकर भ्रम फैलाया जा रहा है, जिससे राज्य सरकार चिंता में है।

इसके साथ ही सूत्रों का कहना है कि किसानों को मिलने वाला भावांतर तय हो चुका है उसके बाद भी अगर सिवनी में बोली महज छः सौ रूपये से आरंभ हुई है तो यह मण्डी के अधिकारी और कर्मचारियों की गलती है। इस तरह की घटनाओं से प्रदेश में बहुत अच्छा संदेश नहीं जाने की आशंका से ही मण्डी सचिव सुभाष तिवारी को तत्काल ही न केवल स्थानांतरित कर दिया गया बल्कि ब्रहस्पतिवार को ही उन्हें पदमुक्त भी कर दिया गया।

बताया जाता है कि मण्डी सचिव सुभाष तिवारी के द्वारा मण्डी में श्री गभने को कार्यभार सौंप दिया गया है। उधर, बालाघाट से श्री परते को स्थानांतरित कर सिवनी कृषि उपज मण्डी का सचिव बनाया गया है।

चर्चाओं के अनुसार किसान कल्याण मंत्री गौरी शंकर बिसेन बालाघाट में पदस्थ मण्डी सचिव श्री परते की कार्य्रप्रणाली से संतुष्ट नहीं थे। वे श्री परते को बालाघाट से अन्यत्र स्थानांतरित करना चाह रहे थे। इसी बीच सिवनी की सिमरिया स्थित कृषि उपज मण्डी में बुधवार को हुए हंगामे के बाद इन दोनों ही अधिकारियों को आपस में बदल दिया गया है।

मण्डी में चल रहीं चर्चाओं के अनुसार भावांतर योजना के भंवर में सुभाष तिवारी फंस गये हैं। चर्चाओं के अनुसार उनके द्वारा किसानों की बजाय व्यापारियों का हित ही साधा जा रहा था। इस बात की शिकायत लगातार ही उच्च स्तर पर हो रही थी। चर्चाओं के अनुसार मण्डी में किसानों के साथ लगातार ही इस तरह का अन्याय चल रहा है और सिवनी के भाजपाई सांसद बोध सिंह भगत तथा निर्दलीय विधायक दिनेश राय के द्वारा मण्डी में किसानों की सुध न लिया जाना आश्चर्य का ही विषय माना जा रहा है।

वहीं, भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि भाजपा के नव नियुक्त जिला अध्यक्ष राकेश पाल सिह भी जल्द ही मण्डी में जाकर किसानों की समस्याओं से दो-चार हो सकते हैं, इसके लिये वे मण्डी में भाजपा के सदस्यों से भी चर्चा कर सकते हैं।



0 Views

Related News

(शरद खरे) सिवनी शहर में जहाँ जिसका मन आया उस ठेकेदार या नगर पालिका के कारिंदों ने गति अवरोधक बना.
प्रभारी सीएमएचओ का बस नहीं था चिकित्सकों पर! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। निःशक्त, दिव्यांग विद्यार्थियों के चिकित्कीय मूल्यांकन शिविरों में.
जमीनी स्तर पर महज श्रृद्धांजलि देकर और जयंति मना रही काँग्रेस! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। विधानसभा चुनावों की पदचाप के.
शुक्रवार एवं शनिवार को रह सकती है साल की सबसे सर्द रात! (महेश रावलानी) सिवनी (साई)। उत्तर भारत की सर्दी.
पालिका के चुने हुए प्रतिनिधियों के पेट में क्यों उठने लगी मरोड़! (संजीव प्रताप सिंह) सिवनी (साई)। नगर पालिका परिषद.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। प्रतिष्ठित खेल शिक्षक धन कुमार यादव के द्वितीय पुत्र अनन्त यादव की पार्थिव देह मंगलवार को.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *