ये हैं विवाह के विशेष मुहूर्त

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। सनानत संस्कृति में शादी सबसे बड़ा संस्कार है। ब्याह कर न केवल दो स्त्री-पुरुष जीवनभर के लिये एक हो जाते हैं बल्कि इसी बंधन के माध्यम से वे अपने सभी प्रमुख पारिवारिक, धार्मिक और सामाजिक उत्तरदायित्व निभा पाते हैं। इस संस्कार की इतनी अहमियत के कारण ही विवाह मुहुर्त पर भी खासा ध्यान दिया जाता है।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार आने वाले दो माहों में तीन मुहूर्त बहुत खास हैं। तीन अलग – अलग तिथियों पर ये विवाह मुहुर्त आयेंगे जिनमें होनेवाली शादियां ज्यादा फलदायी भी सिद्ध होंगी। 23 नवंबर को विवाह पंचमी के दिनं भगवान श्रीराम और माता जानकी का विवाह हुआ था, इसलिये यह विवाह मुहूर्त बहुत शुभ माना गया है।

विशेष हैं ये तीन मुहूर्त : ज्योतिषाचार्यों के अनुसार ग्रह गणनाओं के अनुसार इस बार नवंबर से दिसंबर तक कई विवाह मुहूर्त हैं। 19 नवंबर से विवाह के मुहूर्त आरंभ हो गये हैं और दिसंबर तक कई शादियां होनी हैं पर इन विवाह मुहूर्त में कुछ विशेष मुहूर्त भी हैं। इन दो माहों में तीन मुहूर्त तो बहुत खास हैं। तीन अलग – अलग तिथियों पर ये विवाह मुहूर्त आयेंगे जिनमें होने वाली शादियां ज्यादा फलदायी भी सिद्ध होंगी।

भगवान श्रीराम – माता जानकी की विवाह तिथि : 23 नवंबर को इसमें से पहली तिथि आयेगी। विवाह पंचमी के इस दिन भगवान श्रीराम और माता जानकी का विवाह हुआ था। इसलिये यह विवाह मुहूर्त बहुत शुभ है। 29 नवंबर को मोक्षदायी एकादशी है। माना जाता है कि इस तिथि पर विवाह होने पर भगवान श्रीकृष्ण का आशीर्वाद प्राप्त होता है। इसी तरह 03 दिसंबर को अगहन की पूर्णिमा और भगवान दत्तात्रेय भगवान की जयंति पर भी विवाह करने को विशेष शुभ माना गया है।

होंगी सैंकड़ों शादियां : ज्योतिषाचार्यों के अनुसार विवाह के साथ ही अन्य किसी भी मंगल कार्य के लिये ये तिथियां बहुत शुभ साबित होंगी। इन पर्व तिथियों में रिकॉर्ड शादियां भी होने वाली हैं। धार्मिक, आध्यात्मिक महत्व और पर्व की अहमियत के कारण कई परिवारों ने विवाह मुहूर्त के लिये इन तिथियों को चुना है।



0 Views

Related News

जिले में ग्राम पंचायतों के कार्यक्रमों में बढ़ रही अश्लीलता! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिले में ग्राम पंचायतों के घोषित.
(शरद खरे) जिला मुख्यालय में सड़कों की चौड़ाई क्या होना चाहिये और सड़कों की चौड़ाई वास्तव में क्या है? इस.
मनमाने तरीके से हो रही टेस्टिंग, नहीं हो रहा नियमों का पालन! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। लोक निर्माण विभाग में.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। नगर पालिका में चुनी हुई परिषद के कुछ प्रतिनिधियों के द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी के.
खराब स्वास्थ्य के बाद भी भूख हड़ताल न तोड़ने पर अड़े भीम जंघेला (ब्यूरो कार्यालय) केवलारी (साई)। विकास खण्ड मुख्यालय.
(खेल ब्यूरो) सिवनी (साई)। भारतीय जनता पार्टी के सक्रय एवं जुझारू कार्यकर्ता तथा पूर्व पार्षद रहे संजय खण्डाईत अब भाजपा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *