स्वरोजगार अपनाकर आरती ने दिया दूसरों को भी रोजगार

सफलता की कहानी

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जिले की श्रीमति आरती पति शिवनंदन उईके आज अगरबत्ती निर्माण यूनिट की मालिक हैं, जिसका संचालन उनके द्वारा सफलतापूर्वक किया जा रहा है। साथ ही अन्य जरूरतमंदों को भी उनके द्वारा रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। यह सब शासन की स्वरोजगार मूलक योजना मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से ही श्रीमती आरती के लिये संभव हो सका।

श्रीमती आरती उईके ग्राम लकवाह, पोस्ट पौनार, विकास खण्ड छपारा की निवासी हैं। वे बतातीं हैं कि उनके व उनके पति के शिक्षित बेरोजगार होने के कारण उनका जीवन आर्थिक तंगी से गुजर रहा था। उनके पति अक्सर नौकरी की तलाश में सिवनी जाया करते थे, परन्तु असफल ही रहते।

उन्होंने बताया कि उनके पति ने समाचार पत्र में मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के बारे में पढ़ा तथा योजना का लाभ लेने हेतु आदिवासी वित्त एवं विकास निगम कार्यालय सिवनी में सम्पर्क किया। निगम द्वारा संतोषपूर्ण निःशुल्क सहायता मिली तथा आई.डी.बी.आई. बैंक में अगरबत्ती निर्माण ईकाई के लिये एक मशीन हेतु एक लाख 50 हजार रूपये के ऋण का आवेदन प्रेषित किया गया।

इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उनके आवेदन को बैंक द्वारा आवश्यक औपचारिकताएं पूर्ण कर स्वीकृत कर लिया गया, जिसमें शासन द्वारा 45 हजार रूपये अनुदान राशि योजना अंतर्गत प्रदान की गयी। श्रीमति आरती उईके एवं उनके पति शिवनंदन ने आवश्यक प्रशिक्षण प्राप्त कर सिवनी में किराये के मकान में पूर्ण लगन एवं परिश्रम से कारखाने का संचालन प्रारंभ किया।

अगरबत्ती निर्माण के लिये आवश्यक कच्चा माल शहर से ही प्राप्त होने तथा निर्मित उत्पाद आसानी से शहर में ही विक्रय हो जाने से कारखाने का संचालन सुगमता से इनके द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने अपनी लगन एवं अथक परिश्रम से मात्र 10 माह के संचालन से प्राप्त लाभ से एक नवीन मशीनरी क्रय की है जिससे पहले से अधिक उत्पादन उनके द्वारा किया जा रहा है।

बताया गया है कि प्रतिदिन व्यवसाय से सभी खर्चाें के बाद पाँच से छः सौ रूपये का लाभ प्राप्त किया जाता है। श्रीमती आरती शासन को मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजनांतर्गत प्रदान की गयी आर्थिक सहायता के लिये धन्यवाद देते हुए कहतीं हैं कि शासन द्वारा चलायी जा रही स्वरोजगार योजनाएं निश्चित रूप से शिक्षित बेरोजगार युवाओं के लिये वरदान हैं। युवाओं को नौकरी के पीछे न जाकर स्वरोजगार स्थापित करना चाहिये तथा अन्य जरूरतमंद को रोजगार उपलब्ध कराने को प्राथमिकता देनी चाहिये।



0 Views

Related News

(शरद खरे) शहर में दोपहिया नहीं बल्कि अब चार पहिया वाहन भी जहरीला धुंआ उगलने लगे हैं। बताया जा रहा.
पीडब्ल्यूडी की टैस्टिंग लैब . . . 02 मोबाईल प्रयोगशाला के जरिये हो रहे वारे न्यारे (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)।.
मासूम जान्हवी की मदद के लिये उठे सैकड़ों हाथ पर रजनीश ने किया किनारा! (फैयाज खान) छपारा (साई)। केवलारी विधान.
दो शिक्षकों के खिलाफ हुआ मामला दर्ज (सुभाष बकोड़े) घंसौर (साई)। पुलिस थाना घंसौर अंर्तगत जनपद शिक्षा केंद्र घंसौर के.
खनिज अधिकारी निर्देश दे चुके हैं 07 दिसंबर को! (स्पेशल ब्यूरो) सिवनी (साई)। जिला कलेक्टर गोपाल चंद्र डाड की अध्यक्षता.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। 2017 बीतने को है और 2018 के आने में महज एक पखवाड़े से कुछ अधिक समय.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *