मक्के में अब 26 की बजाय 43 क्विंटल तक मिलेगा लाभ

भावांतर योजना : पंजीयन अब 25 तक

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। भावांतर योजना में जिन किसानों के द्वारा अपना पंजीयन नहीं कराया जा सका है वे किसान अब इस योजना के तहत 25 नवंबर तक अपना पंजीयन करा सकेंगे। भावांतर योजना के तहत अब प्रति हेक्टेयर मक्के की सीमा 26 से बढ़ाकर 43 क्विंटल कर दी गयी है।

प्रदेश शासन के किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री गौरी शंकर बिसेन ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश शासन द्वारा ऐसे कृषक जिन्होंने अपरिहार्य कारणवश भावांतर योजना में पंजीयन नहीं कराया था। उनके लिये पुनः 15 से 25 नवंबर के मध्य अधिसूचित फसल उत्पाद का पुनः पंजीयन प्रारंभ किया जायेगा।

पंजीयन पूर्व निर्धारित प्रक्रिया अनुसार होगा। इस अवधि में ऐसे कृषक भी भावंतर योजना का लाभ ले सकेंगे, जिन्होंने पंजीयन न होने के उपरांत भी अपनी फसलों को मण्डी परिसर में विक्रय किया था। ऐसे कृषकों को भी 15 से 25 नवंबर के मध्य पंजीयन कराने पर भावंतर योजना का लाभ पूर्व में विक्रय की गयी फसल पर दिया जायेगा।

इसके साथ ही साथ उन्होंने बताया कि जिले में कुल मक्का के अधिक उत्पादन को दृष्टिगत रखते हुए प्रदेश शासन द्वारा भावांतर उत्पाद 26 क्विंटल प्रति हेक्टेयर को बढ़ाते हुए 43 क्विंटल उत्पाद भावांतर योजना अंतर्गत निर्धारित किया गया है। उल्लेखनीय होगा कि समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया और दैनिक हिन्द गजट के द्वारा हाल ही में मक्के की सीमा 26 से बढ़ाकर 40 से 45 क्विंटल करने की बात सूत्रों के हवाले से की गयी थी।



0 Views

Related News

जिले में ग्राम पंचायतों के कार्यक्रमों में बढ़ रही अश्लीलता! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिले में ग्राम पंचायतों के घोषित.
(शरद खरे) जिला मुख्यालय में सड़कों की चौड़ाई क्या होना चाहिये और सड़कों की चौड़ाई वास्तव में क्या है? इस.
मनमाने तरीके से हो रही टेस्टिंग, नहीं हो रहा नियमों का पालन! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। लोक निर्माण विभाग में.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। नगर पालिका में चुनी हुई परिषद के कुछ प्रतिनिधियों के द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी के.
खराब स्वास्थ्य के बाद भी भूख हड़ताल न तोड़ने पर अड़े भीम जंघेला (ब्यूरो कार्यालय) केवलारी (साई)। विकास खण्ड मुख्यालय.
(खेल ब्यूरो) सिवनी (साई)। भारतीय जनता पार्टी के सक्रय एवं जुझारू कार्यकर्ता तथा पूर्व पार्षद रहे संजय खण्डाईत अब भाजपा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *