सिवनी में तो नहीं खप रहीं अमानक दवाएं!

मॉर्डन लेबोरेट्रीज की दवाएं पायी गयी अमानक!

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। सरकारी अस्पतालों में मिलने वाली दवाओं में से तीन दवाएं अमानक मिली हैं। इनमें से एक दवा की अवसान तिथि (एक्सपायरी डेट) फरवरी 2018 है। इससे यही प्रतीत हो रहा है कि अमानक दवाओं का सेवन मरीजों के द्वारा किया जा चुका होगा।

समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के भोपाल ब्यूरो से नंद किशोर ने स्वास्थ्य संचालनालय के सूत्रों के हवाले से बताया कि दवाओं की जाँच की रिपोर्ट 31 अक्टूबर को जारी की गयी थी जिसमें ओफ्लॉक्सासिन, टिंडाजोल, ट्राईमेथिप्रिम, ट्राईमेथप्रिम, सल्फामेथक्सीजोल आदि अमानक पायी गयीं थीं।

सूत्रों ने बताया कि मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी बालाघाट के भण्डार से राज्य दवा प्रयोगशाला को जाँच के लिये भेजे गये नमूनों में ये दवाएं अमानक मिली हैं। ये दवाएं मॉर्डन लेबोरेट्रीज में निर्मित बतायी जा रही हैं। ये सारी दवाएं सरकारी अस्पतालों से मरीजों को निःशुल्क प्रदाय की जाती हैं।

जिला चिकित्सालय के उच्च पदस्थ सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि जिला चिकित्सालय के भण्डार में व्यापक अनियमितताएं मची हुई हैं। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा अस्पताल के सिविल सर्जन के द्वारा भी इस दिशा में ध्यान न दिये जाने से मरीजों की जान पर बन रही है।

सूत्रों का कहना है कि जिला चिकित्सालय में रक्त चढ़ाने के लिये उपयोग में आने वाले ब्लड ट्रांसफ्यूजन सेट (बीटीएस) इस कदर घटिया गुणवत्ता वाले आ रहे थे कि मरीजों को रिएक्शन होने पर मरीजों के परिजनों से बाजार से बीटीएस बुलाकर रक्त चढ़ाना पड़ रहा था। इसके बाद भी जिले के स्वास्थ्य प्रशासन के द्वारा बीटीएस प्रदाय करने वाली कंपनी को काली सूची में डालने की कार्यवाही नहीं की गयी।

ये दवाएं मिलीं अमानक

ओफ्लॉक्सासिन (200 एमजी) और टिंडाजोल (600, एमजी) : 28 अक्टूबर को जाँच रिपोर्ट में यह दवा अमानक मिली। इसका बैच नंबर ओईटी 1701, निर्माण तिथि मार्च 2017 और एक्सपायरी फरवरी 2019 है।

इसका उपयोग दस्त व यूरिन इंफेक्शन के लिये किया जाता है। लगभग 05 फीसदी मरीजों को यह दवा लगती है। बारिश के दिनों में इसका उपयोग चार गुना बढ़ जाता है।

ट्राइमेथाप्रिम (20 एमजी) एंड सल्फामेथाक्सीजोल (100 एमजी) : यह दवा स्टेट ड्रग लैब की 31 अक्टूबर की हुई जाँच में अमानक मिली है। इसका बैच नंबर ओईटी 1602 है। मैन्युफैक्चरिंग तारीख मार्च 2016 है। एक्सपायरी 2018 है।

उपयोग : एंटीबायोटिक दवा है। वायरल व बैक्टीरियल इंफेक्शन में उपयोग की जाती है। लगभग हर दूसरे – तीसरे मरीज को यह दवा दी जाती है।

ट्राइमेथाप्रिम (40 एमजी) एंड सल्फामेथाक्सीजोल (400 एमजी) : यह दवा स्टेट ड्रग लेबोरेट्री से 31 अक्टूबर की जाँच में अमानक मिली है। दवा का बैच नंबर ओईटी 3701 है। दवा की मैन्युफैक्चरिंग तारीख जनवरी 2017 व एक्सपायरी डेट दिसंबर 2018 है।

उपयोग : एंटीबायोटिक दवा है। वायरल व बैक्टीरियल इंफेक्शन के लिये उपयोग की जाती है। लगभग हर दूसरे – तीसरे मरीज को यह दवा दी जाती है।

इस वजह से जाँच में होती है देरी : स्टेट ड्रग लेबोरेट्री में अमला कम होने की वजह से दवाओं के सैंपल छः-छः महीने तक पड़े रह जाते हैं। दवाएं अमानक मिलने के बाद इसकी जानकारी भी मेल या फोन से न भेजकर पत्र से भेजी जाती है, जिसमें ज्यादा वक्त लग जाता है।

इस कारण अमानक होती हैं दवाएं : दवा में पाउडर की मात्रा कम हो, दवा का रंग बदल गया हो, दवा फूट रही हो, दवा मिस ब्रांडेड हो यानी उसके ऊपर सभी जरूरी जानकारी नहीं लिखी हो।



35 Views.

Related News

(शरद खरे) सिवनी में पुलिस की कसावट के लिये पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा प्रयास किये जा रहे हैं।.
गंभीर अनियमितताओं के बाद भी लगातार बढ़ रहा है ठेके का समय (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। इंदौर मूल की कामथेन.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज सड़क.
नालियों में उतराती दिखती हैं शराब की खाली बोतलें! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। विधानसभा मुख्यालय केवलारी के अनेक कार्यालयों में.
धोखे से जीत गये बरघाट सीट : अजय प्रताप (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भाजपा के आजीवन सदस्यों के सम्मान समारोह.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। बसंत के आगमन के साथ ही ठण्डी का बिदा होना आरंभ हो गया है। पिछले दिनों.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *