चुनाव की हर गतिविधि पर आयोग की निगाह

 

 

 

 

दो दिन होगी समीक्षा

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव की गतिविधियों पर निगाह रखने के लिए अब हर मंगलवार और शुक्रवार को समीक्षा कराएगा। समीक्षा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी करेंगे। इसका सिलसिला दो अप्रैल से शुरू होगा। इसमें चुनाव से जुड़े सभी विषयों पर मैदानी फीडबैक लिया जाएगा। उधर, प्रदेश में दूसरे चरण की सीटों की तैयारियों की समीक्षा सागर में तीन अप्रैल को होगी।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अधिकारियों ने बताया कि चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की लगातार समीक्षा करने के निर्देश दिए हैं। इसके मद्देनजर हर मंगलवार और शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए समीक्षा करने का फैसला किया गया है।

समीक्षा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय दो अप्रैल से शुरू करेगा जो 21 मई तक चलेगी। जिलों से इसमें उप जिला निर्वाचन अधिकारी हिस्सा लेंगे। यदि कमिश्नर, कलेक्टर, आईजी या पुलिस अधीक्षकों को बैठक में बुलाने की जरूरत होगी तो इसकी सूचना अलग से दी जाएगी।

उधर, प्रदेश की सात लोकसभा सीटों पर चुनाव कराने की तैयारियों की समीक्षा सागर में तीन अप्रैल को की जाएगी। इसमें टीकमगढ़, दमोह, खजुराहो, सतना, रीवा, होशंगाबाद और बैतूल सीट शामिल हैं। इन सीटों के लिए नामांकन का सिलसिला 10 अप्रैल को अधिसूचना जारी होने के साथ शुरू हो जाएगा जो 18 अप्रैल तक चलेगा। नामांकनों की जांच 20 अप्रैल को होगी और 22 तक नाम वापस लिए जा सकते हैं।

मतदान छह मई को होगा। इसके लिए मैदानी तैयारियों की समीक्षा मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सागर में जाकर करेंगे। वहां संबंधित कमिश्नर, आईजी, कलेक्टर और पुलिस अधीक्षकों के साथ मतदाता सूची, मतदान केंद्र, चुनाव ड्यूटी के लिए कर्मचारियों की पहचान, कानून व्यवस्था, गैर जमानती वारंट की तामीली, संदिग्धों से बॉण्ड भरवाना, ईवीएम और वीवीपैट की पहले दौर की जांच से लेकर अन्य मुद्दों पर फीडबैक लिया जाएगा।