हेल्मेट अभियान : एसपी ने सम्हाली सड़क पर कमान

डेढ़ दो घंटे खुद ही रोके दो पहिया वाहन चालक, कटे चालान

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। बार-बार समझाईश देने के बाद भी दो पहिया वाहन चालकों के द्वारा हेल्मेट नहीं लगाये जाने के बाद अंततः जिला पुलिस अधीक्षक तरूण नायक को ही सड़क पर उतरना पड़ा। शुक्रवार की शाम कोतवाली में उस समय हड़कंप मच गया जब पुलिस अधीक्षक तरूण नायक ने स्वयं ही दो पहिया वाहनों को रोकना आरंभ कर दिया।

दरअसल, सर्वोच्च न्यायालय के द्वारा सड़क दुर्घटनाओं में दो पहिया वाहन चालकों की मौतों की संख्या में हो रही विस्फोटक बढ़ोत्तरी के बाद राज्यों को दो पहिया वाहन चालकों को वाहन चलाते समय हेल्मेट अनिवार्य करने की बात कही गयी थी। इसके बाद प्रदेश उच्च न्यायालय के द्वारा भी इस मामले में राज्य शासन को दिशा – निर्देश जारी किये गये थे।

पुलिस मुख्यालय के द्वारा भी दो पहिया वाहन चालकों को हेल्मेट अनिवार्य करने, हेल्मेट के लिये सतत चेकिंग अभियान चलाने के निर्देश मैदानी अफसरों को दिये गये थे। इस मामले में जिला पुलिस अधीक्षक तरूण नायक के द्वारा हाल ही में हेल्मेट चेकिंग अभियान का आगाज किया गया था।

बहरहाल, शुक्रवार को शाम लगभग सात बजे जिला पुलिस अधीक्षक तरूण नायक को कोतवाली के सामने सड़क पर स्टॉपर लगवाते देख लोग चौंक गये। चूंकि पुलिस अधीक्षक कुछ माह पूर्व ही पदस्थ हुए हैं और वे यूनिफॉर्म में नहीं थे, अतः कम ही लोग उन्हें पहचान पाये।

बताया जाता है कि पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर यातायात प्रभारी कमलेश चौरिया ने स्वयं ही चालान काटने की कमान सम्हाली। सबसे पहले नगर पालिका से बस स्टैण्ड जाने वाले मार्ग पर वाहनों को रोकना आरंभ किया गया। देखते ही देखते कोतवाली के अंदर दो पहिया वाहनों का रेला दिखायी देने लगा। लोग लाईन लगाकर चालान कटवाते देखे गये।

इसके साथ ही बताया जाता है कि इसके बाद पुलिस अधीक्षक तरूण नायक ने बस स्टैण्ड से नगर पालिका जाने वाले मार्ग पर स्टॉपर रखवाकर वहाँ भी दो पहिया वाहनों की चेकिंग आरंभ की। पुलिस अधीक्षक तरूण नायक ने इसी बीच रक्षित आरक्षी केंद्र से अतिरिक्त पुलिस बल भी बुलवा लिया ताकि वाहनों को रोकने में कोतवाली पुलिस और यातायात पुलिस को मदद मिल सके।

बताया जाता है कि यहाँ व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के बाद उन्होंनेे नगर पालिका की ओर रूख किया और नेहरू रोड से बिना हेल्मेट पहनकर आने-जाने वाले दो पहिया वाहनों को रोकने की कार्यवाही को अंजाम दिया। इस दौरान कुछ पुलिस कर्मियों को भी उनके द्वारा पकड़ा गया और उन्हें भी चालान बनवाने भेजा गया।

हेल्मेट लगायें

इस दौरान पुलिस अधीक्षक तरूण नायक एवं उनके अधीनस्थ स्टॉफ के द्वारा जिन वाहनों को रोका जा रहा था उन्हें चालान बनवाने के साथ ही साथ हेल्मेट लगाने की समझाईश भी दी जाती रही।

लगायी फटकार

तीन अलग – अलग स्थानों पर वाहन रोककर चालानी कार्यवाही करने के दौरान रसीद कट्टे की कमी जब महसूस हुई तो कोतवाली से रसीद कट्टा बुलवाया गया। रसीद कट्टा आने मेें जब देरी हुई तो पुलिस अधीक्षक स्वयं ही कोतवाली के अंदर पहुँचे और उन्होंने रसीद ढूंढने में हो रही देरी को लेकर संबंधित पुलिस कर्मियों को फटकार भी लगायी।



1 Views

Related News

  (शरद खरे) सिवनी जिले में अब तक बेलगाम अफसरशाही, बाबुओं की लालफीताशाही और चुने हुए प्रतिनिधियों की अनदेखी किस.
  मानक आधार पर नहीं बने शहर के गति अवरोधक (अय्यूब कुरैशी) सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय सहित जिले भर में.
  धड़ल्ले से धूम्रपान, तीन सालों में एक भी कार्यवाही नहीं (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। रूपहले पर्दे के मशहूर अदाकार.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सर्दी का मौसम आरंभ होते ही हृदय और लकवा के मरीजों की दिक्कतें बढ़ने लगती.
  दिल्ली के पहलवान कुलदीप ने जीता खिताब (फैयाज खान) छपारा (साई)। बैनगंगा के तट पर बसे छपारा नगर में.
  (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। सिर पर टोपी, गले में लाल गमछा, साईकिल पर पर्यावरण के संदेश की तख्ती और.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *