हटेंगी स्कूल, कन्या छात्रावास और मंदिरों के आसपास की शराब दुकान

(सोनल सूर्यवंशी)

भोपाल (साई)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि स्कूलों, कन्या छात्रावासों और धार्मिक स्थलों के आसपास जितनी भी शराब की दुकानें हों उन्हें हटाया जाए।

मुख्यमंत्री ने यह निर्देश सोमवार को महिला अपराध को लेकर पुलिस सहित महिला बाल विकास, परिवहन, नगरीय प्रशासन, स्कूल शिक्षा, वाणिज्यिक कर और स्वास्थ्य विभागों के अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक में दिए। इस तरह की बैठक अब हर सोमवार को होना है, जिसमें महिला अपराधों की रोकथाम को लेकर उठाए जा रहे कदमों की समीक्षा की जाएगी।

उन्होंने कहा कि महिलाओं में सुरक्षा का भाव पैदा करने के लिए जिन वाहनों में स्कूल-कॉलेज की छात्राएं आती-जाती हैं, उनमें महिला कंडक्टर, सीसीटीवी कैमरे और जीपीएस सिस्टम लगवाए जाएं। वहीं, स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों से कहा कि वे बच्चों को अश्लील वेबसाइटों के बारे में जागरूक करें, जिससे उन्हें उनके दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी हो सके।

भोपाल में कोचिंग छात्रा के साथ हुई सामूहिक दुष्कृत्य की घटना में पुलिस की असंवेदनशीलता के बाद मुख्यमंत्री ने एक पखवाड़े में सख्त तेवर अपनाए हैं और महिला अपराध के प्रति संवेदनशील रवैया अपनाने की चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि ऐसे स्थानों से शराब की दुकानों को हटाकर अन्यत्र स्थानांतरित करने के बजाय उन्हें हटा ही दिया जाए। पुलिस और वाणिज्यिक कर विभाग को ऐसी दुकानों की सूची तैयार करने को कहा गया है।

सूत्रों के मुताबिक बैठक में पुलिस मुख्यालय की महिला अपराध शाखा के अधिकारियों से पिछली बैठक में दिए गए निर्देशों का पालन प्रतिवेदन पूछा गया।

पुलिस अफसरों ने अगले कुछ दिनों में उनके द्वारा किए जाने वाले काम की कार्ययोजना प्रस्तुत की, जिसमें बताया गया कि दो सप्ताह में स्कूल-कॉलेजों में ढाई लाख से ज्यादा बच्चों तक पहुंचने का लक्ष्य बनाया गया है। बताया जाता है कि मुख्यमंत्री का सबसे ज्यादा जोर महिलाओं-छात्राओं की आवाजाही वाले स्थानों को संवेदनशील मानते हुए वहां विशेष इंतजाम किए जाएं। इसी कड़ी में उन्होंने स्कूलों, कन्या छात्रावासों व धार्मिक स्थलों के आसपास की शराब की दुकानों को हटाने के निर्देश दिए।

स्ट्रीट लाइट का इंतजाम हो :

बैठक में महिलाओं के आने-जाने वाले स्थानों पर स्ट्रीट लाइट की अच्छी व्यवस्था करने के लिए नगरीय प्रशासन विभाग को निर्देश दिए गए। सूत्र ने बताया कि साथ ही कन्या छात्रावासों में सीसीटीवी कैमरे लगाना अनिवार्य करने और वे ठीक से काम कर रहे हैं या नहीं, इसके लिए नियमित रूप से निरीक्षण करते रहने को भी कहा गया।

हर जिले में वन स्टॉप सेंटर की स्थापना के भी निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने स्कूल शिक्षा विभाग के अफसरों को बैठक में स्कूल के बच्चों में जागरूकता पैदा करने को कहा। उन्होंने कहा कि इसके तहत विशेषज्ञों की मदद लेकर बच्चों को अच्छे व खराब व्यवहार के बारे में समझाइश



0 Views

Related News

(शरद खरे) जिले की सड़कों का सीना रोंदकर अनगिनत ऐसी यात्री बस जिले के विभिन्न इलाकों से सवारियां भर रहीं.
मण्डी पदाधिकारी ने की थी गाली गलौच, हो गये थे कर्मचारी लामबंद (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। सिमरिया स्थित कृषि उपज.
दिन में कचरा उठाने पर है प्रतिबंध, फिर भी दिन भर उठ रहा कचरा! (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। अगर आप.
सौंपा ज्ञापन और की बदहाली की ओर बढ़ रही व्यवसायिक गतिविधियों को सम्हालने की अपील (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिवनी.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। डेंगू से पीड़ित एस.आई. अनुराग पंचेश्वर की उपचार के दौरान जबलपुर में मृत्यु हो गयी है।.
(आगा खान) कान्हीवाड़ा (साई)। इस वर्ष खरीफ की फसलों में किसानों ने सोयाबीन, धान से ज्यादा मक्के की फसल बोयी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *