लोकतंत्र की हत्या कर रही सरकार

 

 

विद्यार्थियों ने दिया प्राचार्य को ज्ञापन

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में छात्र – छात्राओं द्वारा प्राचार्य को ज्ञापन दिया गया। इसमें कहा गया कि कुछ दिन पूर्व शासन का आदेश आया है जिसमें महाविद्यालय कैम्पस में किसी भी प्रकार के आंदोलन, ज्ञापन, प्रदर्शन धरना व नारेबाजी को बंद करने का फतवा जारी किया गया है।

सौंपे गये ज्ञापन में कहा गया है कि यह निर्णय सरकार की कायरता को दर्शाता है, छात्रों के नेत्तृत्व को खत्म करने का काम सरकार ने किया है। सभी छात्र – छात्राओं ने सामूहिक राष्ट्रगान करके ऐसे लोकतंत्र के विपरीत निर्णय का विरोध किया एवं इसके विरोध में प्राचार्य को ज्ञापन दिया कि इस आदेश को शासन जल्द से जल्द वापस ले। छात्र – छात्राओं की समस्याओं एवं महाविद्यालय की अव्यवस्थाओं को लेकर भी यह ज्ञापन सौंपा गया।

इस दौरान देवी सिंह, अंकित सिंह ठाकुर, आयुष चौहान, शैली प्रजापति, बादल बेन, लीना शुक्ला, वेदान्त विश्वकर्मा, कवि प्रजापति, नागेंद्र बघेल एवं महाविद्यालय के अनेक छात्र – छात्राएं उपस्थित रहे।