मदरसों में भी रोज फहरायें तिरंगा, करें राष्ट्रगान : शाह

(इसरार खान)

भोपाल (साई)। प्रदेश मदरसा बोर्ड के 20वें स्थापना दिवस कार्यक्रम में पहुँचे स्कूल शिक्षामंत्री विजय शाह ने मदरसों को रोज तिरंगा फहराने और राष्ट्रगान करने को कहाँ उन्होंने कहा कि ऐसा करने से देशभक्ति का भाव आता है। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद थे। मुख्यमंत्री ने पढ़ाई के साथ बच्चों को हुनरमंद बनाने पर जोर दिया और वतन से मोहब्बत करने व ब्लू व्हेल गेम नहीं खेलने की सीख दी।

यह कार्यक्रम शहर के एक होटल में आयोजित हुआ। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में रोजगार और हुनरमंदों की कमी है। इसलिये मदरसों में दीनी तालीम के साथ आधुनिक शिक्षा भी दी जानी चाहिये। बच्चों को अच्छे नागरिक बनने की शिक्षा दो। मुख्यमंत्री ने कहा, हम सब भारत माँ के लाल भेदभाव का कहाँ सवाल इबादत के तरीके अलग हो सकते हैं पर खून का रंग सभी का लाल है। सभी को अलग – अलग तरीके से मानने की आजादी है।

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैंने हमेशा बिना भेदभाव बच्चों की तकलीफें दूर करने की कोशिश की है। किसी भी योजना में कोई भेदभाव नहीं किया। यहाँ चौहान ने बोर्ड के अध्यक्ष सैयद इमादउद्दीन की माँग पर मदरसों की अनुदान राशि 25 हजार से बढ़ाकर 50 हजार रूपये सालाना करने की घोषणा की। कार्यक्रम में उदघोषक ने कहा कि हम मुख्यमंत्री को मामा नहीं मामू कहेंगे।

कार्यक्रम में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष एवं सांसद नंदकुमार सिंह चौहान, महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनिस, अल्पसंख्यक, पिछड़ा वर्ग कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) ललिता यादव, सांसद मनोहर ऊंटवाल, देश के चीफ इमाम, सेंट्रल हज कमेटी के इरफान अहमद, छत्तीसगढ़ और राजस्थान के मदरसा बोर्ड अध्यक्ष भी शामिल हुए।

मुख्यमंत्री ने बच्चों से जुड़ी योजनाओं का जिक्र कहते हुए कहा कि सरकार स्मार्ट फोन दे रही है, लेकिन इसका इस्तेमाल ब्लू व्हेल गेम खेलने के लिये नहीं करना है। दीनी तालीम देने वाले मदरसों के संचालक और अच्छा रिजल्ट लाने वाले विद्यार्थियों को कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सम्मानित किया।

कार्यक्रम की शुरुआत भाजपा के पितृपुरुष पं.दीनदयाल उपाध्याय के चित्र के सामने दीप प्रज्ज्वलित कर हुआ। इसके बाद राष्ट्रगान और फिर मध्य प्रदेश गान हुआ। इस दौरान मंच से मादरे वतन जिंदाबाद, हिन्दुस्तान जिंदाबाद और वंदे मातरम के नारे लगे।



0 Views

Related News

  (शरद खरे) सिवनी जिले में अब तक बेलगाम अफसरशाही, बाबुओं की लालफीताशाही और चुने हुए प्रतिनिधियों की अनदेखी किस.
  मानक आधार पर नहीं बने शहर के गति अवरोधक (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय सहित जिले भर में.
  धड़ल्ले से धूम्रपान, तीन सालों में एक भी कार्यवाही नहीं (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। रूपहले पर्दे के मशहूर अदाकार.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सर्दी का मौसम आरंभ होते ही हृदय और लकवा के मरीजों की दिक्कतें बढ़ने लगती.
  दिल्ली के पहलवान कुलदीप ने जीता खिताब (फैयाज खान) छपारा (साई)। बैनगंगा के तट पर बसे छपारा नगर में.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिर पर टोपी, गले में लाल गमछा, साईकिल पर पर्यावरण के संदेश की तख्ती और.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *