शराबखोरी ले डूबी अरी सचिव को!

जिला पंचायत सीईओ ने किया अरी सचिव को निलंबित

(टूप सिंह पटले)

अरी (साई)। ग्राम पंचायत भवन में सरपंच कक्ष में सरपंच श्रीमति माया सोनवाने के पति धर्मेंद्र सोनवाने एवं अन्य लोगों के साथ शराब और मुर्गा पार्टी करने वाले सचिव रविंद्र वासनिक को जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी स्वरोचिष सोमवंशी के द्वारा निलंबित कर दिया गया है।

बताया जाता है कि सीईओ द्वारा 15 दिसंबर को जारी आदेश में कहा गया है कि ग्राम पंचायत अरी के निवासियों के द्वारा सीईओ के समक्ष उपस्थित होकर सीडी सहित शिकायत की गयी थी कि 06 दिसंबर को रात में ग्राम पंचायत अरी में शराब का सेवन सचिव, सरपंच पति आदि के द्वारा किया जा रहा था।

इसके साथ ही बताया जाता है कि आदेश में कहा गया है कि सीडी का अवलोकन करने पर यह पाया गया कि ग्रामीणों की शिकायत सही थी। इसलिये मध्य प्रदेश पंचायत सेवा (ग्राम पंचायत सचिव भर्ती और सेवा शर्तें) नियम 2011 के नियम-7 के प्रावधान के अनुसार ग्राम पंचायत अरी के सचिव रविंद्र वासनिक को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाकर निलंबन अवधि में श्री वासनिक का मुख्यालय जनपद पंचायत बरघाट निर्धारित किया गया है।

बताया जाता है कि आदेश में ग्राम पंचायत अरी के सचिव का अतिरिक्त प्रभार अगले आदेश तक जनपद पंचायत बरघाट की ग्राम पंचायत काठी के सचिव धरमचंद भालेकर को सौंपा गया है। इसके साथ ही साथ जनपद पंचायत बरघाट के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को यह निर्देश भी दिये गये हैं कि वे निलंबित सचिव रविंद्र वासनिक के खिलाफ आरोप पत्र तीन दिवस में तैयार कर विशेष वाहक से जिला पंचायत में भेजें।

क्या था मामला

दरअसल, 06 दिसंबर की रात को ग्राम पंचायत अरी की महिला सरपंच के सरकारी कक्ष में ग्रामीणों के द्वारा सचिव रविंद्र वासनिक, सरपंच माया सोनवाने के पति धर्मेंद्र सोनवाने सहित अन्य लोगों को शराब पीते न केवल पकड़ा गया था वरन इसका वीडियो बनाया जाकर पुलिस बुलवाकर इनका मुलाहजा भी करवाया गया था।

ग्रामीणों के द्वारा यह चेतावनी भी दी गयी थी कि अगर इस मामले में कार्यवाही नहीं की जाती है तो ग्रामीणों के द्वारा 17 दिसंबर से अनशन किया जायेगा। ग्रामीणों की चेतावनी के एक दिन पहले ही जिला पंचायत के द्वारा कार्यावाही किये जाने से अब ग्रामीणों के द्वारा शायद ही अनशन किया जाये।



94 Views.

Related News

(शरद खरे) सामान्य शब्दों में नगर के पालक की भूमिका अदा करने वाली संस्था को नगर पालिका कहा जाता है।.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (संजीव प्रताप सिंह) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज.
अट्ठारह करोड़ के काम को दस करोड़ में कैसे करेगा ठेकेदार! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। गृह निर्माण मण्डल के द्वारा.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। जनवरी में शहर में अमूमन धूप गुनगुनी और रात के वक्त सर्दी के तेवर तीखे रहा.
सिविल सर्जन की आँखों का नूर . . . 02 (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। स्वास्थ्य संचालनालय चाहे जो आदेश जारी.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सिवनी के वनस्पति शास्त्र विभाग में एक अनुपम पहल के चलते वनस्पति विज्ञान.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *