मदरसों में संस्कृत की पढ़ाई को बोर्ड की मंजूरी

(ब्‍यूरो कार्यालय)

देहरादून (साई)। उत्तराखंड के मदरसों में पढ़ने वाले बच्चों को अब कुरान के साथ-साथ श्रीमद्भगवतगीता की शिक्षा भी मिलेगी। उत्तराखंड मदरसा एजुकेशन बोर्ड (UMEB) ने अगले अकादमिक सत्र से राज्य के मदरसों में संस्कृत और कम्प्यूटर साइंस को वैकल्पिक विषय के तौर पर पढ़ाए जाने के प्रस्ताव पर सहमति जता दी है।

उत्तराखंड स्टेट कौंसिल ऑफ एजुकेशनल रिसर्च एंड ट्रेनिंग (SCERT) की अडिशनल डायरेक्टर पुष्पा जोशी की अगुवाई में 6 सदस्यों वाली समिति ने इस प्रस्ताव पर सहमति जताई। वर्तमान में राज्य के 297 रजिस्टर्ड मदरसों में स्टूडेंट्स को मैथ, साइंस, आयुष और सोशल साइंस ही वैकल्पिक विषय के तौर पर पढ़ाया जाता है।

यह फैसला सामाजिक संस्था मदरसा वेलफेयर सोसायटी ऑफ उत्तराखंड (MWSU) के अनुरोध के बाद आया है। MWSU के द्वारा राज्य भर में 207 मदरसे संचालित किए जाते हैं, जिसमें 25 हजार बच्चे शिक्षा ग्रहण करते हैं। इस संस्था ने कुछ दिनों पहले ही सरकार से अनुरोध किया था कि मदरसों में भी बच्चों को अन्य भाषाओं की तरह संस्कृत पढ़ाई जाए।

UMEB के डेप्युटी रजिस्ट्रार हाजी अखलाक अहमद अंसारी ने टीओआई को बताया, ‘बोर्ड की निचली समिति ने बुधवार को मदरसों में संस्कृत और कम्प्यूटर साइंस को वैकल्पिक विषय के तौर पर पढ़ाए जाने के प्रस्ताव पर सहमति जता दी। अब इसे ऊपरी समिति के पास भेजा जाएगा।

ऊपरी समिति के अध्यक्ष मौलाना जाहिद रजा रिजवी ने कहा कि इस निर्णय का स्वागत है और यह हमारे पास आएगा तब मंजूरी दे दी जाएगी।



3 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *