हंगामेदार हो सकती है परिषद की बैठक

अवैध कॉलोनियों में नाली-सड़क बनाने पर आमदा पालिका!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। नगर पालिका परिषद का साधारण सम्मेलन 03 जनवरी को दोपहर 12 बजे से आहूत किया गया है। इस सम्मेलन में 23 मुद्दों पर चर्चा की जायेगी। भाजपा शासित नगर पालिका परिषद के कदम तालों के बाद अब पार्षदों के अंदर असंतोष के सुर खदबदाते दिख रहे हैं।

नगर पालिका चुनावों में अभी लगभग दो साल शेष हैं। तीन सालों में पार्षदों की कितनी बातें नगर पालिका प्रशासन के द्वारा सुनी गयी इस पर पार्षदों ने विचार करना आरंभ कर दिया है। पार्षद अब अपने कार्यकाल का आंकलन करने के साथ ही साथ अपने अपने वार्ड में अपनी छवि की चिंता भी करते दिख रहे हैं।

पार्षदों के बीच चल रहीं चर्चाओं पर अगर यकीन किया जाये तो भाजपा शासित नगर पालिका आकण्ठ भ्रष्टाचार में डूबी हुई है। चर्चाओं के अनुसार पिछली नगर पालिका परिषद के क्रियाकलाप भी भारतीय जनता पार्टी के सिवनी विधानसभा के प्रत्याशी नरेश दिवाकर की हार का कारण बने थे। आने वाले समय में भाजपा के प्रत्याशी को चुनावी वैतरणी पार करने में पालिका के कदमतालों के चलते कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है।

नगर पालिका के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि बुधवार को होने वाले साधारण सम्मेलन में विवादित विषयों का भी समावेश नवागत मुख्य नगर पालिका अधिकारी नवनीत पाण्डेय के द्वारा कर दिया गया है। सूत्रों का कहना है कि इन विवादित विषयों पर पार्षदों के द्वारा हंगामा किया जा सकता है।

सूत्रों ने बताया कि माननीय उच्च न्यायालय के निर्देश पर जिन 54 सड़कों की जाँच की जा रही है उनमें शामिल एक सड़क सोमवारी चौक से एसआरटी कार्यालय के सामने तक को साधारण सम्मेलन के एजेंडे में शामिल किया गया है। इसके लिये तेज तर्रार सीएमओ के द्वारा न तो किसी तरह के दिशा निर्देश वरिष्ठ अधिकारियों ने लिये हैं न ही कानूनी सलाह ही ली गयी है।

इसके साथ ही सूत्रों ने बताया कि दीगर गैर जरूरी कामों में उलझी भाजपा शासित नगर पालिका के द्वारा मध्य प्रदेश के राजपत्र में प्रकाशित अधिसूचना क्रमाँक 132 के नौ माह बाद इस पर विचार करना मुनासिब समझा है। यह अधिसूचना विज्ञापन एवं मीडिया विज्ञापन के संबंध में है। इसका तात्पर्य यही हुआ कि एक अप्रैल के बाद नगर पालिका के द्वारा विभाग के नियम कायदों का पालन करना ही मुनासिब नहीं समझा गया!

सूत्रों ने आगे बताया कि भाजपा शासित नगर पालिका परिषद के द्वारा नेशनल लॉन से हाण्डा एजेंसी होकर मस्जिद के पीछे तक के आरसीसी नाले के निर्माण के पुनरीक्षित प्राक्कलन 50 लाख 89 हजार रूपये की प्रशासकीय और वित्तीय स्वीकृति देने पर विचार करना भी प्रस्तावित किया गया है।

इसके साथ ही सूत्रों ने कहा कि नाले के जिस हिस्से के लिये पचास लाख 89 हजार रूपये व्यय करने की बात कही जा रही है उस हिस्से में एक भी वाशिंदा निवास नहीं करता है। इससे बेहतर होता कि जिला चिकित्सालय के पीछे से नेशनल लॉन तक के नाले को चौड़ा कर इसे अतिक्रमण मुक्त कराकर इसे पक्का कराया जाता ताकि बारिश के दिनों में एकता कॉलोनी स्थित घरों में पानी नहीं भरता!



57 Views.

Related News

(शरद खरे) सामान्य शब्दों में नगर के पालक की भूमिका अदा करने वाली संस्था को नगर पालिका कहा जाता है।.
मामला मोहगाँव-खवासा सड़क निर्माण का (संजीव प्रताप सिंह) सिवनी (साई)। अटल बिहारी वाजपेयी के प्रधानमंत्रित्व काल की महत्वाकांक्षी स्वर्णिम चर्तुभुज.
अट्ठारह करोड़ के काम को दस करोड़ में कैसे करेगा ठेकेदार! (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। गृह निर्माण मण्डल के द्वारा.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। जनवरी में शहर में अमूमन धूप गुनगुनी और रात के वक्त सर्दी के तेवर तीखे रहा.
सिविल सर्जन की आँखों का नूर . . . 02 (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। स्वास्थ्य संचालनालय चाहे जो आदेश जारी.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय सिवनी के वनस्पति शास्त्र विभाग में एक अनुपम पहल के चलते वनस्पति विज्ञान.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *