शहर के पेयजल की सुरक्षा किसके हवाले!

श्रीवनी फिल्टर प्लांट के सीसीटीवी नहीं हो पा रहे चालू!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। भाजपा शासित नगर पालिका परिषद में वर्चस्व की कथित जंग अब शह और मात की स्थिति में पहुँच चुकी है पर न तो नगर पालिका में सरकारी वेतन पाने वाले नुमाईंदों को इस बात की चिंता है कि शहर में पेयजल की सुरक्षा किसके हवाले है और न ही चुनी हुई परिषद को।

नगर पालिका के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि मुख्य नगर पालिका अधिकारी नवनीत पाण्डेय के द्वारा कार्यभार सम्हालने के बाद नगर पालिका के स्वामित्व वाले समस्त कार्यालयों को सीसीटीवी से लैस करवा दिया गया था। इनमें से 99 फीसदी कैमरे चालू हालत में भी आ चुके हैं।

सूत्रों ने बताया कि श्रीवनी फिल्टर प्लांट में भी कैमरे लगाये गये हैं। यहाँ जल शोधन कुण्ड के पास सीसीटीवी कैमरे प्रस्तावित थे किन्तु उन कैमरों की संस्थापना का काम अभी तक नहीं कराया गया है जबकि सबसे संवेदनशील जगह श्रीवनी फिल्टर प्लांट का जलशोधन कुण्ड ही माना जाता है।

इसके साथ ही सूत्रों ने बताया कि सीएमओ नवनीत पाण्डेय के द्वारा की गयी इस अभिनव पहल में सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिये काम को आऊट सोर्स किया गया था। कैमरे लगाने वाली एजेंसी को अन्य स्थानों पर लगे कैमरों का भुगतान तो सुनिश्चित कर दिया गया है किन्तु श्रीवनी फिल्टर प्लांट की सबसे अहम जगह पर कैमरे लगाने की नस्ती पालिका के किसी कर्मचारी या चुने हुए प्रतिनिधि के द्वारा अनावश्यक रूप से रोक रखी गयी है।

सूत्रों ने कहा कि अगर किसी शरारती तत्व के द्वारा जल शोधन संयंत्र में पानी में किसी तरह की आपत्तिजनक चीज को मिला दिया जाता है तो इसका प्रभाव समूचे शहर सहित श्रीवनी से सिवनी तक पड़ने वाले उन ग्रामों पर जहाँ के निवासी इस जल का उपयोग करते हैं पड़ सकता है।

इसी तरह सूत्रों का कहना था कि वर्चस्व की कथित जंग के चलते न तो सरकारी वेतन पाने वाले नुमाईंदों को इस बात की परवाह दिख रही है और न ही चुने हुए प्रतिनिधियों को ही इसकी चिंता प्रतीत हो रही है। सूत्रों ने बताया कि पालिका में भ्रष्टाचार की गंगा बहाने वाले लोगों को डर है कि अगर सीसीटीवी कैमरों की जद में वह स्थान आ गया जहाँ एलम और ब्लीचिंग पाऊडर के जरिये जल शोधन का काम किया जाता है तो सारे घालमेल पर से पर्दा उठ सकता है।

सूत्रों ने कहा कि संभवतः इसी डर के चलते पालिका में श्रीवनी फिल्टर प्लांट में सीसीटीवी कैमरों की नस्ती को किसी के द्वारा बलात ही रोक रखा गया है। सूत्रो ंने कहा कि जिला प्रशासन को चाहिये कि इस संवेदनशील मामले में स्वसंज्ञान से ही कार्यवाही करते हुए जल शोधन संयंत्र को सीसीटीवी की जद में रखे जाने के मार्ग प्रशस्त कराये जायें।



19 Views.

Related News

(शरद खरे) शायद ही कोई ऐसा दिन होता हो जब सिवनी में सड़क दुर्घटना में घायल या मरने वालों की.
स्वास्थ्य विभाग के रंगारंग बसंत पंचमी कार्यक्रम में टूटीं सारी मर्यादाएं! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। जिला चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। यूरोप के आधा दर्जन से ज्यादा देशों में पढ़ी जाने वाली स्ट्रेस टू हेप्पीनेस नामक किताब.
मामला मोहगाँव खवासा सड़क निर्माण का, शायद ही कुछ आऊट सोर्स करे दिलीप बिल्डकॉन (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मौसम में लगातार परिवर्तन जारी हैं। बुधवार से शहर में सर्दी का सितम तेज हो सकता.
40 एकड़ में बनेगा क्रिकेट का विशाल स्टेडियम बींझावाड़ा में (प्रदीप खुट्टू श्रीवास) सिवनी (साई)। सिवनी में वर्षों से क्रिकेट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *