हंगामा है क्यों बरपा . . .: विकास मंच

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। नगर पालिका में चुनी हुई परिषद के कुछ प्रतिनिधियों के द्वारा मुख्य नगर पालिका अधिकारी के द्वारा किये गये लिपिकों के स्थानांतरण पर हंगामा क्यों बरपाया जा रहा हैा? उक्ताशय की बात सिवनी विकास मंच के द्वारा जारी विज्ञप्ति में कही गयी है।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि भारतीय जनता पार्टी शासित नगर पालिका इन दिनों शहर ही नहीं, जिले में चर्चा का विषय बनी हुई है। वो इसलिये नहीं कि पालिका के द्वारा कोई बड़ी उपलब्धि हासिल की गयी है, बल्कि इसलिये क्योंकि चुने हुए प्रतिनिधियों के द्वारा अपने स्तर से नीचे उतरते हुए जिस तरह का हंगामा मचाया जा रहा है उसे लेकर भाजपा शासित पालिका चर्चा में है।

इसी तरह विज्ञप्ति में कहा गया है कि नवागत सीएमओ नवनीत पाण्डेय के द्वारा पदभार ग्रहण करने के साथ ही पालिका के कुछ बाबुओं की सीट बदलकर सुधार की कवायद की गयी तो कुछ लोगों के पेट में मरोड़ उठना आरंभ हो गयी। इसके पूर्व भी एक बाबू को लेकर पालिका अध्यक्ष और भाजपा के जिला अध्यक्ष के बीच तकरार की खबरें आम हो चुकी हैं।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि सीएमओ के द्वारा अपने अधिकार क्षेत्र में कुछ लिपिकों के प्रभार में फेरबदल किया गया है। यह काम जनता की सहूलियत के लिये एवं समय सीमा में काम संपादित करने के लिये किया गया था। इस मामले में भारतीय जनता पार्टी की पालिका अध्यक्ष का भड़कना समझ से परे है।

इसके साथ ही विज्ञिप्ति में कहा गया है कि सिवनी विकास मंच इन सत्ताधारियों को याद दिलाना चाहता है कि इन लोगांे को जनता ने इस कारण चुनकर पालिका भेजा है कि जनता को कोई तकलीफ न हो, सारे काम समय सीमा में बिना भ्रष्टाचार के हो जायें और अगर यही सब कुछ सीएमओ करना चाह रहे हैं तो इतना बवंडर मचाने के पीछे कारण आखिर क्या कारण है?

विज्ञप्ति के अनुसार इस तरह का हंगामा करने से तो यही प्रतीत हो रहा है कि इन भ्रष्ट कर्मचारियों के सहारे ही चुने हुए भ्रष्ट प्रतिनिधियों की दाल रोटी चल रही है, जो अब बंद होती नजर आ रही है? या फिर पुराने भ्रष्टाचार के गड़े मुर्दे खुदने की चिंता प्रतिनिधियों को सता रही है।

जारी की गयी विज्ञप्ति के अनुसार सिवनी विकास मंच का साथ और समर्थन सीएमओ नवनीत पाण्डेय को तब तक रहेगा जब तक वे सिवनी के हित में काम करेंगे। मंच ने कुछ नेताओं को सतर्क करते हुए कहा है कि जिनका अहंकार सिवनी के विकास में रोड़ा बन रहा है वे चेत जायें और अहंकार को तजकर जनता की चिंता करें वरना सत्ता का यह मद अंतिम ही होगा।



43 Views.

Related News

(शरद खरे) समाज शास्त्र में औद्योगीकरण और नगरीकरण को एक दूसरे का पर्याय माना गया है। औद्योगीकरण जहाँ होगा वहाँ.
मौसम में बदलाव का दौर है जारी (महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मकर संक्रांति के बाद सूर्य के उत्तरायण होने के.
रतजगा करते हुए कर रहे वोल्टेज बढ़ने का इंतजार (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। लगातार दो तीन वर्षों से अतिवृष्टि और.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड क्षेत्रीय कार्यालय जबलपुर द्वारा सी.एम. हेल्पलाइन में की गयी शिकायत को.
राजेंद्र नेमा ने स्वामी नारायणानंद के द्वारा शंकराचार्य लिखे जाने पर माँगे प्रमाण (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। भगवत्पाद आद्यशंकराचार्य द्वारा.
आठ फीसदी ब्लो पर हुई निविदा स्वीकृत, भेजा शासन को अनुमोदन के लिये (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *