रेल टिकिट बुकिंग की नयी सुविधा!

(अमित कौशल)

नई दिल्ली (साई)। अब आप रेलवे काउंटर पर ट्रेन टिकिट के लिये भीम ऐप से पेमेंट कर सकते हैं। ई-टिकट बुकिंग के लिये यूपीआई, भीम के जरिये पेमेंट की सुविधा पहले से ही है। आईये जानते हैं रेल टिकिट बुकिंग की इस नयी सुविधा से जुड़ी बड़ी बातें . . .

भीम (भारत इंटरफेस फॉर मनी) ऐप के जरिये आप पैसेंजर्स रिजर्वेशन सिस्टम (पीआरएस) काउंटरों से रिजर्व्ड टिकिट बुकिंग के साथ-साथ अनरिजर्व्ड टिकटिंग सिस्टम (यूटीएस) काउंटरों से सीजन टिकट (मंथली/क्वॉर्टरली) के लिये भुगतान कर सकते हैं।

टिकिट बुकिंग की यह नयी सुविधा यात्रियों के लिये तीन महीने के लिये मुफ्त होगी यानी इस दौरान इस किसी भी तरह का ट्रांजेक्शन चार्ज नहीं लगेगा। यात्रियों को अपनी यात्रा से जुड़े विवरण साझा करने पर रेलवे काउंटर पर अदा किये जाने वाले किराये के बारे में सूचना मिल सकेगी।

अगर कोई यात्री यूपीआई, भीम के जरिये भुगतान करना चाहता है तो काउंटर पर बैठा कर्मचारी यूपीआई (यूनिफाईड पेमेंट इंटरफेस) को पेमेंट ऑप्शन के तौर पर चुनेगा और यात्री के वर्चुअल पेमेंट एड्रेस (व्हीइपीए) के लिये रिक्वेस्ट करेगा। कर्मचारी को ट्रांजेक्शन शुरू करने के लिये वर्चुअल पेमेंट एड्रेस (व्हीकपीए) को दर्ज करना होगा।

इसके बाद यात्री को पेमेंट की पुष्टि करने के लिये उसके रजिस्टर्ड मोबाईल नंबर पर पेमेंट रिक्वेस्ट मिलेगा। यात्री को पेमेंट रिक्वेस्ट को एक्सेप्ट करना होगा जिसके बाद यात्री के लिंक्ड एकाउंट से किराये की राशि कट जायेगी। ट्रांजेक्शन के सफल होने और सिस्टम पर वेरिफाईड होने के बाद काउंटर पर बैठा कर्मचारी टिकिट को प्रिंट करके यात्री को सौंप देगा। लॉन्च होने के एक साल से भी कम वक्त में भीम ऐप से रोजाना होने वाले लेनदेन की संख्या 2.8 लाख पहुँच चुकी है।



0 Views

Related News

(शरद खरे) सूबे के निज़ाम शिवराज सिंह चौहान की इच्छा भले ही प्रदेश में सुशासन लाने की हो पर मैदानी.
दिसंबर में फिर गायब हुई सर्दी (महेश रावलानी) सिवनी (साई)। पूस (दिसंबर) के माह में जब हाड़ गलाने वाली सर्दी.
अनेक वरिष्ठ नेता पा रहे खुद को उपेक्षित, बिना खिवैया दिशाहीन हो रही काँग्रेस की नैया! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)।.
0 सांसद-विधायकों की चुप्पी से भीमगढ़ हो रहा उपेक्षित (स्पेशल ब्यूरा) सिवनी (साई)। एशिया के सबसे बड़े मिट्टी के बाँध.
(सुभाष बकौड़े) घंसौर (साई)। बस स्टैण्ड पर चिकन की दुकान में बीती रात मुर्गा खरीदने को लेकर हुए विवाद में.
मतदाता सूची में नाम जोड़ने पर हुआ विवाद (आगा खान) कान्हीवाड़ा (साई)। कान्हीवाड़ा में मतदाता सूची में नाम जोड़ने की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *