अपनायें ये आसान उपाय, नहीं होगी सर्दी

 

 

ठण्डी हो या गर्मी, बरसात हो या फिर बसंत यदि सर्दी – जुकाम हो जाये तो सब बेकार लगता है। सर्दी के कारण कई बीमारियों के बढ़ने काीाी खतरा बढ़ जाता है। खासकर ठण्ड के मौसम में यदि सर्दी हो जाये तो फिर करेला में नीम चढ़ा जैसी वाली बात हो जाती है।

यदि आप भी ऐसी समस्या से बार-बार परेशान हैं तो 05 आसान उपाय अपनाकर आप हमेशा के लिये सर्दी से मुक्ति पा सकते हैं। आयुर्वेद के जानकारों का कहना है कि ये ऐसे नुस्खे हैं जिससे न सिर्फ सर्दी बल्कि हमेशा के लिये सर्दी जुकाम की झंझट से ये आपको मुक्ति दिलायेंगे।

लें गर्म व तरल पदार्थ : सर्दी में गर्म और तरल आहार बड़ा ही लाभकारी होता है। गर्म तरल पदार्थ पीने से बलगम अधिक स्वतंत्र रूप से बहता है और आप जल्द ही बेहतर महसूस करते हैं। इससे नाक, खांसी, छींक, गले में खराश और थकान से भी राहत मिलती है। शराब से बचें। यह बंद नाक और सूजन को बद्तर बनाता है।

गर्म पानी पीते रहें : सर्दी में गर्म पानी भी राहत प्रदान करता है। आप सर्दी होने पर गर्म पानी पीतें रहें। इसके साथ ही भाप लें इससे आपके नासिका मार्ग को नम कर देता है ताकि उनमें कम चिड़चिड़ाहट हो और आराम की वजह से आपको सर्दी के लक्षणों को कम करने में मदद मिले। भाप के लिये अपने सिर को एक कॉटन के कपड़े से ढंक लें। इससे साईनस खुलता है और सिरदर्द में राहत मिलती है।

तेल का करें प्रयोग : आयुर्वेद के अनुसार सर्दी, जुकाम और खांसी में तेल काफी राहत प्रदान करता है। आप 10 ग्राम गुड़ में सरसों का तेल मिलाकर गोली का सेवन करते हैं तो काफी राहत मिलती है। तेल कीटाणुओं और जीवाणुओं को नष्ट करता है। नारियल का तेल भी लाभप्रद है।

नाक को करते रहें बाहर : आप जब ये नुस्खे अपना रहे हों तो नाक को साफ करते रहें। अगर ठण्ड लगी है तो अपनी नाक को झटका देना महत्वपूर्ण है ताकि साईनस खुला रहे, विस्फोटक की तरह झटका नहीं देना है, इससे कान पर जोर पड़ता है। सर्दी में लहसुन का सेवन भी कारगर सिद्ध होता है।

हल्दी, दूध-हल्दी, गुड़ का करें सेवन : सर्दी को ज्यादा दिनों तक पाल कर न रखें। रात में सोने से पहले हल्दी डालकर उबला दूध का सेवन करें। यह संभव नहीं है तो फिर गुड़ और हल्दी की गोली रोज एक सोते समय खा लें, इससे काफी राहत मिलती है। अधिक समस्या होने पर डॉक्टर को अवश्य दिखायें।

(साई फीचर्स)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *