12वीं के बाद कर सकते है ये भी कोर्स

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। मध्य प्रदेशी बोर्ड के रिजल्ट घोषित होने के साथ ही एजुकेशनल संस्थानों में एडमिशन प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है। ऐसे में कई स्टूडेंट्स अभी इस सोच में है कि बाहरवीं के बाद कौन से कोर्स किया जाये, जिससे उनके भविष्य का आधार तय हो सके।

इंजीनियरिंग, मेडिकल के अलावा भी कई ऐसे ऑफबिट कोर्स हैं जिसकी इस समय काफी डिमांड है। यह ऐसे कोर्स हैं जिसे करके आप सफलता की मंजिल को आसानी से प्राप्त कर सकते है। अभी तक इन कोर्सों के प्रति युवाओं का रुझान काफी कम देखा जा रहा है, लेकिन आने वाले समय में मार्केट में इसकी डिमांड बढ़ने वाली है।

मरीन इंजीनियरिंग

मरीन बायॉलजी, ओशनोग्राफी और ओशन इंजीनियरिंग में मरीन साईंस के अंतर्गत काम करने की अधिक संभावनाएं रहती हैं। पढ़ाई के दौरान स्टूडेंट्स को समुद्री जीवों, वनस्पतियों के बारे में बताया जाता है। ओशन इंजीनियरिंग में समुद्र की स्टडी में यूज होने वाले उपकरण बनाने और उनके इस्तेमाल की जानकारी दी जाती है। बीएससी मेरिन बायोलॉजी या फिर बीटेक मेरीन बायोलॉजी का चयन कर सकते हैं।

न्यूक्लियर साईंस

न्यूक्लियर साईंस की फील्ड में नौकरी और रिसर्च की संभावनाएं हैं। इसमें ऊर्जा का क्षेत्र अलग है, वहीं न्यूक्लियर रिएक्टर डिजाईन, सेफ्टी जैसे कई सब्जेक्ट इससे जुड़े रहते हैं। बाहरवी के बाद आप आवेदन कर सकते हैं। इसमें बीटेक या बीएसएसी इन न्यूक्लियर साईंस होना जरूरी है।

कार्टाेग्राफर

कार्टाेग्राफर साइंटिफिकल, टेक्नॉलजिकल और ज्योग्रॉफिकल इन्फर्मेशन को डायग्राम, चार्ट, स्प्रेडशीट और मैप के रूप में पेश करता है। इसमें डिजिटल मैपिंग और ज्योग्रॉफिकल इंफर्मेशन सिस्टम (जीआईएस) सबसे ज्यादा काम में आता है। कार्टाेग्राफर बनने के लिये बैचलर ऑफ कार्टाेग्राफी करना होता है। अर्थ साईंस और अन्य फिजिकल साईंस ग्रैजुएट स्टूडेंट्स भी इस क्षेत्र में कॅरियर बना सकते हैं।

डिजिटल फॉरेंसिक एक्सपर्ट

इस समय साईबर क्राईम के मामले दिनों दिन बढ़ रहे हैं। ऐसे में कंप्यूटर फॉरेंसिक की फील्ड में काफी संभावनाएं बढ़ी हैं। कंप्यूटर फॉरेंसिक एक्सपर्ट को साईबर पुलिस, साईबर इंवेस्टिगेटर या डिजिटल डिटेक्टिव भी कहा जाता है। इन्हें डिजिटल सबूत जुटाने की ट्रेनिंग दी जाती है। यह फील्ड काफी रोचक मानी जाती है। इस फील्ड में सरकारी और प्राईवेट दोनों जगह जॉब के अच्छे ऑप्शन हैं।

फोटोनिक्स

मेडिकल फील्ड हो या फिर कम्युनिकेशन टेक्नॉलजी सभी जगह फोटोनिक्स एक्सपर्ट की डिमांड है। मेडिकल में लेजर सर्जरी और ऑपरेशन में इस्तेमाल होने वाले उपकरण बनाने में फोटोनिक्स एक्सपर्ट की अहम भूमिका होती है। इन सब-फील्ड में फोटॉन्स का इस्तेमाल कर नयी टेक्नॉलाजी विकसित की जाती है। इस टेक्नॉलाजी का इस्तेमाल लेजर सर्जरी, फोटोग्राफी, रोबोट को आँखें देने आदि में होता है।

न्युट्रिशनिस्ट

न्युट्रिशन एक्सपर्ट की आवश्यकता गाँव से लेकर कॉर्पाेरेट वर्ल्ड और फूड रिसर्च सेंटर तक में है। जीवनशैली और खान-पान की आदतों में बदलाव आने से न्युट्रिशन साईंस में कॅरियर के अवसर बढ़े हैं। आहार और पोषण से जुड़े एक्सपर्ट लोगों को उम्र, सेक्स, शारीरिक कार्यक्षमता और विभिन्न प्रकार की बीमारियों के अनुसार खान-पान की सलाह देता है। न्युट्रिशनिस्ट बनन के लिये आपको न्युट्रिशन या फूड साईंस में बैचलर डिग्री लेनी होगी।



29 Views.

Related News

(शरद खरे) शायद ही कोई ऐसा दिन होता हो जब सिवनी में सड़क दुर्घटना में घायल या मरने वालों की.
स्वास्थ्य विभाग के रंगारंग बसंत पंचमी कार्यक्रम में टूटीं सारी मर्यादाएं! (ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। जिला चिकित्सालय परिसर में निर्माणाधीन.
(ब्यूरो कार्यालय) सिवनी (साई)। यूरोप के आधा दर्जन से ज्यादा देशों में पढ़ी जाने वाली स्ट्रेस टू हेप्पीनेस नामक किताब.
मामला मोहगाँव खवासा सड़क निर्माण का, शायद ही कुछ आऊट सोर्स करे दिलीप बिल्डकॉन (अखिलेश दुबे) सिवनी (साई)। अटल बिहारी.
(महेश रावलानी) सिवनी (साई)। मौसम में लगातार परिवर्तन जारी हैं। बुधवार से शहर में सर्दी का सितम तेज हो सकता.
40 एकड़ में बनेगा क्रिकेट का विशाल स्टेडियम बींझावाड़ा में (प्रदीप खुट्टू श्रीवास) सिवनी (साई)। सिवनी में वर्षों से क्रिकेट.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *