चाकू चला, जरायमपेशा लोग उठाने लगे सिर!

 

 

कोतवाली पुलिस नहीं कर पा रही अपराधियों में कानून का भय निर्मित!

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। लोकसभा चुनावों के दौरान पुलिस पूरी तरह एक्शन मोड में है। इसके बाद भी अगर दिन दहाड़े बारापत्थर जैसे पॉश क्षेत्र में चाकूबाजी की घटना हो जाये तो इसे क्या माना जायेगा! मंगलवार को सुबह लगभग साढ़े नौ बजे एक युवक को दूसरे युवक के द्वारा चाकू मारकर घायल कर दिया गया।

पुलिस की कथित अनदेखी का ही परिणाम कहा जायेगा कि बारापत्थर जैसा शांत क्षेत्र पिछले कुछ दिनों से अशांत होता जा रहा है। क्षेत्र में हवाई फायर की बात सामने आती है तो दुकानों में तोड़फोड़ यहाँ आम बात हो गयी है। इतना ही नहीं हाल ही में लगभग डेढ़ दर्जन से ज्यादा चार पहिया वाहनों के काँच फोड़े जाने की घटना अभी शांत नहीं हुई कि क्षेत्र में चाकूबाजी की घटना से सनसनी फैल गयी।

पुलिस सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि मंगलवार को सुबह लगभग साढ़े नौ बजे एक सैलून के सामने एक युवक ने दो नाबालिगों के साथ आकर एक अन्य युवक पर चाकू से हमला कर दिया गया। घटना के पीछे प्रेम प्रसंग बताया जा रहा है।

पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार सिवनी के पीडब्ल्यूडी कॉलोनी निवासी अनिकेत (18) पिता रवि शंकर सराठे का विवाद किसी अन्य युवक से चला आ रहा था। बताया जाता है कि उसी विवाद को लेकर सोमवार 01 अप्रैल की रात में अनिकेत की उक्त युवक से बहस भी हुई जिसके बाद मामला जैसे – तैसे शांत हो गया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि दोनों युवकांे के इस विवाद की जड़ में कोई प्रेम प्रसंग है जिसे लेकर आरोपी युवक एक बार फिर बाईक पर सवार होकर, मंगलवार 02 अप्रैल की सुबह लगभग साढ़े नौ बजे, अपने दो नाबालिग साथियों के साथ बाहुबली चौक पर महात्मा गाँधी स्कूल के समीप जा पहुँचा जहाँ अनिकेत खड़ा हुआ था। बताया जाता है कि यहाँ दोनों नाबालिगों ने अनिकेत के हाथ पकड़ लिया और उसी दौरान आरोपी ने अनिकेत पर चाकू से प्रहार करते हुए उसे घायल कर दिया।

उक्त घटना को अंजाम देने के बाद आरोपी युवक अपने दोनों नाबालिग साथियों के साथ मौके से भाग निकला। वहीं घायल हुए अनिकेत को आनन – फानन में जिला चिकित्सालय पहुँचाया गया जहाँ चिकित्सक ने अनिकेत की गंभीर अवस्था को देखते हुए उसे रेफर कर दिया। पुलिस सूत्रों ने जानकारी देते हुए बताया कि उक्त घटना में शामिल दोनों नाबालिगों को पुलिस ने धर दबोचा है जिनसे पूछताछ की जा रही है।

हो चुका है हवाई फायर : सूत्रों की मानें तो घटना स्थल से महज पचास मीटर की दूरी पर दिसंबर माह में अवैध कट्टे से हवाई फायर की बात भी समाने आयी थी। पुलिस के द्वारा हवाई फायर करने वाले को धर दबोचा, पर इसके बाद इसी जगह कुछ दिन पूर्व नशे में धुत्त कुछ युवकों के द्वारा एक दुकान में तोड़फोड़ भी की गयी थी।

सूचना संकलन को लगा जंग : सूत्रों के अनुसार कोतवाली पुलिस सहित हर पुलिस थाने का अपना सूचना संकलन होता है। इसके जरिये शहर या क्षेत्र में होने वाली गतिविधियों से अधिकारी वाकिफ रहते हैं। इसी आधार पर पुलिस के द्वारा कई बार छापामार कार्यवाही भी की जाती है। इस तरह की एक के बाद एक घटनाओं से यही प्रतीत हो रहा है कि कोतवाली पुलिस का सूचना संकलन बहुत ही कमजोर हो गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *